Such bold scenes are shot in films, you will also be surprised to hear

फिल्मों में ऐसे शूट होते हैं बोल्ड सीन्स, सुनकर आप भी रह जाएंगे हैरान

Bold Scenes: फिल्मों में ऐसे शूट होते हैं बोल्ड सीन्स, Such bold scenes are shot in films, you will also be surprised to hear

Edited By: , August 10, 2022 / 12:29 PM IST

नई दिल्ली।Bold Scenes: प्रेम और रोमांस जिस तरह से हमारे जीवन का हिस्सा रहे हैं, उसी तरह ये फिल्मों और धारावाहिकों का भी हिस्सा रहे हैं। आजकल के दर्शक भी इसी तरह की चीजें द्खना पसंद करते है। इसलिए ही ऐसी चीजों को फिल्में में शामिल किया जाता है। बॉलीवुड की किसी भी फिल्‍म में एक-दो इंटीमेट सीन और कुछ बोल्‍ड दृश्‍य हो जाएं, तो दर्शक अपने आप आकर्षित हो जाएंगे। फिल्मों में सेक्शुअल या फिजिकल रिलेशन कोई बड़ी चीज नहीं रह गई है। खासकर जब से ओटीटी और वेबसीरीज का दौर आया है, तब से खुलापन काफी बढ़ गया है। कुछ OTT Platform तो ऐसे कंटेंट के लिए ही जाने जाते हैं। अंतरंग सींस के चलते फिल्‍मों को चर्चा में लाने के लिए डायरेक्‍टर कुछ भी करने को तैयार रहते हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं ये सीन शूट करना इतना आसान नहीं डायरेक्‍टर को इसके लिए काफी पापड़ बेलने पड़ते हैं।

राजधानी में तेज बारिश से कई बस्तियों में भरा पानी, घरों में फंसे कई परिवार के लोग, किया गया रेस्क्यू

Bold Scenes: सिनेमा के पर्दे पर किस करना कोई बड़ी बात नहीं है। इसे लगभग हर फिल्म में देखा जा सकता है। फिल्मों के किसिंग दृश्यों को दर्शक पैसा वसूल मानते रहे हैं। आपने भी कई फिल्मों में किसिंग सींस तो काफी देखे होंगे, लेकिन ये कैसे फिल्माए जाते हैं, इसे जानने की भी काफी लोगों की रूची रहती है कि डायरेक्टर्स और क्रू मेंबर्स के सामने अभिनेत्रियां कैसे आसानी से किसिंग वाला सीन दे देती हैं? वैसे तो फिल्मों के अधिकांश किसिंग सीन रियल में फिल्माए जाते हैं। तो आइए जानें कैसे शूट होते हैं ये सींस..

शीशे का उपयोग

Bold Scenes: यदि अभिनेता या अभिनेत्रियां ऐसे सीन देने में आपत्ति करते है तो डायरेक्टर इसके लिए बॉडी डबल का प्रयोग भी कर लेते हैं। ऐसे में कहानी की डिमांड पर दूसरे तरीके से यह सीन फिल्माए जाते हैं। इसमें दोनों के बीच एक शीशा लगा दिया। जिसमें वो दोनों  उस शीशे को किस करते है जिससे लगता है कि एक दूसरे को ही किस कर रहे हों। इस तरह से और भी कई फिल्मों से इस तरह के प्रर्योग करके ऐसे सीन को दर्शाया जाता है।

इल्यूशन क्रिएट करना

Bold Scenes: अगर कोई अभिनेता या अभिनेत्री बोल्ड सींस करने से मना कर दें, तो ऐसे में हमें इल्यूशन क्रिएट करना पडता है। ब्यूटी शॉट्स से काम चलाना पड़ा, सिनेमेटोग्राफी के कुछ टेक्निक्स यूज करने पड़ते हैं, ताकि बिना कुछ हुए भी दर्शकों को लगे कि बहुत कुछ हुआ है। ब्यूटी शॉट्स जैसे हग करना, किस करना, हाथ से हाथ स्पर्श करना और फिर कैमरा एंगल ऐसा रखना जिसके जरिये बॉडी पार्ट्स को कवर किया जा सके। ये सारी टेक्निक्स होती है। कॉस्ट्यूम का ध्यान रखना होता है, जैसे बेड सीन के लिए 2 या 3 पीस नाइटी देना, ताकि उतारने के दौरान मोमेंट क्रिएट हो। बेड पर सैटिन के बेडशीट्स यूज किए जाते हैं और उससे ढककर केवल इल्यूशन क्रिएट किया जाता है।

प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री ने लिखा पत्र, केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री से की ये अपील

क्रोमा शॉट्स

Bold Scenes: अनकंफर्ट फील होने की स्थिति में हम फिर से पुराने दौर में लौट जाते हैं। पुराने समय की तरह हम क्रोमा शॉट्स लेते हैं। क्रोमा यानी नीले या हरे रंग का कोई कवर, जिसे बाद में गायब कर दिया जाता है। जैसे- एक्टर और एक्ट्रेस को किसिंग सीन से आपत्ति है, तो उनके बीच सपोज एक सब्जी लौकी यानी कद्दू रखा जाता है। ग्रीन कलर होने के कारण लॉकी क्रोमा का काम करती है। दोनों लॉकी को किस करते हैं और फिर पोस्ट प्रॉडक्शन के दौरान लॉकी को गायब कर दिया जाता है और दर्शकों को लगता कि दोनों ने Kiss किया है।

ले गार्ड और पुशअप्स पैड्स का प्रयोग

Bold Scenes: टेक्निकल टीम की तरह उनके पास भी कुछ प्रॉप्स होते हैं। इस बात का ध्यान रखना होता है कि मेल और फीमेल के प्राइवेट पार्ट्स आपस में टच न हों। इसके लिए क्रिकेटर्स की तरह मेल एक्टर के लिए ले गार्ड होते हैं। एक कुशन या एयर बैग होता है, जो दोनों के बीच गैप रखता है। एक्ट्रेस के लिए पुशअप्स पैड्स, पीछे से टॉपलेस दिखाना हो तो आगे पहनने वाले सिलिकॉन पैड होते हैं। इसमें सबसे महत्वपूर्ण चीज होती है कंसेंट। किसी भी इंटीमेट ​सीन के लिए एक्टर्स, एक्ट्रेस की रजामंदी बेहद जरूरी होती है।

और भी है बड़ी खबरें…