पतनमतिट्टा लोस सीट : माकपा, भाजपा की कांग्रेस से इस सीट को छीनने की कोशिश |

पतनमतिट्टा लोस सीट : माकपा, भाजपा की कांग्रेस से इस सीट को छीनने की कोशिश

पतनमतिट्टा लोस सीट : माकपा, भाजपा की कांग्रेस से इस सीट को छीनने की कोशिश

:   Modified Date:  March 31, 2024 / 10:46 AM IST, Published Date : March 31, 2024/10:46 am IST

(हैरी एम. पिल्लै)

पतनमतिट्टा (केरल), 31 मार्च (भाषा) केरल में 26 अप्रैल को होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए पतनमतिट्टा लोकसभा क्षेत्र में जबरदस्त सियासी घमासान देखने को मिल रहा है जहां कांग्रेस अपनी पकड़ बनाए रखने का प्रयास कर रही है जबकि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) भी इस अहम दक्षिणी सीट को हासिल करने के लिए आक्रामक प्रचार कर रही हैं।

कांग्रेस ने इस सीट पर एंटो एंटनी को अपना उम्मीदवार बनाया है और वह 2019 के लोकसभा चुनाव के अपने प्रदर्शन को दोहराने का प्रयास कर रही है।

वहीं, भाजपा ने इस सीट से कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री ए के एंटनी के बेटे अनिल के. एंटनी को उतारा है तथा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उनके लिए समर्थन जुटाने के वास्ते 15 मार्च को इस जिले का दौरा किया था।

अनिल के नामांकन से भाजपा का स्थानीय नेतृत्व खुश नहीं है जिसमें उसके नए सदस्य और वरिष्ठ नेता पी सी जॉर्ज भी शामिल हैं जिन्हें इस सीट से उम्मीदवार बनाए जाने की उम्मीद थी। इन सबके बावजूद अनिल को अपनी जीत का भरोसा है।

उन्होंने कहा, ‘‘लोगों ने मुझे बताया है कि यहां से चुनाव लड़ रहे तीन प्रत्याशियों में से मैं सबसे ज्यादा योग्य हूं।’’

सत्तारूढ़ माकपा नीत वाम लोकतांत्रिक मोर्चा (एलडीएफ) ने राज्य के पूर्व वित्त मंत्री टी एम थॉमस इसाक के राज्य की राजनीति में दबदबे और पिछली दो एलडीएफ सरकार में मंत्री के रूप में उनके अनुभव को देखते हुए उन पर दांव लगाया है।

तीनों उम्मीदवार ईसाई समुदाय से संबंध रखते हैं जो जिले की कुल आबादी का करीब 40 फीसदी हैं।

ईसाई समुदाय को दी गयी अहमियत प्रधानमंत्री मोदी के हाल में यहां के कार्यक्रम से भी दिखायी देती है जब उन्होंने वेटिकन में पोप फ्रांसिस के साथ अपनी मुलाकात को याद किया और यमन में इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों द्वारा बंधक बनाए कोट्टायम के एक पादरी को छुड़ाने के लिए अपने सरकार के सफलतापूर्वक प्रयासों का भी उल्लेख किया था।

दूध बेचने वाले एक स्थानीय निवासी राजू ने बताया कि यहां माकपा उम्मीदवार के अधिक पोस्टर और बैनर हैं लेकिन इस निर्वाचन क्षेत्र में मोदी के हाल के दौरे से अनिल एंटनी की संभावनाओं को भी बल मिला है। साथ ही उन्होंने कहा कि एंटो एंटनी के दोबारा जीतने की भी संभावना है।

कांग्रेस नीत संयुक्त लोकतांत्रिक मोर्चा (यूडीएफ) ने 2019 के लोकसभा चुनाव में पतनमतिट्टा से 40,000 से अधिक मतों के अंतर से जीत दर्ज की थी जबकि 2021 के विधानसभा चुनाव में इस जिले की सभी पांच सीटों पर एलडीएफ ने जीत हासिल की थी।

भाषा

गोला सिम्मी

सिम्मी

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers