Rajnandgaon Lok Sabha Chunav 2024: रमन के गढ़ में क्या गलेगी भूपेश बघेल की दाल या फिर खिलेगा कमल..? जानिए क्या कहता है राजनांदगांव का सियासी समीकरण |Rajnandgaon Lok Sabha Chunav 2024

Rajnandgaon Lok Sabha Chunav 2024: रमन के गढ़ में क्या गलेगी भूपेश बघेल की दाल या फिर खिलेगा कमल..? जानिए क्या कहता है राजनांदगांव का सियासी समीकरण

Rajnandgaon Lok Sabha Chunav 2024: रमन के गढ़ में क्या गलेगी भूपेश बघेल की दाल या फिर खिलेगा कमल..? जानिए राजनांदगांव का सियासी समीकरण

Edited By :   Modified Date:  April 18, 2024 / 01:17 PM IST, Published Date : April 17, 2024/6:31 pm IST

Rajnandgaon Lok Sabha Chunav 2024: रायपुर। लोकसभा चुनाव की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। बता दें कि देश में कुल सात चरणों में वोटिंग होगी तो वहीं 19 अप्रैल को पहले चरण का मतदान होना है। वहीं, 4 जून को मतगणना होगी। 11 लोकसभा सीटों वाले छत्तीसगढ़ में पिछले दो लोकसभा चुनाव के आंकड़ों को देखें तो बीजेपी का प्रदर्शन अच्छा रहा है। 2014 में बीजेपी ने यहां 9 और 2019 में 10 सीटें जीती थी। इन सबके बीच बात करें दूसरे चरण में होने जा रहे मतदान की तो 26 अप्रैल को राजनांदगांव, महासमुंद और कांकेर (ST) सीट पर मतदान होगा।
Read more: Kanker Lok Sabha Election 2024 : भाजपा का किला भेदने कांग्रेस ने उतारा दमदार प्रत्याशी, इस बार क्या कहता है कांकेर का सियासी समीकरण, जानें 
हाई हाइप्रोफाइल सीटों में एक है राजनांदगांव 

छत्तीसगढ़ के 11 लोकसभा क्षेत्र में से एक राजनांदगांव लोकसभा सीट हाई हाइप्रोफाइल सीटों में एक है। एक तरफ जहां इस बार लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को मैदान में उतारा है तो वहीं बीजेपी ने यहां अपने मौजूदा सांसद संतोष पांडे पर ही भरोसा जताया है। ऐसे में ये मकाबला इस बार बेहद दिलचस्प होने जा रहा है।

Read more:  Mahasamund Lok Sabha Election 2024 : महासमुंद में भाजपा की मुश्किल, कांग्रेस को खरा उतरने की कसौटी, एक क्लिक में जानें चुनावी समीकरण 

1999 से पांच बार जीत दर्ज कर चुकी है भाजपा

बता दें कि राजनांदगांव सीट बीजेपी का गढ़ कही जाती है। ऐसा इसलिए क्योंकि साल 1999 से पांच बार बीजेपी इस सीट पर जीत दर्ज कर चुकी है। 1999 लोकसभा चुनाव में बीजेपी से रमन सिंह ने इस सीट पर जीत दर्ज की थी। इसके बार साल 2004 में बीजेपी से प्रदीप गांधी जीते थे। वहीं, 2007 (उपचुनाव) में कांग्रेस से देवव्रत सिंह ने जीत दर्ज की थी। इसके बाद से लगातार तीन बार बीजेपी का ही कबजा रहा है। जिसमें साल 2009 में बीजेपी से मधुसूदन यादव, साल 2014 में बीजेपी से अभिषेक सिंह और साल 2019 में बीजेपी से संतोष पांडे जीत दर्ज कर चुके हैं।

2019 में 1.11 लाख वोटों से जीते थे संतोष पांडे

साल 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के उम्मीदवार संतोष पांडे ने इस सीट पर 1.11 लाख वोटों से जीत हासिल की थी। बीजेपी ने इस बार भी यहां से संतोष पांडे को टिकट दिया है। यहां 1999 से उनकी ही पार्टी (2007 के उपचुनाव को छोड़ कर) जीतती रही है।

Read more: कांग्रेस प्रत्याशी की बढ़ी मुश्किल, उनके ही समाज के स्थानीय नेताओं ने किया विरोध 

राजनांदगांव की कुल जनसंख्या करीब 23 लाख है, जिसमें आदिवासी और लोधी समाज के मतदाता ज्यादा हैं। दोनों क्रमश: 35 और 30 प्रतिशत हैं। इसके अलावा साहू समाज के भी यहां 25 प्रतिशत मतदाता हैं। अनूसूचित जाति समाज से आने वाले सतनामी समाज की भी राजनांदगांव लोकसभा सीट पर अच्छी आबादी है।

IBC24 का लोकसभा चुनाव सर्वे: देश में किसकी बनेगी सरकार ? प्रधानमंत्री के तौर पर कौन है आपकी पहली पसंद ? क्लिक करके जवाब दें

देश दुनिया की बड़ी खबरों के लिए यहां करें क्लिक

Follow the IBC24 News channel on WhatsApp

 
Flowers