भारतीय महिला पिस्टल निशानेबाजों ने सुहल जूनियर विश्व कप में पांचों स्वर्ण पदक जीते

भारतीय महिला पिस्टल निशानेबाजों ने सुहल जूनियर विश्व कप में पांचों स्वर्ण पदक जीते

: , May 17, 2022 / 07:40 PM IST

नयी दिल्ली, 17 मई (भाषा) मनु भाकर, इशा सिंह और रिदम सांगवान की तिकड़ी ने मंगलवार को सुहल में आईएसएसएफ जूनियर विश्व कप की 25 मीटर पिस्टल टीम स्पर्धा के फाइनल में मेजबान जर्मनी को 16-2 से हराया जिससे भारत की महिला पिस्टल निशानेबाजों ने पांचों स्वर्ण पदक अपनी झोली में डाले।

भारत ने 50 मीटर राइफल थ्री पोजीशन मिश्रित टीम स्पर्धा में भी रजत पदक हासिल किया जब पंकज मखीजा और सिफ्ट कौर सामरा की जोड़ी को स्वर्ण पदक के मुकाबले में पोलैंड के माइकल चोजनोवस्की और यूलिया पियोत्रोवस्का की जोड़ी के खिलाफ 12-16 से हार का सामना करना पड़ा था।

भारत ने प्रतियोगिता में अब तक 11 स्वर्ण, 13 रजत और चार कांस्य पदक जीत लिए हैं। भारत का चैंपियन बनना तय है। इटली की टीम चार स्वर्ण पदक के साथ दूसरे स्थान पर है। शॉटगन स्पर्धाओं के पदक अभी बाकी है जिससे इटली की टीम अपने और भारत के बीच के अंतर को कम करने का प्रयास करेगी।

स्वर्ण पदक के मुकाबले में पहुंची भारत की महिला पिस्टल टीम दूसरे क्वालीफिकेशन चरण में माइकला बोसेल, वेनेसा सीगर और मिया फॉक्स की जर्मनी की तिकड़ी के बाद दूसरे स्थान पर रही थी।

क्वालीफिकेशन में जर्मनी की टीम के 437 अंक के मुकाबले भारतीय टीम ने संभावित 450 में से 431 अंक जुटाए थे। फाइनल में हालांकि भारतीय तिकड़ी ने मेजबान देश की निशानेबाजों को कोई मौका नहीं दिया और आसान जीत दर्ज की।

पंकज और सिफ्ट की जोड़ी पहले क्वालीफिकेशन में चौथे जबकि दूसरे क्वालीफिकेशन में दूसरे स्थान पर रही थी जिससे उसने थ्री पोजीशन मिश्रित टीम स्पर्धा के स्वर्ण पदक के मुकाबले में जगह बनाई। कड़ी चुनौती पेश करने के बावजूद भारतीय जोड़ी को हार का सामना करना पड़ा और पोलैंड की जोड़ी ने अपने देश के लिए प्रतियोगिता में दूसरा स्वर्ण पदक जीता।

परिनाज धारीवाल ने महिला स्कीट के सेमीफाइनल चरण में जगह बनाई। वह क्वालीफिकेशन में 109 अंक के साथ चौथे स्थान पर रहीं थी।

भाषा सुधीर मोना

मोना

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)