बटलर के चौथे शतक से राजस्थान रॉयल्स फाइनल में

बटलर के चौथे शतक से राजस्थान रॉयल्स फाइनल में

: , May 27, 2022 / 11:23 PM IST

अहमदाबाद, 27 मई (भाषा) राजस्थान रॉयल्स ने सलामी बल्लेबाज जोस बटलर (नाबाद 106 रन) की तेज तर्रार शतकीय पारी से शुक्रवार को यहां नरेंद्र मोदी स्टेडियम में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के दूसरे क्वालीफायर में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) को सात विकेट से हराकर 29 मई को होने वाले फाइनल में जगह बनायी, जहां उसका सामना पदार्पण कर रही गुजरात टाइटंस से होगा।

इस सत्र में यह बटलर का चौथा शतक था जिसके लिये उन्होंने 59 गेंद में 10 चौके और पांच छक्के जड़े। फिर एक और छक्का जड़कर टीम को रविवार को होने वाले फाइनल में पहुंचा दिया।

राजस्थान रॉयल्स ने खचाखच भरे स्टेडियम में पहले प्रसिद्ध कृष्णा (22 रन देकर तीन विकेट) और ओबेद मैकॉय (23 रन देकर तीन विकेट) की शानदार गेंदबाजी से आरसीबी को आठ विकेट पर 157 रन के स्कोर पर रोक दिया था। फिर बटलर की 60 गेंद में 10 चौके और छह छक्के जड़ित नाबाद पारी से 18.1 ओवर में तीन विकेट 161 रन बनाकर जीत दर्ज की।

राजस्थान रॉयल्स के लिये यशस्वी जायसवाल (21 रन) ने पहले ही ओवर में मोहम्मद सिराज पर दो छक्के और एक चौके से 16 रन जोड़कर तेज शुरूआत की।

बटलर ने तीसरे ओवर में सिराज पर दो चौके और एक छक्का जबकि शाहबाज अहमद पर दो छक्के और एक चौका जड़ा।

पर छठे ओवर की पहली गेंद पर जायसवाल (13 गेंद, एक चौका, दो छक्के) हेजलवुड की गेंद पर आउट हो गये और पहले विकेट के लिये बटलर के साथ 61 रन की साझेदारी भी खत्म हुई।

बटलर ने टीम का मैच पर दबदबा बरकरार रखते हुए 23 गेंद में छह चौके और तीन छक्के से अर्धशतक पूरा किया। इस दौरान उन्हें जीवनदान भी मिला जब हर्षल पटेल की गेंद पर विकेटकीपर दिनेश कार्तिक कैच लपकने से चूक गये।

राजस्थान रॉयल्स ने 9.1 ओवर में रनों का शतक पूरा किया।

हसारंगा डिसिल्वा की गुगली पर कप्तान संजू सैमसन (23 रन) आउट हो गये जिससे बटलर के साथ दूसरे विकेट के लिये 52 रन की साझेदारी भी खत्म हुई।

राजस्थान रॉयल्स को अंतिम पांच ओवर में 32 रन की जरूरत थी। बटलर ने 16वें ओवर में हसारंगा की चौथी गेंद पर छक्का जड़कर सत्र में 800 रन पूरे किये। फिर अंतिम गेंद पर लांग ऑन दूसरा छक्का जड़ा।

बटलर अपने शतक की ओर बढ़ रहे थे, टीम ने देवदत्त पडीक्कल (09) के रूप में तीसरा विकेट गंवा दिया।

इससे पहले पिछले एलिमिनेटर मैच में शतक जड़कर सुर्खियों में आये रजत पाटीदार (58 रन) के अर्धशतक के बावजूद आरसीबी बड़ा स्कोर नहीं खड़ा कर सकी।

पाटीदार ने छठे ओवर में मिले जीवनदान का पूरा फायदा उठाते हुए 42 गेंद की पारी में चार चौके और तीन छक्के जड़े। कप्तान फॉफ डुप्लेसी ने 25 और ग्लेन मैक्सवेल (13 गेंद में, दो छक्के, एक चौका) ने 24 रन का योगदान दिया।

कृष्णा ने पहले क्वालीफायर में गुजरात टाइटंस के खिलाफ निराशाजनक गेंदबाजी प्रदर्शन से वापसी की और तीन विकेट झटके जिसमें विराट कोहली और दिनेश कार्तिक के विकेट शामिल थे।

मैकॉय ने भी तीन विकेट झटके। ट्रेंट बोल्ट और आर अश्विन के नाम एक एक विकेट रहे।

आरसीबी ने बल्लेबाजी का न्यौता मिलने के बाद कोहली का विकेट नौ रन के स्कोर पर गंवा दिया था। डुप्लेसी और पाटीदार ने जिम्मेदारी से खेलते हुए दूसरे विकेट के लिये 70 रन की साझेदारी निभायी।

मैक्सवेल ने आकर कुछ शॉट लगाकर रन गति बढ़ाने का प्रयास किया लेकिन उनके पवेलियन पहुंचने के बाद आरसीबी लगातार विकेट गंवाती रही जिससे कोई बड़ी साझेदारी नहीं बनी।

आरसीबी की पारी का अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि उसने आखिरी पांच ओवर में केवल 34 रन जोड़े और पांच विकेट गंवा दिये।

कोहली ने पहले ओवर में बोल्ट की गेंद को आगे निकलकर डीप स्क्वायर लेग पर छक्के के लिये भेजकर बड़ी पारी की उम्मीद लगायी।

लेकिन दर्शकों की उम्मीदें पूरी नहीं हो सकीं और अगले ओवर में कृष्णा ने शार्ट लेंथ गेंद पर कोहली की पारी खत्म की। गेंद कोहली के बल्ले का किनारा चूमती हुई विकेटकीपर संजू सैमसन के हाथों में समां गयी।

पाटीदार क्रीज पर थे, पहले झटके के बाद दबाव में आयी आरसीबी अगले ओवर में डुप्लेसी के चौके से महज चार रन ही बना सकी।

डुप्लेसी ने धीरे धीरे हाथ खोलना शुरू किया और पांचवें ओवर में बोल्ट पर दो चौके जड़ दिये।

पाटीदार ने भी लय में आते हुए पावरप्ले के अंतिम ओवर में कृष्णा पर दो चौके लगाये लेकिन अगली गेंद पर भाग्यशाली रहे कि रियान पराग उनका कैच नहीं लपक सके।

छह ओवर बाद आरसीबी का स्कोर एक विकेट पर 46 रन था।

अगले दो ओवर में कोई बाउंड्री नहीं लगी थी जिससे पाटीदार ने नौंवे ओवर में चहल की गेंद को लांग आन पर छक्के के लिये भेजा।

आरसीबी ने 11वें ओवर में अपने कप्तान डुप्लेसी का विकेट खो दिया। डुप्लेसी की मैकॉय की लेंथ गेंद पर कवर के ऊपर उठाने की कोशिश नाकाम रही, यह उनके बल्ले के किनारे से लगकर शॉर्ट थर्ड मैन पर आर अश्विन के हाथ में चली गयी।

पाटीदार और डुप्लेसी के बीच दूसरे विकेट के लिये 53 गेंद की साझेदारी भी टूट गयी।

मैक्सवेल ने आते ही आक्रामकता दिखाते हुए रन गति बढ़ाने का प्रयास किया, पर ज्यादा देर क्रीज पर नहीं टिक सके। बोल्ट की गेंद पर बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में मैकॉय को कैच दे बैठे जिससे तीसरा विकेट 111 रन के स्कोर पर गिरा।

पाटीदार ने 15वें ओवर में चहल की अंतिम गेंद पर गगनचुंबी छक्का लगाकर 40 गेंद में चार चौके और दो छक्के से अपना अर्धशतक पूरा किया।

हालांकि अगले ओवर में अश्विन पर दूसरी गेंद में डीप मिडविकेट पर छक्का जड़ने के बाद पाटीदार अगली गेंद पर आउट हो गये। लांग ऑफ बाउंड्री पर बटलर ने संतुलन गंवाने के बावजूद उनका कैच लपक लिया और आरसीबी ने चौथा विकेट 130 रन पर खोया।

आरसीबी की निगाहें कार्तिक पर लगी थीं जो इस आईपीएल सत्र में शानदार फॉर्म में हैं। पर वह सात गेंद खेलकर छह रन ही बना सके।

मैकॉय ने महिपाल लोमरोर (08) के रूप में दूसरा विकेट लिया।

फिर कृष्णा ने अपने अंतिम ओवर में पहले कार्तिक और फिर हसारंगा को आउट किया।

भाषा नमिता

नमिता

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)