Sameer Wankhede filed a defamation case against this veteran NCP

समीर वानखेड़े ने इस दिग्गज NCP नेता के खिलाफ दर्ज करवाया मानहानि का केस, जानें क्या है पूरा मामला

Sameer Wankhede filed a defamation case : नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) मुंबई के पूर्व अधिकारी समीर वानखेड़े ने शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान

Edited By: , August 15, 2022 / 08:47 AM IST

नई दिल्ली : Sameer Wankhede filed a defamation case : नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) मुंबई के पूर्व अधिकारी समीर वानखेड़े ने शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को गिरफ्तार करने के बाद खूब सुर्खियां बटोरी थी। समीर एक बार फिर चर्चा का विषय बनाए हुए हैं। उन्होंने एनसीपी नेता नवाब मलिक के खिलाफ मुंबई पुलिस में मानहानि का केस दर्ज कराया है। ये केस उन्होंने महाराष्ट्र सामाजिक न्याय विभाग की मुंबई जिला जाति प्रमाण पत्र सत्यापन समिति से क्लीन चिट मिलने के बाद दर्ज कराया।

यह भी पढ़े : बस्तर की बेटी ने रचा इतिहास, माउंट एवरेस्ट के शिखर पर लहराया तिरंगा, बनीं प्रदेश की पहली महिला पर्वतारोही 

नवाब मलिक ने समीर पर लगाए थे ये आरोप

Sameer Wankhede filed a defamation case :  समीर वानखेड़े ने नवाब मलिक के खिलाफ एससी-एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कराया है। यहां बताते चलें कि नवाब मलिक ने महाराष्ट्र में मंत्री रहते हुए वानखेड़े पर एससी-एसटी के फर्जी दस्तावेज बनाकर नौकरी हासिल करने का आरोप लगाया था। उस समय समीर वाखेड़े फिल्म स्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान के ड्रग्स केस की जांच कर रहे थे।

यह भी पढ़े : Popular Patriotic Films: जानिए उन देशभक्ति फिल्मों के बारे में जो जगाती हैं हर भारतीय में देशप्रेम की भावना 

गोरेगांव पुलिस ने दर्ज किया मामला

Sameer Wankhede filed a defamation case :  अधिकारी के मुताबिक, पुलिस ने रविवार को समीर वानखेड़े की शिकायत के आधार पर मानहानि के आरोप में नवाब मलिक के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। मुंबई की गोरेगांव पुलिस ने आईपीसी के साथ साथ एससी और एसटी एक्ट की धारा 500 और 501 के तहत मामला दर्ज किया है। इस मामले की जांज गोरेगांव डिवीजन के एसीपी करेंगे।

यह भी पढ़े : आजादी का अमृत महोत्सव Live : लाल किले में पीएम मोदी ने किया ध्वजारोहण, देश को कर रहे हैं संबोधित

एससी-एसटी कमीशन ने समीर वानखेड़े को दी थी क्लीन चिट

Sameer Wankhede filed a defamation case :  NCB के पूर्व मुंबई जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े को एससी-एसटी कमीशन ने क्लीन चिट दे दी। समीर पर यह आरोप था कि वह सरकारी नौकरी पाने के लिए जाली जाति प्रमाण पत्र जमा किया था। आरोप को लेकर जांच की गई थी। मामले पर एक अधिकारी ने बताया कि यह आदेश महाराष्ट्र सरकार के सामाजिक न्याय विभाग ने शुक्रवार को जारी किया। आदेश में कहा गया है कि भारतीय राजस्व सेवा (IRS) के अधिकारी वानखेड़े जन्म से मुस्लिम नहीं थे। यह साबित हो गया है कि वह महार जाति से हैं, जो अनुसूचित जाति (SC) की श्रेणी में आती है।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें