निशाने पर दुर्गोत्सव! धार्मिक आयोजन पर प्रशासन की कार्रवाई खड़े कर रहे कई सवाल

धार्मिक आयोजन पर प्रशासन की कार्रवाई खड़े कर रहे कई सवाल! Many questions are raising the action of the administration on the religious event

Edited By: , October 12, 2021 / 10:43 AM IST

FIR on jhanki Operators Bhopal

भोपाल: कोरोना काल में दो साल बाद मनाये जा रहे दुर्गोत्सव को लेकर लोगों में भारी उत्साह है, लेकिन राजधानी भोपाल में दुर्गा पंडालों के संचालक और प्रशासन आमने-सामने हैं। दरअसल कोरोना गाइडलाइन का हवाला देते हुए पुलिस ने कई झांकी संचालकों पर FIR दर्ज कर रही है। इससे नाराज संचालकों ने मुख्यमंत्री से गुहार लगाते हुए कहा कि इसे लेकर सत्ता पक्ष और पुलिस अधिकारी बदसलूकी कर रहे हैं। झांकियों पर FIR मामले में कांग्रेस ने सरकार पर जमकर निशाना साधा, तो सरकार के नुमाइंदे झांकी संचालको के साथ खड़े नजर आए। हालांकि इसके बाद भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया और डीआईजी इरशाद वली ने ट्विट जारी कर सफाई दी।

Read More: कवर्धा कांड…किसकी साजिश! दो गुटों का विवाद था या फिर किसी की साजिश?

पूरे देश में इस वक्त नवरात्रि की धूम है, दुर्गा पंडालों में भक्ति का सैलाब उमड़ रहा है। मध्यप्रदेश में भी जगह-जगह माता की झांकी देखने को मिल रही है, लेकिन कोरोना महामारी की वजह से 2 साल बाद मनाए जा रहे दुर्गोत्सव में राजधानी भोपाल में दुर्गा पंडालों के संचालक और पुलिस प्रशासन आमने-सामने आ गए हैं। दरअसल भोपाल पुलिस झांकी संचालकों के खिलाफ अलग कोरोना गाइडलाइन के उल्लंघन के तहत अलग-अलग थानों में एफआईआऱ दर्ज की है, जिससे झांकी संचालक नाराज हैं और वक्त से पहले ही प्रतिमा विसर्जन की बात कर रहे हैं।

Read More: दूसरी जाति में शादी करने के लिए युवक ने मांगे 5000 रुपए, मां ने किया इनकार तो कुंए में दे दिया धक्का

भोपाल के बिठ्ठन मार्केट में दुर्गा झांकी के पास लग रहे मेले को लेकर पुलिस और आयोजक आमने-सामने हैं। पुलिस ने झांकी संचालकों के खिलाफ भी टीटी नगर और हबीबगंज थाना क्षेत्र में एफआईआर दर्ज की है, जिसके बाद इस मामले में तूल पकड़ लिया है। हिंदुत्व को लेकर हमेशा मुखर रहने वाली बीजेपी शासित राज्य में दुर्गा महोत्सव को लेकर हुई एफआईआर अब राजनितिक मुद्दा बनता जा रहा है। कांग्रेस मौका का फायदा उठाते हुए मामले में बीजेपी सरकार को कठघरे में खड़ा कर रही है।

Read More: संबंध बनाने के दौरान कंडोम हटाना पड़ सकता है भारी, दर्ज होगा मामला, होगी कानूनी कार्रवाई

दूसरी ओर मामला धर्म से जुड़ा होने के कारण प्रशासन की इस कार्यवाही को लेकर सरकार भी धर्म संकट में है। सरकार के नुमाइंदे झांकी संचालको के साथ खड़े नजर आ रहे है। गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का कहना है कि कोरोना गाइडलाइन के साथ माता की झांकी लगती रहे सरकार की मंशा यही है। वहीं भोपाल के प्रभारी मंत्री भूपेंद्र सिंह ने साफ कहा है कि अगर FIR हुई है तो वापस ली जायेगी।

Read More: छत्तीसगढ़ के इस स्कूल में भूतों का साया! छात्राएं हो जाती हैं बेहोश, छत से गिरकर भृत्य की हो गई थी मौत

दुर्गा पंडाल के संचालकों पर FIR और उस पर मचा बवाल थमा भी नहीं था कि महाकाल मंदिर में एक लड़की के वीडियो शूट मामले में पुलिस ने तत्काल मामला दर्ज किया है। हालांकि विवाद बढ़ने के बाद लड़की ने घटना के लिए माफी मांग ली है। बहरहाल मध्यप्रदेश में उपचुनाव होने हैं ऐसे में बीजेपी के हिंदुत्व के एजेंडे के खिलाफ भोपाल में दुर्गा पंडाल संचालकों पर दर्ज हुई FIR ने कांग्रेस को बीजेपी के हिंदुत्व के एजेंडे को कटघरे में खड़ा करने का मौका दे दिया है। वहीं राजनीतिक आयोजनों में हजारों लोगों के जुटने पर सरकार और प्रशासन की खामोशी और दूसरी ओर इस तरह धार्मिक आयोजन पर प्रशासन की कार्रवाई कई सवाल जरूर खड़े कर रहा है।

Read More: ‘एक नहीं चार बॉयफ्रेंड रखो, कभी नहीं टूटेगा दिल’ राजेश खन्ना ने बेटी ट्विंकल को दी थी नसीहत, पहली बार खुद पिलाई थी शराब