Govt School Student Marry with japanese Madam

सरकारी स्कूल के लड़के से हुआ ‘मैडम’ को प्यार, बुलाई मम्मी पापा और ले लिए सात फेरे

लड़के ने जापान की गोरी मैम से शादी की है, जो पूरे इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है! Student Marry with Madam

Edited By: , November 29, 2022 / 07:57 PM IST

बस्ती: Student Marry with Madam जिले के एक लड़के ने जापान की गोरी मैम से शादी की है, जो पूरे इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है। बताया जा रहा है कि दोनों ने हिंदू रीति रिवाज से वरमाला पहनाकर सात फेरे लिए हैं। इस शादी में दुल्हन के ही नहीं बल्कि दूल्हे के परिवार वाले भी शामिल हुए और जमकर डांस किए।

Read More: ग्रामीणों ने थानेदार को बनाया दूल्हा, फिर घोड़ी पर बिठाकर पूरे गांव में घुमाया, जानें पूरा मामला

Student Marry with Madam मिली जानकारी के अनुसार अजीत त्रिपाठी की प्रारंभिक शिक्षा और उच्च शिक्षा प्राप्त कर लगभग 8 सालों से जापान टोकियो में हिकारी तुल्सेन कंपनी में साफ्टवेयर इंजीनियर है। दुल्हन मसाको भी टोकियो में ही ऑनलाइन मार्केटिंग मैनेजर के रूप में कार्य करती है। विवाह बंधन में बंधे दोनों दूल्हा-दुल्हन बताते हैं कि दो साल पहले दोनों में दोस्ती हुई जो प्यार में बदल गई। एक दूसरे की व्यवहार कुशलता ने ही दोनों को आकर्षित किया। इंजीनियर अजीत त्रिपाठी से भारतीय संस्कृति के बारे में जानकर मसाको भी काफी प्रभावित हुई। फिर दोनों ने विवाह करने का निर्णय ले लिया।

Read More: शराब से लिए नहीं दिए पैसे, तो स्कूल से लौट रहे छात्र की कर दी बेरहमी से पिटाई, देखें वीडियो 

विवाह बंधन में बंधने के लिए इस जोड़े को करीब एक साल मशक्कत करनी पड़ी। दोनों ने कभी हार नहीं मानी। अजीत को जहां परिवार के सभी सदस्यों के साथ अपनी माता-पिता और परिजनों का दिल जीतना था। वहीं, मसाको को अपने माता शसिको-पिता नोरी फुमी को इस विवाह के लिए राजी करना भी किसी चुनौती से कम नहीं थी। अंत में दोनों ने अपने परिवार को इस विवाह के लिए राजी कर लिया। अजीत के परिवार के लोगों ने भी शादी के लिए रजामंदी दे दी और अजीत के परिवार की इच्छा के अनुसार मसाको का भी परिवार भारतीय संस्कृति के अनुसार हिन्दू रीति-रिवाज से शादी करने को राजी हो गया और अब दोनों परिवार इस रिश्ते से खुश हैं।

Read More: शराब से लिए नहीं दिए पैसे, तो स्कूल से लौट रहे छात्र की कर दी बेरहमी से पिटाई, देखें वीडियो 

बस्ती जिले के दुबौलिया इलाके के डेईडिहा गांव निवासी किसान राजेंद्र त्रिपाठी के बड़े बेटे अजीत त्रिपाठी ने गांव के सरकारी स्कूल से प्राइमरी और हाईस्कूल की परीक्षा पास कर इंटर की पढ़ाई अयोध्या से की। फिर बीटेक की पढ़ाई करने पश्चिम बंगाल दुर्गापुर राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्था चला गया, जहां साल 2008 से 2012 तक 4 साल पढ़ाई करने के बाद 2014 में जापान चला गया। जापान के टोकियो स्थित हिकारी तुल्सेन कम्पनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में नौकरी शुरू की। दो‌ वर्ष पहले नौकरी के दौरान अजीत त्रिपाठी की मुलाकात ऑनलाइन मार्केटिंग मैनेजर के रूप में कार्यरत एक जापानी लड़की से हुई और दोनों की नजदीकियां बढ़ गईं।

 

 

 

देश दुनिया की बड़ी खबरों के लिए यहां करें क्लिक