Finance Minister announced allowance to 47 lakh youth in the budget

Budget 2023 : देश के लाखों युवाओं को खास तोहफा, तीन सालों तक मिलेगा भत्ता, बजट में वित्त मंत्री ने किया ऐलान

Budget 2023 : बजट में युवाओं को खास तोहफा, तीन साल तक मिलेगा भत्ताः Finance Minister announced allowance to 47 lakh youth in the budget

Edited By: , February 1, 2023 / 12:41 PM IST

Finance Minister announced allowance  वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण केंद्रीय बजट 2023-24 पेश कर रही हैं। यह मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का आखिरी पूर्ण बजट है।  2024 लोकसभा चुनाव से पहले के इस बजट को काफी अहम माना जा रहा है। भारत का यह बजट ऐसे समय पर पेश हो रहा है, जब दुनिया की बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की रफ्तार धीमी हो गई है और संभावित मंदी की ओर जा रही हैं।

Read More : Budget 2023 Anna yojan : बजट में किसानों की बल्ले-बल्ले! अन्न योजना की बढ़ाई गई समय सीमा, केंद्रीय वित्त मंत्री ने किया ऐलान

47 लाख युवाओं को 3 साल तक भत्ता दिया जाएगा

Finance Minister announced allowance  बजट पेश करते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि हम कौशल आधारित शिक्षा नीति लाएंगे। एक राज्य-एक उत्पाद योजना शुरू होगी। 47 लाख युवाओं को 3 साल तक भत्ता दिया जाएगा।

आदिवासी छात्रों के लिए बड़ा ऐलान

Teachers recruited in Eklavya schools केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि अगले तीन वर्षों में, सरकार आदिवासी छात्रों को समर्थन देने वाले 740 एकलव्य मॉडल स्कूलों के लिए 38,800 शिक्षकों और सहायक कर्मचारियों को नियुक्त करेगी।

Read More : Today Union Budget 2023: आदिवासियों के लिए खोले जायेंगे स्कूल, विकास के लिए 15 हजार करोड़ भी, जाने बजट की अहम घोषणाएं

157 नए नर्सिंग कॉलेज स्थापित किए जाएंगे

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि 2014 से स्थापित मौजूदा 157 मेडिकल कॉलेजों के साथ सहस्थान में 157 नए नर्सिंग कॉलेज स्थापित किए जाएंगे।

Read More : Budget 2023 Anna yojan : बजट में किसानों की बल्ले-बल्ले! अन्न योजना की बढ़ाई गई समय सीमा, केंद्रीय वित्त मंत्री ने किया ऐलान

भारत दुनिया की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था

निर्मला सीतारमण ने कहा कि 2014 से सरकार के प्रयासों ने सभी नागरिकों के जीवन की बेहतर गुणवत्ता और गरिमापूर्ण जीवन सुनिश्चित किया है। प्रति व्यक्ति आय दोगुनी से अधिक बढ़कर 1.97 लाख रुपये हो गई है। इन 9 सालों में, भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया में 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में बढ़ी है।