बिना सोचे-समझे लगा दिया गया था लॉकडाउन! राकांपा ने PM मोदी पर कसा तंज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कोरोना वायरस की स्थिति पर मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत करने के एक दिन बाद, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने शुक्रवार को उन पर कटाक्ष करते हुए कहा कि यह अच्छा था कि इस बार तालाबंदी (लॉकडाउन) की घोषणा नहीं की गई

Edited By: , January 14, 2022 / 05:46 PM IST

NCP leader on lockdown

मुंबई, 14 जनवरी (भाषा) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कोरोना वायरस की स्थिति पर मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत करने के एक दिन बाद, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने शुक्रवार को उन पर कटाक्ष करते हुए कहा कि यह अच्छा था कि इस बार तालाबंदी (लॉकडाउन) की घोषणा नहीं की गई, जैसा कि अतीत में “लोगों को विश्वास में लिये बगैर और बिना किसी विचार के” (लॉकडाउन) लगाया गया था।

हमारे 𝕎𝕙𝕒𝕥𝕤 𝕒𝕡𝕡 Group’s में शामिल होने के लिए यहां Click करें.

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कई नेताओं के पार्टी छोड़ने के बारे में बोलते हुए, राकांपा ने कहा कि वहां भगवा पार्टी का पांच साल का “अहंकार का शासन” इसके लिए जिम्मेदार कारणों में से एक था।

read more: पंचायत सेवा चयन बोर्ड में निकली स्टाफ नर्स सहित इन पदों पर भर्ती, 27 जनवरी तक कर सकेंगे आवेदन

मोदी ने बृहस्पतिवार को देश में कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप के कारण संक्रमण के मामलों में वृद्धि के बीच महामारी की स्थिति पर मुख्यमंत्रियों के साथ एक डिजिटल बातचीत की थी।

NCP leader on lockdown

इसके बारे में बात करते हुए, राकांपा के मुख्य प्रवक्ता और महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने कहा, “लोग डरे हुए थे कि लॉकडाउनक का एक और दौर हो सकता है, लेकिन यह अच्छी बात है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुख्यमंत्रियों के साथ बातचीत में स्थानीय स्तर पर मौजूद स्थिति के आधार पर राज्यों से निर्णय लेने के लिए कहा। जब कोई कोविड-19 नहीं था, तो बिना किसी विचार के और लोगों को विश्वास में लिए बिना लॉकडाउन की घोषणा की गई थी।”उन्होंने कहा, “अब कोविड-19 के काफी मामले हैं, लेकिन लोग एहतियात बरत रहे हैं…यह अच्छा है कि लॉकडाउन की घोषणा नहीं की गई।”

read more: CM Shivraj in Niwari : पृथ्वीपुर पहुंचकर सीएम शिवराज ने ओलावृष्टि से प्रभावित फसलों का लिया जायजा

विधानसभा चुनावों से पहले उत्तर प्रदेश में भाजपा के कई नेताओं के इस्तीफे देने पर निशाना साधते हुए मलिक ने कहा, “भाजपा के राज्य मंत्रियों और विधायकों का पलायन रुकने वाला नहीं है। पांच साल के लंबे शासन का अहंकार, दूसरों का अपमान करने की चाल, गांवों में भय फैलाना भाजपा के अपने नेताओं को खोने का कारण प्रतीत होता है।”

राकांपा नेता ने कहा, “मुझे लगता है कि आने वाले दिनों में भाजपा और नेताओं को खो देगी। ये उत्तर प्रदेश में बदलाव के स्पष्ट संकेत हैं और भाजपा लड़ाई हार रही है।” बीते तीन दिनों के दौरान उत्तर प्रदेश में तीन मंत्रियों समेत आठ भाजपा विधायक इस्तीफा दे चुके हैं।

 

आप भी मकान लेने की सोच रहे है तो क्लिक करें>https://forms.gle/as7rp5ewNoyJ6xJr7