केन-बेतवा लिंक परियोजना के MOU का पूर्व सीएम कमलनाथ ने किया स्वागत, जानकारी सार्वजनिक किए जाने की रखी मांग | Former CM Kamal Nath welcomed MOU of Ken-Betwa Link Project Demand for information to be made public

केन-बेतवा लिंक परियोजना के MOU का पूर्व सीएम कमलनाथ ने किया स्वागत, जानकारी सार्वजनिक किए जाने की रखी मांग

केन-बेतवा लिंक परियोजना के MOU का पूर्व सीएम कमलनाथ ने किया स्वागत, जानकारी सार्वजनिक किए जाने की रखी मांग

:   Modified Date:  November 29, 2022 / 08:01 PM IST, Published Date : March 22, 2021/10:09 am IST

भोपाल। पूर्व सीएम कमलनाथ ने केन-बेतवा लिंक प्रोजेक्ट को लेकर ट्वीट किया है। पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा कि वर्षों से लंबित केन-बेतवा लिंक परियोजना का MOU हस्ताक्षर होना स्वागत योग्य है। इस परियोजना से बुंदेलखंड क्षेत्र का विकास होगा।
<blockquote
class="twitter-tweet"><p lang="hi" dir="ltr">वर्षों से लंबित
केन-बेतवा लिंक परियोजना का एमओयू हस्ताक्षर होना स्वागत योग्य , इस
परियोजना से बुंदेलखंड क्षेत्र का विकास होगा लेकिन केन्द्र की मोदी सरकार
के दबाव में शिवराज सरकार ने अनुबंध की शर्तों के विपरीत कई मुद्दों पर
झुककर प्रदेश के हितो के साथ समझौता किया है।</p>&mdash; Office
Of Kamal Nath (@OfficeOfKNath) <a
href="https://twitter.com/OfficeOfKNath/status/1373923021778345985?ref_src=twsrc%5Etfw">March
22, 2021</a></blockquote>
<script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js"
charset="utf-8"></script>

ये भी पढ़ें : कई जिलों में हो सकती है बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

वहीं पूर्व सीएम कमलनाथ ने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र की मोदी सरकार के दबाव में शिवराज सरकार ने अनुबंध की शर्तों के विपरीत कई मुद्दों पर झुककर प्रदेश के हितों के साथ समझौता किया है। राज्य सरकार ने प्रदेश हित के मुद्दों की अनदेखी की है।

ये भी पढ़ें : सोशल मीडिया में ट्रेंड कर रहा जनता कर्फ्यू, PM मोदी…

पूर्व सीएम कमलनाथ ने प्रदेश सरकार से मांग करते हुए कहा कि केन-बेतवा लिंक परियोजना की जानकारी सार्वजनिक कर  प्रदेश की जनता को वास्तविकता बताए।

<blockquote
class="twitter-tweet"><p lang="hi" dir="ltr">इस योजना की
शुरुआत वर्ष 2005 से हुई थी , 2008 में इसका खाका तैयार हुआ था , वर्षों से
यह परियोजना लंबित थी , वर्ष 2012 में सुप्रीम कोर्ट ने भी इस परियोजना के
अमल को लेकर केंद्र सरकार को निर्देश दिए थे।</p>&mdash; Office
Of Kamal Nath (@OfficeOfKNath) <a
href="https://twitter.com/OfficeOfKNath/status/1373923118981390341?ref_src=twsrc%5Etfw">March
22, 2021</a></blockquote>
<script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js"
charset="utf-8"></script>

<blockquote
class="twitter-tweet"><p lang="hi" dir="ltr">इस परियोजना में
तय अनुबंध की शर्तों के विपरीत मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में पानी के
बंटवारे लेकर मुख्य विवाद था।<br>मध्यप्रदेश रबी सीजन के लिए 
700 एमसीएम पानी उत्तप्रदेश को देने पर सहमत था लेकिन उत्तरप्रदेश सरकार
द्वारा अधिक मात्रा में पानी देने का दबाव बनाया जा रहा
था,</p>&mdash; Office Of Kamal Nath (@OfficeOfKNath) <a
href="https://twitter.com/OfficeOfKNath/status/1373923211449049093?ref_src=twsrc%5Etfw">March
22, 2021</a></blockquote>
<script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js"
charset="utf-8"></script>

<blockquote
class="twitter-tweet"><p lang="hi" dir="ltr">जबकि इस परियोजना
से हमारे प्रदेश के कई गाँव , जंगल डूब रहे है , डूबत क्षेत्र के कई गाँवो
का विस्थापन हमें करना पड़ेगा ,पन्ना टाइगर रिजर्व क्षेत्र की 5500
हेक्टेयर जमीन सहित करीब 9 हज़ार हेक्टेयर जमीन डूब में आ रही है , हमारा
बड़ा क्षेत्र डूब रहा है ,कुछ पर्यावरण आपत्तियाँ भी
थी,</p>&mdash; Office Of Kamal Nath (@OfficeOfKNath) <a
href="https://twitter.com/OfficeOfKNath/status/1373923294458486784?ref_src=twsrc%5Etfw">March
22, 2021</a></blockquote>
<script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js"
charset="utf-8"></script>

<blockquote
class="twitter-tweet"><p lang="hi" dir="ltr">इस परियोजना से
उत्तरप्रदेश को मध्यप्रदेश के मुक़ाबले अधिक लाभ होना है , इसलिये वर्षों
से कई मुद्दों पर हमारी आपत्ति थी <br>लेकिन शिवराज सरकार ने मोदी
सरकार के दबाव में कई मुद्दों पर झुककर प्रदेश के हितो के साथ समझौता किया
है, प्रदेश हित के मुद्दों की अनदेखी की है।</p>&mdash; Office
Of Kamal Nath (@OfficeOfKNath) <a
href="https://twitter.com/OfficeOfKNath/status/1373923359730196485?ref_src=twsrc%5Etfw">March
22, 2021</a></blockquote>
<script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js"
charset="utf-8"></script>

<blockquote
class="twitter-tweet"><p lang="hi" dir="ltr">शिवराज सरकार को
इस परियोजना को लेकर प्रारंभ में तय अनुबंधों की शर्तों , विवाद के प्रमुख
बिंदुओ , इस परियोजना में मध्यप्रदेश के हितो की अनदेखी , नुक़सान पर ली
गयी आपत्तियों व वर्तमान एमओयू में तय शर्तों की जानकारी सार्वजनिक कर
प्रदेश की जनता को वास्तविकता बताना चाहिये।</p>&mdash; Office
Of Kamal Nath (@OfficeOfKNath) <a
href="https://twitter.com/OfficeOfKNath/status/1373923396531064837?ref_src=twsrc%5Etfw">March
22, 2021</a></blockquote>
<script async src="https://platform.twitter.com/widgets.js"
charset="utf-8"></script>

 
Flowers