Offer this thing to Maa durga according to the zodiac in Navratri

Navratri 2022: नवरात्रि के नौ दिनों में राशिनुसार माता को अर्पित करें ये चीज, चमक उठेगी किस्मत

Navratri 2022 : देशभर में अलग-अलग शक्तिपीठों पर मेले भी आयोजित किए जाते हैं, राशि अनुसार जानेंगे कि किस चीज को माता को अर्पित करना शुभ है।

Edited By: , November 29, 2022 / 05:09 PM IST

धर्म। Navratri 2022:  नवरात्रि के 9 दिनों में मां दुर्गा के 9 रूपों की पूजा की जाती है। लोगों दुर्गा सप्तशती का पाठ करते हैं, आरती करते हैं, मां दुर्गा को विभिन्न भोग प्रसाद समर्पित करते हैं। इस दौरान देशभर में अलग-अलग शक्तिपीठों पर मेले भी आयोजित किए जाते हैं। लेकिन इस नवरात्रि राशि अनुसार जानेंगे कि किस चीज को  माता को अर्पित करना शुभ है।

यह भी पढे़ं :  पब के बाहर हुए झगड़े में दिग्गज खिलाड़ी की मौत, घूंसा लगने से फुटपाथ में तोड़ा दम

मेष राशि –
मेष राशि के जातक आज के दिन घर के बड़े-बुजुर्ग और माता की सेवा करें. दुर्गा चालीसा का पाठ करें. उसके उपरांत माता को चीनी अर्पित करें तथा वाणी में भी मिठास रखें. पाठ समाप्ति के बाद माता के चरणों में औषधीय पौधे रखें। इस पर्व पर मेष राशि के लोगो को लाल या पीले रंग के वस्त्र धारण करने चाहिए।

वृषभ राशि –
इस राशि के लोग को ललिता सहस्त्र नाम का पाठ करना चाहिए. सफेद और गुलाबी रंग के कपड़े पहनने तथा मालपुआ बनाकर माता के चरणों में अर्पित कर बच्चों में प्रसाद बांटें।

मिथुन राशि –
इस राशि के लोगो को माँ की विशेष कृपा प्राप्त करने के लिए देवी यंत्र स्थापित करना चाहिए. जिससे स्वासथ्य और यश प्राप्ति के अवरोध को दूर करती है. आने वाले हर प्रकार के रुकावट से मुक्ति प्राप्त कर सकते है. साथ ही मीठे रसीले फल को माता को अर्पित करें।

 

यह भी पढे़ं :    यहां PMO से लीक हुआ ऑडियो ! राष्ट्रीय सुरक्षा समिति ने बुलाई बैठक

कर्क राशि –
कर्क राशि के लोगो को माता के विशेष कृपा प्राप्ति के लिए सहस्त्र नाम का पाठ करना चाहिए. इस राशि के लोगो को हल्के सफेद रंग के कपड़े माता को अर्पित करनी चाहिए जिससे उनके ग्रह के स्वामी चन्द्रमा की विशेष कृपा प्राप्त हो सके और चीनी का दान करें।

सिंह राशि –
सिंह राशि के लोगो के लिए माँ कुष्मांडा की साधना विशेष फल देने वाली है. अपनी मंद हंसी से जगत का निर्माण करने वाली माँ कुष्मांडा देवी आपको स्वास्थ्य एवं आयु देकर यशस्वी बनायें इसके लिए आपको माता के मंदिर में ओपल अर्पित करते हुए कुष्मांडा के मंत्र का जाप करना चाहिए।

कन्या राशि –
इस राशि के लोगो को दुर्गा चालीसा का पाठ करें. मंत्रो का पुरे विधि-विधान से पाठ करना चाहिए. विद्यार्थियों के लिए देवी की आराधना अत्यन्त फलदायी है. इस राशि के ग्रह का स्वामी भी बुध होता है, अपने ग्रह के स्वामी बुध को नियंत्रण में रखने के लिए कन्या राशि के लोगो को देवी को प्रसन्न करने के लिए अनुशासित रहकर माँ का नामजाप करना चाहिए तथा सफेद या हलके रंग के वस्त्र माता के चरणों में अर्पित करना चाहिए।

तुला राशि –
तुला राशि के लोगो को माँ से विशेष फल प्राप्त के लिए दुर्गा सप्तशती के चतुर्थ अध्याय का पाठ फलदायी होगा. इनकी पूजा से राशि के ग्रह शुक्र प्रसन्न होंगे और समस्त रोग समाप्त होकर समृद्ध करेंगे। इस दिन तुला राशि के लोगो को सफेद तथा हलके रंग के कपड़े पहनने चाहिए. तथा दूध एवं चावल का भोग लगाना चाहिए।

 

वृश्चिक राशि –
वृश्चिक राशि के लोगो को पूजा के लिए दुर्गा सप्तशती का पाठ अत्यधिक महत्व का है. वृश्चिक राशि के लोगो को लाल रंग के वस्त्रों को माता को धारण कराना चाहिए जिससे उनके ग्रह के स्वामी मंगल प्रसन्न रहेंगे तथा माता को मोतीचूर के लड्डे का भोग लगाना चाहिए।

धनु राशि –
धनु राशि के लोगो को देवी के मस्तक पर चन्द्र धारण कराना चाहिए जिससे माता की कृपा से व्यक्ति के भीतर साहस की भावना उत्पन्न होती है तथा उसका भय नष्ट हो जाता है. धनु राशि के लोगो को माता को पीले वस्त्र अर्पित करनी चाहिए तथा बेसन के लड्डू का भोग लगाना चाहिए एवं उसे ब्राहम्णों को भोज कराना चाहिए।

मकर राशि –
इस राशि के लोगों के लिए प्राकृतिक प्रकोप, मौसमी बीमारी से बचने एवं समूल शमन के लिए नर्वाण मंत्र का जाप करें. इस राशि वालों को नीले रंग माता को अर्पित करनी चाहिए, जिससे माता प्रसन्न होंगी और यश तथा आयु में वृद्धि होगी साथ ही माता को सूखे मेवे अर्पित करें।

कुम्भ राशि –
कुम्भ राशि के लोगो को देवी कवच का पाठ करने से उत्तम लाभ की प्राप्ति होती है. गहरे नील रंग के वस्त्रों को अर्पित करनी चाहिए. माता के इस रूप की पूजा से समस्त रोग, शोक व संताप से मुक्ति मिलती है. इसके साथ ही माता को मूंग दाल का हलवा तथा पूड़ी का प्रसाद का भोग लगाकर गरीबो में वितरित करनी चाहिए।

मीन राशि –
इस राशि के लोगो के लिए देवी को हल्दी की माला लेकर बगलामुखी मन्त्र का जाप फलदायी है. इस राशि के ग्रह स्वामी गुरु है अतः अपने ग्रह के स्वामी को प्रसन्न रखने के लिए इस राशि के लोगो को केशरिया या हलके रंग के कपड़े माता को पहनाने चाहिए. साथ ही रसीले फल और औषधी को माता के चरणों में अर्पित करें।

और भी है बड़ी खबरें…