udf-to-bring-breach-of-privilege-motion-in-assembly-against-kerala-cm

महाराष्ट्र के बाद अब इस राज्य के CM के खिलाफ विधानसभा में लाया जाएगा प्रस्ताव, UDF ने खोला मोर्चा

Kerala Chief Minister Pinarayi Vijayan : केरल में कांग्रेस नीत विपक्षी गठबंधन यूडीएफ ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन ...

Edited By: , June 30, 2022 / 04:52 PM IST

तिरुवनंतपुरम। Kerala Chief Minister Pinarayi Vijayan : केरल में कांग्रेस नीत विपक्षी गठबंधन यूडीएफ ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह मुख्यमंत्री पिनरायी विजयन की दुबई यात्रा के दौरान कथित तौर पर राजनयिक माध्यम से भेजे गए सामान को लेकर उनके ‘‘गुमराह करने वाले’’ बयान तथा एक वैश्विक परामर्श कपंनी के निदेशक और विजयन की बेटी की आईटी कंपनी के बीच कथित संबंध के खिलाफ विधानसभा में एक विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव पेश करेगा।

राज्य विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष वी डी सतीशन ने कहा कि विजयन ने मंगलवार को सदन में दावा किया था कि उनकी बेटी और उस व्यक्ति के बीच कोई संबंध नहीं है, जो उक्त कंपनी के निदेशकों में शुमार है और जो सोना तस्करी मामले की आरोपी स्वपना सुरेश को एक सरकारी परियोजना में नियुक्त कराने में शामिल था।>>*IBC24 News Channel के WhatsApp  ग्रुप से जुड़ने के लिए Click करें*<<

सतीशन ने यहां संवाददातओं से कहा, ‘‘ हालांकि, आरोप लगाने वाले विधायक मैथ्यू कुझालनदन ने यह साबित किया है कि उनकी (मुख्यमंत्री की) बेटी के संबंधित कंपनी के निदेशक से संपर्क हैं। इसलिए, हम मुख्यमंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव पेश करने जा रहे हैं।’’

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने 2016 में उनकी दुबई यात्रा के दौरान कथित तौर पर राजनयिक माध्यम से भेजे गए सामान के बारे में भी विधानसभा में एक सवाल के लिखित जवाब में ‘‘गुमराह करने वाली’’ जानकारी साझा की। नेता प्रतिपक्ष ने कहा, ‘‘हमारे एक सवाल के लिखित जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा था कि संयुक्त अरब अमीरात यात्रा पर जाने के दौरान वह कोई थैला नहीं भूले थे। लेकिन, अगले ही दिन इस बारे में हमने साक्ष्य पेश किया। उनके तत्कालीन प्रधान सचिव ने सीमा शुल्क अधिनियम की धारा 108 के अंतर्गत बयान दर्ज कराया था कि एक बैग को राजनयिक माध्यम से भेजा गया था।’’ कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘इसलिए, हम इस मामले को लेकर भी मुख्यमंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाने जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने लिखित जवाब में सदन को गुमराह किया।’’

 

#HarGharTiranga