फर्जीवाड़े का नेता China अब फर्जी पत्थर बांटेगा | The Sanjay Show

India vs China Clash | चाइना सरकार कह तो रही है कि वह गलवान के पत्थर बांटेगी पर क्या जाने वह पत्थर भी फर्जी हो

Edited By: , January 8, 2022 / 08:06 PM IST

फर्जीवाड़े का नेता China अब फर्जी पत्थर बांटेगा | The Sanjay Show

आज हम बात करेंगे चाइना के अक्ल पर पड़े पत्थर की ….
हमारे यहां एक कहावत है … अक्ल पर पत्थर पड़ गए…. जब बेवकूफी भरा काम किया जाए या फिर बिना दिमाग लगाए कुछ कर दें तो ऐसा कहा जाता है….
भारत पर दबाव बनाने के लिए गलवान घाटी में… झंडे फहराने का फर्जी वीडियो जारी कर अपनी नाक कटा चुका चीन… अब अपने नागरिकों को इनाम में पत्थर बांटने जा रहा है….चाइना सरकार कह तो रही है कि वह गलवान के पत्थर बांटेगी पर क्या जाने वह पत्थर भी फर्जी हो….और आसपास के ही किसी पहाड़ से लाया गया हो….

Read More: OMICRON पर बड़ा UPDATE; अब लोगों को घबराने की ज़रूरत नहीं

चाइना के साथ भारत की पिछले काफी समय से तनातनी चल रही है…..पाकिस्तान को उकसाकर भारत को दो- दो मोर्चे पर धमकाने में जुटा चीन अब फिर अपनी हरकतों के कारण चर्चा में आ गया है……आपको याद होगा गलवान घाटी में 15 जून 2020 को चाइनीज और भारतीय फौजियों में झड़प हुई थी। इसमें एक कर्नल समेत भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे, वहीं चीन के भी 40 से ज्‍यादा सैनिक मारे गए थे। कहा तो यह भी जाता है कि चीन के 80 से सौ जवान उस झड़प में मरे थे हालांकि चीन ने करीब एक साल बाद मरने वालों की संख्‍या 5 ही बताई है। तनाव के कारण आज भी लद्दाख के आसपास एलएसी पर दोनों देशों के 50-50 हजार सैनिक तैनात हैं।

Read More: मोदी को रोक कांग्रेस जीती या हारी?, उंगली कटाकर शहीद बनेंगे चन्नी? | The Sanjay Show

नए साल पर चीन ने इसी गलवान घाटी में चाइनीज झंडा फहराते अपने सैनिकों का वीडियो जारी करके ये बताने की कोशिश की थी कि वह एक बार फिर वहां कब्जा कर चुका है….पर यह वीडियो फर्जी निकला… और भारतीय सैनिकों ने उसी गलवान घाटी में जाकर तिरंगे के साथ अपना फोटो- वीडियो भेज दिया….
इसके बाद पूरी दुनियां में चीन की नाक कट चुकी है…..चीन की पोल खुद चाइना के लोगों ने खोल दी थी क्योंकि वीडियो में जो सैनिक कथित गलवान घाटी में दिख रहे थे वो दरअसल फिल्मी कलाकार थे…इस वीडियो की शूटिंग में चीनी सैनिक नहीं, बल्कि फिल्मी कलाकारों की मदद ली गई थी। एक अंतरराष्ट्रीय वेब पोर्टल कार्बुन ट्रेसी ने इसकी पोल खोली थी। इसकी रिपोर्ट के मुताबिक यह पूरी शूटिंग गलवान से करीब 28 किलोमीटर दूर अक्साई चीन के इलाके में की गई थी। गलवान का बताकर चीन ने जब उस वीडियो और फोटो को सोशल मीडिया पर डाला तो भारत में कांग्रेस के राहुल गांधी समेत कई विपक्षी नेता केंद्र सरकार पर हमलावर हो गए थे और उससे जवाब मांग रहे थे….
चाइना के फर्जी वीडियों की पोल खोलने वाले वेब पोर्टल ने चीनी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म वीवी के यूजर्स के हवाले से बताया था कि वीडियो में दिखाई दे रहा एक सैनिक चीन का एक बड़ा फिल्मी कलाकार वू जांग है। इस वीडियो में उसकी पत्नी शी नान भी शामिल थी। इस वीडियो को करीब चार घंटे में फिल्माया गया था… जैसे ही इस प्रोपेगंडा वीडियो की पोल खुली चीन ने ऐसे सभी अकाउंट्स को तुरंत ब्लॉक करवा दिया।
लेकिन तब तक चीन की नाक सारी दुनियां में कट चुकी थी….सब तरफ उसकी हंसी उड़ने लगी तो चीन एक बार फिर इस फोटो- वीडियो को सही बताने की कोशिश में जुट गया है….अब ताजा खबर आई है कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने 1 फरवरी से अपने लोगों को गलवान घाटी के पत्थर इनाम में देने की घोषणा की है….इसके लिए एक शर्त रखी गई है और वह यह है कि लोगों को चीनी सेना की ओर से तैयार एक पोस्टर को अपनी सोशल मीडिया साइट पर शेयर करना होगा…..चीनी सेना ने अपने अकाउंट से एक बैनर शेयर किया है और कहा है कि इस पोस्ट को शेयर करने वाले 10 लोगों को 1 फरवरी को उपहार के रूप में गलवान घाटी का पत्थर भेजा जाएगा।
इस पोस्टर में दिख रहा है कि चीनी सैनिक किसी पहाड़ी इलाके में एक नदी के किनारे गश्त लगा रहे हैं। इसमें चीनी भाषा में लिखा है कि ”शानदार परिदृश्य, एक इंच भी नहीं देंगे।” इस पोस्टर को लेकर भी चीनी मीडिया ने दावा किया है कि यह पोस्टर गलवान घाटी का है…., लेकिन चीन के पिछले फर्जीवाड़े को देखते हुए भला दुनियां में कौन इस पर यकीन करेगा…… इधर दावा किया जा रहा है कि फर्जीवाड़े में माहिर चाइनीज लोग गलवान घाटी का पत्थर इनाम पाने के लिए इस पोस्ट को शेयर कर रहे हैं।

Read More: PM Modi Security Lapse: साल भर पहले ही रची जा चुकी थी PM Modi को मारने की साजिश 

आप जानते ही हैं कि चीन के पास कभी भी कुछ ओरिजनल नहीं होता है सब नकली ही होता है….
चाइनीज माल के बारे में कहा जाता है कि उसके ज्यादातर माल दूसरे देशों की तकनीक चुराकर बनाए गए डुप्लीकेट होते हैं… इसीलिए विश्वास करने लायक नहीं होते…आज लिया और कल चलेगा इसकी कोई गारंटी नहीं होती….कहा जाता है कि कम्प्यूटर तकनीक से लेकर हवाई जहाज और मिसाइल तक चाइना दूसरे देशों से तकनीक चुराकर बनाता है… …मान लो चाइना आपसे एक मोटरसायकल ले ले तो उस पर पूरा रिसर्च करके उसकी पूरी टेक्नॉलॉजी चुराकर अपनी नई मोटरसायकल बना देता है….
पूरी दुनियां में ये परसेप्शन बना हुआ है कि चाइनीज लोगों के पास नई सोच नहीं होती पर वे नकलची बहुत शानदार हैं…. यानी नकल में चाइनीज लोगों का कोई जवाब नहीं है…. मजे की बात है कि चाइनीज आपका कोई सामान खरीदेंगे और कुछ ही दिनों में आपके उस सामान से मिलता जुलता दूसरा सामान बनाकर आपको ही सस्ते में बेच देंगे….
अब चाइनीज सरकार गलवान का पत्थर बांटने की घोषणा कर भले ही अपने लोगों को ये बताना चाहती है कि गलवान उसके पास ही है पर हकीकत तो यही है कि वह जो पत्थर बांटेगी वह भी नकली ही होंगे….