10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा के लिए 10 हजार देनी होगी लेट फीस, विवादों में घिरा शिक्षा विभाग का तुगलकी फरमान

10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा के लिए 10 हजार देनी होगी लेट फीस, विवादों में घिरा शिक्षा विभाग का तुगलकी फरमान

: , March 28, 2021 / 07:10 PM IST

जबलपुर। मध्यप्रदेश के स्कूल शिक्षा विभाग का एक आदेश विवादों में है.. इस सरकारी आदेश की तुलना तुगलकी फरमान से की जा रही है… दरअसल माध्यमिक शिक्षा मण्डल ने दसवीं और बारहवीं बोर्ड परीक्षा का फॉर्म भरने की लेट फीस 10 हजार रुपए तक बढ़ा दी है… छात्र-छात्राओं से लेट फीस के नाम पर 10 हजार रुपयों की लेट फीस की वसूली का विरोध हो रहा है।

ये भी पढ़ें: 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा के लिए हाई और हायर सेकण्डरी स्कूल ही होंगे परीक्षा …

इधर जबलपुर में स्कूल शिक्षा विभाग के आला अधिकारी इसे शासन का निर्णय बताकर कुछ भी बोलने से बच रहे हैं… दरअसल एमपी बोर्ड की दसवीं और बारहवीं कक्षाओं के लिए परीक्षा फॉर्म भरे जा रहे हैं.. इसमें एक्ज़ाम फीस तो करीब 1 हजार रुपए तय की गई है लेकिन लेट फीस 10 हजार रुपए तक बढ़ा दी गई है।

ये भी पढ़ें: 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा रिजल्ट में नहीं जोड़े जाएंगे खेल कूद के ब…

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड द्वारा जारी आदेश में साफ लिखा गया है कि 20 फरवरी तक परीक्षा फॉर्म भरने वालों से 2 हजार रुपए, 10 मार्च तक परीक्षा फॉर्म भरने वालों से 5 हजार और 29 मार्च तक फॉर्म भरने वालों से 10 हजार रुपयों की लेट फीस वसूली जाएगी।

ये भी पढ़ें: NYKS Volunteer Recruitment 2021: यहां 13 हजार से अधिक पदों पर निकली…