दुर्गा विसर्जन में नहीं निकलेंगे चल समारोह, पंडालों से सीधे घाट जाएंगी प्रतिमाएं, देखिए नई गाइडलाइन

There will be no moving ceremony in Durga immersion, the idols will go straight from the pandals, see the new guideline

Edited By: , October 14, 2021 / 11:49 AM IST

भोपाल, मध्यप्रदेश। विजयादशमी से पहले प्रदेश सरकार ने नई गाइडलाइन जारी की है। विसर्जन के दौरान नहीं निकाला जा सकेगा चल समारोह। प्रतिमाएं पंडालों से सीधे विसर्जन घाट जाएंगी। सभी घाटों पर नगर निगम की क्रेन से विसर्जन होगा।

पढ़ें- दुर्गा विसर्जन को लेकर पुलिस मुस्तैद, 50 पेट्रोलिंग टीम में 1500 जवान शामिल, आज रात से शुरू होगा विसर्जन

भोपाल के 7 घाटों पर ही दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन किया जाएगा। घाट तक एक समिति के दस लोग ही जा सकेंगे।

पढ़ें- दफ्तर के नहीं काटने होंगे चक्कर, घर बैठे निकाल सकते हैं PF का पैसा.. जानिए सबसे आसान तरीका

विसर्जन की तैयारियों को लेकर जिला प्रशासन की तरफ से अलग-अलग घाटों पर सुरक्षा इंतजाम पूरे कर लिए गए हैं। एसडीएम, सीएसपी और निगम अधिकारियों की ड्यूटी लगा दी गई है। क्रेन या जेसीबी की मदद से ही प्रतिमाओं का विसर्जन होगा।

पढ़ें- कालाबाजारी करने वालों पर लगेगी रासुका, इस राज्य सरकार का बड़ा फैसला 

किसी को घाट पर पानी तक पहुंचने की अनुमति नहीं होगी। प्रमुख घाटों जैसे रानी कमलापति घाट कमला पार्क, प्रेमपुरा घाट, सीहोर नाका, हथाईखेड़ा अनंतपुरा, शाहपुरा, ईटखेड़ी, खटलापुरा, नरोन्हा सांकल और मालीखेड़ी विसर्जन स्थल पर जिला प्रशासन और नगर निगम द्वारा रसी और बैरीकेट्स लगाए जा रहे हैं।

पढ़ें- पल्स गोल्ड रियल स्टेट की संपत्ति कुर्क करने का आदेश, 11 लाख 40 हजार होगी रिकवरी

नगर निगम की तरफ से सभी वार्डो में विसर्जन के लिए विभिन्न स्थानों पर कुंड भी बनाए गए हैं जिसमें शहरवासी छोटी-छोटी प्रतिमाओं को पूरे विधि विधान से पूजा कर विसर्जित भी कर सकते हैं। यहां से नगर निगम की गाड़ी प्रतिमाओं को ले जाएगी। जिला प्रशासन,नगर निगम, पुलिस, स्वास्थ्य विभाग सहित विभिन्न विभागों का पूरा अमला व्यवस्था संभाल रहा है।