Betul Borewell Update: तीन दिन से जमीन के अंदर फंसा है तन्मय साहू, बच्चे से रिस्पॉस नहीं मिलने से बढ़ी चिंता |

Betul Borewell Update: तीन दिन से जमीन के अंदर फंसा है तन्मय साहू, बच्चे से रिस्पॉस नहीं मिलने से बढ़ी चिंता

अब करीब 10 फीट टनल बनाने का काम जारी है, तन्मय को निकालने 8 बार ड्रिलिंग कर स्पेस बनाया जाना है। तन्मय की ओर से कोई भी रिस्पॉन्स नहीं मिल रहा है, तन्मय तक पहुंचने में अभी और भी वक्त लग सकता है। Tanmay Sahu is trapped inside the ground for three days, concern increased due to lack of response from the child

Edited By: , December 9, 2022 / 09:56 AM IST

Betul Borewell Update: बैतूल। बैतूल में बीते तीन दिन बाद भी तन्मय तक बचाव दल नहीं पहुंच सका है, तन्मय के रेस्कयू ऑपरेशन में हार्ड रॉक्स फिर रोड़ा बन गए हैं, अब करीब 10 फीट टनल बनाने का काम जारी है, तन्मय को निकालने 8 बार ड्रिलिंग कर स्पेस बनाया जाना है। तन्मय की ओर से कोई भी रिस्पॉन्स नहीं मिल रहा है, तन्मय तक पहुंचने में अभी और भी वक्त लग सकता है।

बता दें कि मध्य प्रदेश के बैतूल जिले के आठनेर थाना क्षेत्र के मांडवी में एक खुले बोरवेल में मंगलवार शाम को गिरे बच्चे को बचाने के लिए राहत और बचाव अभियान अभी भी जारी है। इस रेस्क्यू अभियान को 65 घंटे से अधिक समय हो गया है, लेकिन अभी तक बच्चे को बाहर नहीं निकाला जा सका है। पुलिस कंट्रोल रूम ने बताया कि ग्राम मांडवी में किसान सुनील साहू का पुत्र तन्मय (8 साल) मंगलवार शाम को खेलते वक्त करीब गहरे खुले बोरवेल में गिर गया था। युद्ध स्तर पर रेस्क्यू अभियान चलाकर जेसीबी एवं पोकलेन मशीन से बोरवेल के समांतर करीब 45 फीट तक खुदाई कार्य पूरा हो गया।

Betul Borewell Update: इसके बाद अपरान्ह करीब साढ़े तीन बजे से सुरंग बनाने का काम शुरू हो गया है। बोरवेल में फंसे तन्मय तक पहुंचने के लिए करीब आठ फीट तक सुरंग बनाई जा रही है। करीब तीन फीट तक सुरंग की खुदाई हो गई है। खुदाई के दौरान कड़े पत्थर और चट्टान आने के साथ ही पानी जमा होने से रेस्क्यू अभियान में बार-बार रुकावट आ रही है। कलेक्टर अमरबीर सिंह बैंस एवं पुलिस अधीक्षक सिमाला प्रसाद भी मौके पर मौजूद हैं। अधिकारी रेस्क्यू अभियान में लगे एनडीआरएफ और एसडीईआरएफ की टीम का मार्गदर्शन कर रहे हैं।

फिलहाल सुरंग में फंसे तन्मय की ओर से कोई रिस्पांस नहीं मिलने से सभी की चिंता बढ़ गई है। तन्मय की कुशलता को लेकर गांव में लगातार पूजा-पाठ का दौर जारी है। घटनास्थल मांडवी गांव के साथ ही आसपास के 4 गांव के लोगों भी राहत कार्य में मदद करने के लिए आगे आए हैं। रेस्क्यू में जुटे 200 से अधिक लोगों के लिए निःशुल्क भोजन से लेकर सभी प्रकार की व्यवस्था गांव के लोगों की ओर से की जा रही है।

read more: चीन का रवैया निस्संदेह पहले से अधिक आक्रामक हुआ है : न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री

read more: Gujarat: बीजेपी ने रच दिया इतिहास! गुजरात में बनाया एकसाथ 2 रिकॉर्ड, एक तो आजतक कोई तोड़ नहीं पाया