पड़ोसी राज्यों से आकर राजस्थान में अपराध करने वालों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: गहलोत |

पड़ोसी राज्यों से आकर राजस्थान में अपराध करने वालों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: गहलोत

पड़ोसी राज्यों से आकर राजस्थान में अपराध करने वालों के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई: गहलोत

: , December 9, 2022 / 11:01 AM IST

जयपुर, नौ दिसंबर (भाषा) राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि राजस्थान पुलिस पड़ोसी राज्यों से आकर यहां अपराध करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगी और रात आठ बजे के बाद खुलने वाली शराब की दुकानों पर भी सख्त कार्रवाई की जाएगी।

गहलोत ने पुलिस मुख्यालय में अधिकारियों के साथ कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक के दौरान बृहस्पतिवार को कहा कि पड़ोसी राज्यों से आकर राजस्थान में अपराध करने वाले आपराधिक तत्वों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी और इसके लिए राज्य के पड़ोसी राज्यों से लगते जिलों में पुलिस को विशेष रूप से सक्रिय किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कारागारों के अंदर से आपराधिक गतिविधियां चलाने वालों पर भी प्रभावी अंकुश लगाया जाएगा।

एक बयान के अनुसार गहलोत ने कहा कि सोशल मीडिया पर अपराधियों का महिमामंडन करने वाले लोगों और साम्प्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने एवं अफवाह फैलाने वाले असामाजिक तत्वों पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है। इसके साथ ही कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस प्रशासन को होमगार्ड के एक हजार जवान उपलब्ध कराए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि भूमाफिया पर कार्रवाई के लिए समिति गठित होगी। गहलोत ने जयपुर और अन्य शहरों में जमीनों के क्रय-विक्रय से संबंधित धोखाधड़ी के मामलों में बढोतरी को चिंताजनक बताया और कहा कि इस तरह के प्रकरणों की प्रभावी रोकथाम के लिए गृह सचिव की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय समिति बनाई जाएगी, जो दो महीने में अपनी रिपोर्ट देगी।

मुख्यमंत्री ने मुआवजे के लिए किसी हादसे में मारे गए व्यक्ति के शव को लेकर विरोध प्रदर्शन करने की प्रवृत्ति पर चिंता व्यक्त की और इसे सांस्कृतिक मूल्यों के खिलाफ बताया।

उन्होंने कहा कि सरकार की प्राथमिकता है कि ऐसे मामलों में दोषी को सजा मिले। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के प्रकरणों में समाज के लोगों को भी सकारात्मक रुख अपनाना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में शराब की दुकानों के बंद होने का समय रात आठ बजे है, जिसका सख्ती से पालन कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि यदि रात आठ बजे के बाद शराब की दुकानें खुली पाई गईं, तो उस इलाके के पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) की ‘क्राइम इन इंडिया रिपोर्ट-2021’ के हवाले से राजस्थान की छवि धूमिल करने के प्रयास किए जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि राजस्थान में प्राथमिकी के अनिवार्य पंजीकरण की नीति के बावजूद 2021 में 2019 की तुलना में करीब पांच प्रतिशत अपराध कम दर्ज हुए हैं जबकि अन्य राज्यों में अपराध अधिक दर्ज हुए हैं।

गहलोत ने कहा कि राज्य में अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए अभय कमान केंद्र को और सुदृढ़ किया जा रहा है एवं 30 हजार सीसीटीवी कैमरे लगाने का कार्य जल्दी पूरा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य के लगभग सभी पुलिस थानों में स्वागत कक्ष बनाए जा चुके हैं।

भाषा पृथ्वी सिम्मी

सिम्मी

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)