Big bet of BPCL going to be private, included this company in itself

प्राइवेट होने जा रही बीपीसीएल का बड़ा दांव, इस कंपनी को किया अपने में शामिल

BPCL latest news: Big bet of BPCL going to be private, भारत पेट्रोलियम ने सहायक रिफाइनरी भारत ओमान रिफाइनरीज लिमिटेड को अपने में मिलाने का ऐलान

Edited By: , July 3, 2022 / 03:57 PM IST

दिल्ली। BPCL latest news: भारत पेट्रोलियम ने सहायक रिफाइनरी भारत ओमान रिफाइनरीज लिमिटेड को अपने में मिलाने का ऐलान किया है। उम्मीद जताई जा रही है कि इस मर्जर से दोनों कंपनियों को काफी फायदा मिलेगा।

Read More: IAS टीना डाबी पति के साथ गोवा में कर रही एंज्वॉय, इंस्टाग्राम पर शेयर की तस्वीरें

दुनियाभर में कच्चे तेल की कीमतों में आए उछाल के बीच देश की दूसरी सबसे बड़ी ऑयल मार्केटिंग कंपनी भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड ने ये कदम उठाया है। प्राइवेट होने जा रही इस कंपनी ने मध्य प्रदेश के बीना में स्थित अपनी सहायक रिफाइनरी भारत ओमान रिफाइनरीज लिमिटेड को अपने साथ मिलाने की घोषणा की है। ऐसी उम्मीद है कि इस मर्जर से दोनों कंपनियों को पारस्परिक रूप से लाभ मिलेगा। बीपीसीएल और उसके समूह की कंपनियों की तेल और गैस उद्योग की अपस्ट्रीम, रिफाइनिंग और डाउनस्ट्रीम चेन में मजबूत उपस्थिति है। भारत ओमान रिफाइनरीज पाइपलाइनों के नेटवर्क के माध्यम से उत्तरी और मध्य भारत में प्रोडक्ट सेफ्टी और रसद पहुंचाती है।

Read More: iPhone की कीमत को लेकर हुआ बड़ा खुलासा, लीक हुई फीचर्स डिटेल...

बीपीसीएल का कहना है कि इस मर्जर से उसे रिफाइनरीज के लिए कच्चे तेल की खरीदी में फायदा होगा। साथ ही इससे रिफाइनरीज के लिए प्रोडक्शन प्लानिंग और प्रॉडक्ट मिक्स में भी क्षमता के अधिकतम इस्तेमाल में मदद मिलेगी। बता दें कि BORL अभी बीपीसीएल की फुली ऑन्ड सब्सिडियरी है। यह मध्य प्रदेश के बीना में एक रिफाइनरी ऑपरेट करती है जिसकी सालाना क्षमता 78 लाख टन है। बीपीसीएन ने इसमें ओमान ऑयल की हिस्सेदारी खरीद ली थी। बीपीसीएल की मुंबई में 1.2 करोड़ टन और केरल के कोच्चि में 1.55 करोड़ टन क्षमता की रिफाइनरीज हैं।

Read More: कल से 15 दिनों तक बंद रहेंगे सभी स्कूल, तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण के चलते जिला प्रशासन ने लिया बड़ा फैसला

बीपीसीएल के सीएमडी अरुण कुमार सिंह ने कहा कि बीना रिफाइनरी के मर्जर के साथ हम तेजी से बदलते ऊर्जा बाजार में अधिक प्रभावी और लाभप्रद रूप से प्रतिस्पर्धा करने की क्षमताओं का निर्माण करेंगे। बीना रिफाइनरी के पास अपने उत्पादों को खपाने के लिए बीपीसीएल का मार्केटिंग नेटवर्क अबाध रूप से उपलब्ध होगा। चूंकि ऊर्जा परिदृश्य में बड़े पैमाने पर बदलाव हो रहे हैं। ऐसे में बीपीसीएल ने ऊर्जा क्षेत्र में अपना विस्तार करने और भविष्य के विकास और स्थिरता के लिए विविधता लाने के लिए निश्चित योजनाएं तैयार की हैं।

Read More: खेत में सुलगती दिखी आदिवासी महिला, गांव के दबंगों ने महिला को किया आग के हवाले 

 

बीना रिफाइनरी एक बहुपयोगी रिफाइनरी है जो 47 प्रकार के क्रूड को रिफाइन करती है। सरकार बीपीसीएल का निजीकरण करना चाहती है लेकिन फिलहाल इस पर बात नहीं बन पा रही है। बीपीसीएल के मार्केटिंग इन्फ्रास्ट्रक्चर में प्रतिष्ठान, डिपो, रिटेल आउटलेट, विमानन सेवा स्टेशन और एलपीजी वितरक का नेटवर्क शामिल है। इसके वितरण नेटवर्क में 20,000 से अधिक रिटेल आउटलेट, 6,100 से अधिक एलपीजी डिस्ट्रीब्यूटरशिप, 733 ल्यूब डिस्ट्रीब्यूटरशिप, 123 पीओएल स्टोरेज लोकेशन, 53 एलपीजी बॉटलिंग प्लांट, 60 एविएशन सर्विस स्टेशन, 3 ल्यूब ब्लेंडिंग प्लांट और 4 क्रॉस-कंट्री पाइपलाइन शामिल हैं।

Read More: फिल्म: अक्षय कुमार और इमरान हाशमी की फिल्म सेल्फी की शूटिंग 90% हुई पूरी, दिसम्बर 2022 में होगी रिलीज

बीपीसीएल के सीएमडी का कहना है कि उन्हें बीपीसीएल के समर्थन कार्यों, व्यावसायिक प्रक्रियाओं और टैलेंट पूल का भी लाभ मिलेगा। मुंबई, कोच्चि और बीना में भारत पेट्रोलियम की रिफाइनरियों की संयुक्त शोधन क्षमता लगभग 35.3 एमएमटीपीए है। बीना रिफाइनरी के पास उपलब्ध बड़े भूखंड के लिए कई नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाओं, 1.2 एमएमटीपीए एथिलीन क्रैकर यूनिट और पेट्रोकेमिकल बुनियादी ढांचे की परिकल्पना की गई है। विलय के बाद अधिक लागत वाली इन परियोजनाओं की तेजी से समाप्ति की वित्तीय प्रक्रियाएं पूरी हो सकेंगी।

 

 

#HarGharTiranga