शॉर्ट कपड़े पहनकर परीक्षा देने पहुंची छात्रा, पर्दा लपेट कर परीक्षा देने के लिए हुई मजबूर..जानें पूरा मामला

असम के तेजपुर शहर में शॉर्ट कपड़े पहनकर प्रवेश परीक्षा देने पहुंची छात्रा को परीक्षा देने के लिए अपनी टांगों पर पर्दा लपेटना पड़ा।

Edited By: , September 17, 2021 / 12:54 PM IST

तेजपुर। exam wearing short clothes: असम के तेजपुर शहर में शॉर्ट कपड़े पहनकर प्रवेश परीक्षा देने पहुंची छात्रा को परीक्षा देने के लिए अपनी टांगों पर पर्दा लपेटना पड़ा। छात्रा ने इसे अपने जीवन का सबसे अपमानजनक घटना बताते हुए राज्य के शिक्षा मंत्री को शिकायत देने की तैयारी में है। छात्रा ने कहा कि उसे कॉलेज में प्रवेश करते समय किसी ने नहीं रोका, लेकिन परीक्षा देने से पहले वहां तैनात निरीक्षक ने उनके कपड़ों पर आपत्ति जता दी।

exam wearing short clothes: यह घटना बुधवार की है, जब जुबली तमुली नामक छात्रा असम कृषि विश्वविद्यालय (AAU) का एंट्रेस एग्जाम देने के लिए तेजपुर स्थित गिरिजानंद चौधरी इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मास्यूटिकल साइसेंस (GIPS) पहुंची थी। वो अपने पापा के साथ 70 किलोमीटर की दूरी तय कर एंट्रेस एग्जाम देने आई थीं। परीक्षा हॉल में जाने तक किसी ने उन्हें नहीं रोका, लेकिन निरीक्षक ने उनके कपड़े देखकर कहा कि वो अंदर नहीं आ सकती।

read more:उप्र के मुजफ्फरनगर जिले में चार ऑक्सीजन संयंत्र स्थापित

छात्र ने कहा कि कुछ दिन पहले मैंने यही कपड़े पहनकर इसी शहर में NEET की परीक्षा देने आयी थी और कुछ नहीं हुआ। न ही तो AAU के कपड़ों को लेकर कोई नियम हैं और न ही एडमिट कार्ड पर कुछ लिखा गया था तो मुझे कैसे पता चलेगा? उन्होंने बताया कि कपड़ों पर आपत्ति को लेकर उन्होंने विरोध भी जताया था, लेकिन उनकी बात नहीं सुनी गई।

इसके बाद छात्रा रोते हुए अपने पापा के पास गई, जो बाहर खड़े थे। आखिर में परीक्षा के कंट्रोलर ने कहा कि पैंट का इंतजाम होने पर मैं एंट्रेस एग्जाम दे सकती हूं। फिर मेरे पापा पास के बाजार से मेरे लिए नए कपड़े लेने गए। जब उनके पिता आठ किलोमीटर दूर बाजार से ट्राउजर लेकर लौटे तो उन्हें बताया गया कि जुबली को अपनी टांगे कवर करने के लिए पर्दा दे दिया गया है।

read more:अमेरिका : अलास्का में तेजी से बढ़ रहे हैं कोविड-19 के मामले

जुबली ने इसे अनुचित बताते हुए कहा, “उन्होंने हमारा मास्क या तापमान नहीं चेक किया, लेकिन उन्हें मेरा शॉर्ट्स पहनना दिख गया। परीक्षा के समय बार-बार पर्दा नीचे गिर रहा था, जिससे परेशानी हो रही थी।”उन्होंने कहा कि वो असम के शिक्षा मंत्री को पत्र लिखकर इस घटना की शिकायत करेंगी।