सीबीआई ने विवेकानंद रेड्डी हत्या मामले में पूछताछ के लिए कडपा के सांसद अविनाश रेड्डी को तलब किया |

सीबीआई ने विवेकानंद रेड्डी हत्या मामले में पूछताछ के लिए कडपा के सांसद अविनाश रेड्डी को तलब किया

सीबीआई ने विवेकानंद रेड्डी हत्या मामले में पूछताछ के लिए कडपा के सांसद अविनाश रेड्डी को तलब किया

: , January 25, 2023 / 08:05 PM IST

नयी दिल्ली, 25 जनवरी (भाषा) केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने आंध्र प्रदेश के दिवंगत मुख्यमंत्री वाई एस राजशेखर रेड्डी के छोटे भाई विवेकानंद रेड्डी की 2019 में हुई हत्या के मामले में कडपा से लोकसभा सदस्य अविनाश रेड्डी को 28 जनवरी को पूछताछ के लिए तलब किया है। अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी।

अधिकारियों ने बताया कि सीबीआई ने सांसद को मंगलवार को तलब किया था लेकिन उन्होंने और समय मांगा जिसके बाद एजेंसी ने उन्हें 28 जनवरी को तलब किया है।

सीबीआई के आरोप पत्र के अनुसार, विवेकानंद रेड्डी कडपा लोकसभा सीट से अविनाश रेड्डी के बजाय कथित रूप से अपने या वाई एस शर्मिला (मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी की बहन) अथवा वाई एस विजयम्मा (जगन मोहन रेड्डी की मां) के लिए टिकट मांग रहे थे। अविनाश, जगन मोहन रेड्डी के चचेरे भाई हैं।

सीबीआई ने अपने आरोपपत्र में कहा था, ‘‘इसलिए यह संदेह है कि सांसद अविनाश रेड्डी ने उन्हें (विवेकानंद रेड्डी) अपने गुर्गे डी शिव शंकर रेड्डी के जरिए मरवाया, जो सत्तारूढ़ वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के नेता हैं। इस पहलू पर जांच अभी जारी है।’’

सीबीआई ने पिछले साल नवंबर में शंकर रेड्डी को गिरफ्तार किया था और जनवरी में उनके खिलाफ पूरक आरोपपत्र दायर किया था। केंद्रीय एजेंसी ने कहा है कि शंकर ने के गंगाधर रेड्डी को विवेकानंद की हत्या की जिम्मेदारी लेने के लिए 10 करोड़ रुपये की पेशकश की थी।

सीबीआई ने अपराध के सबूत को नष्ट करने और हत्या की बड़ी साजिश में अन्य आरोपियों की भूमिका को उजागर करने के लिए जांच को खुला रखा है। जांच एजेंसी ने मामले में अब तक 248 लोगों को गवाह के रूप में नामित किया है और उनके बयान संलग्न किए हैं। सीबीआई ने 26 अक्टूबर, 2021 को हत्या के मामले में आरोपपत्र दाखिल किया था और इसके बाद 31 जनवरी, 2022 को पूरक आरोपपत्र दाखिल किया गया।

भाषा आशीष माधव

माधव

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)