विराट कोहली के साथ बातचीत से बुरे दौर में काफी मदद मिली: रियान पराग |

विराट कोहली के साथ बातचीत से बुरे दौर में काफी मदद मिली: रियान पराग

विराट कोहली के साथ बातचीत से बुरे दौर में काफी मदद मिली: रियान पराग

:   Modified Date:  April 22, 2024 / 05:47 PM IST, Published Date : April 22, 2024/5:47 pm IST

नयी दिल्ली, 22 अप्रैल (भाषा) जब रियान पराग पहली बार मैदान पर उतरे तो वह अपनी बल्लेबाजी से ज्यादा सोशल मीडिया पर बेबाकी से अपनी राय व्यक्त करने के लिए जाने जाते थे लेकिन फिर महान बल्लेबाज विराट कोहली से 10-15 मिनट तक अच्छी सलाह मिली और चीजें बदलकर बेहतर हो गईं।

मीडिया से बात करते हुए या सोशल मीडिया पर घिसे-पिटे बयान देने की जगह अपने मन की बात कहने के लिए आलोचना का सामना कर चुका असम का यह 22 वर्षीय खिलाड़ी मौजूदा आईपीएल सत्र में शानदार प्रदर्शन के साथ भारतीय टीम में चयन के लिए दावा पेश कर रहा है।

कोहली से सलाह मांगने पर पराग ने ‘जियो सिनेमा’ को बताया, ‘‘मेरे दूसरे साल खेल रहा था और आईपीएल में बुरे दौर से गुजर रहा था। मैं उनसे चर्चा कर रहा था कि उस दौर से कैसे बाहर निकला जाए और वह इस तरह की परिस्थितियों को कैसे संभालते थे जिससे कि मैं उनके अनुभव से सीख सकूं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने मुझे अपने समय में से 10-15 मिनट दिए और मेरे साथ कुछ चीजें साझा कीं। मुझे लगता है कि इससे मुझे काफी मदद मिली।’’

राजस्थान रॉयल्स के पराग मौजूदा सत्र में काफी अच्छी फॉर्म में हैं और अब तक सात मैच में 318 रन के साथ सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ियों की सूची में तीसरे स्थान पर हैं।

कोहली के अलावा पराग ने एक अन्य दिग्गज क्रिकेटर राहुल द्रविड़ से भी बहुत कुछ सीखा है जो पहले रॉयल्स से जुड़े थे।

पराग ने कहा, ‘‘मैंने बहुत कुछ सीखा। क्रिकेट के लिहाज से हम जानते हैं कि वह खेल के सर्वश्रेष्ठ व्यक्तियों में से एक है और हमारे समय के महानतम क्रिकेटरों में से एक है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘क्रिकेट से इतर हमें खुद को कैसे रखना चाहिए, भीड़ के साथ कैसे जुड़ना चाहिए, सोशल मीडिया और आम तौर पर क्रिकेट के बाहर खुद को कैसे पेश करना चाहिए, यह कुछ ऐसा है जिसके बारे में मैंने उनसे बहुत कुछ सीखा है।’’

वर्ष 2019 में आईपीएल में अपने पहले सत्र के बारे में पराग ने कहा कि जब वह पहली बार बल्लेबाजी करने उतरे तो चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ मैच में महान महेंद्र सिंह धोनी से कुछ फीट की दूरी पर खड़ा होना शानदार भावना थी।

पराग ने कहा, ‘‘यह एक अवास्तविक अहसास था। मुझे वास्तव में याद नहीं है कि मैं कैसा महसूस कर रहा था लेकिन मैं निश्चित रूप से घबराया हुआ था। सुपरकिंग्स के खिलाफ खेलना, बल्लेबाजी के लिए जाना, विकेट के पीछे धोनी के साथ, निश्चित रूप से यह एक अवास्तविक क्षण था। मैं नर्वस होने से ज्यादा उत्साहित था और मैंने इसके हर पल का आनंद लिया।’’

टीम में अपनी भूमिका के बारे में पराग ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि पहले साल में मेरी भूमिका टी20 क्रिकेट में मेरी पसंदीदा भूमिकाओं में से एक है। मध्य क्रम में बल्लेबाजी करना, जब कुछ ओवर बचे हों तो मैदान में आना और मैदान पर शानदार प्रदर्शन करना।’’

भाषा सुधीर आनन्द

आनन्द

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers