क्रिकेट के मैदान को अलविदा कहते ही इरफान ने सचिन-विराट के खिलाफ की बयानबाजी, कह डाली ये बड़ी बात…

Edited By: , March 10, 2021 / 01:44 AM IST

नई दिल्ली: क्रिकेट जगत को अलविदा कहने के ​बाद टीम इंडिया के पूर्व ऑलराउंडर खिलाड़ी इरफान पठान ने पूर्व कप्तान सचिन तेंदुलकर और कप्तान विराट कोहली के खिलाफ बड़ा बयान दिया है। दरअसल इरफान पठान ने अपने बयानों में 4 दिन के टेस्ट मैच की पैरवी की है। इसके साथ ही वे अब उस खेमे में शामिल हो गए हैं, जो आईसीसी के चार दिनों के टेस्ट मैच के प्रस्ताव वकालत कर रहे हैं। बता दें कप्तान विरोट कोहली और पूर्व कप्तान सचिन तेंदुलकर ने आईसीसी के इस प्रस्ताव का विरोध किया था।

Read More: प्रदेश में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, 33 आईपीएस अधिकारियों का हुआ तबादला, देखें लिस्ट..

गौरतलब है कि पूर्व कप्तान सचिन तेंदुलकर ने आईसीसी के चार दिनों के टेस्ट मैच के प्रस्ताव का विरोध करते हुए कहा था कि मुझे नहीं लगता की आईसीसी का ये प्रस्ताव स​ही है। टेस्ट मैच वैसे ही कराया जाना ही कराया जाना चाहिए, जैसा सदियों से होते आया है। चार दिन का टेस्ट कराए जाने से बहुत सारी स्थितियां बदल जाएगी। जहां बल्लेबाज इसे सीमित ओवर का मैच सोचने लगेंगे वहीं, गेंदबाजों से भी अधिकार छीन लिया जाएगा।

Read More: ऐसी क्या बात हुई कि डॉक्टर पर फूट पर पड़ा पूर्व मुख्यमंत्री का गुस्सा, फटकार लगाते हुए कहा- बहुत छोटे कर्मचारी हो, भाग जाओ यहां से

सचिन ने कहा है कि चाद दिन का टेस्ट मैच कराए जाने से जहां तेज गेंदबाजों से पहला दिन ​छीन लिया जाएगा, वहीं दूसरी ओर स्पीनरों से पांचवा यानि आखिरी दिन छीन लिया जाएगा। दुनिया का ऐसा कोई भी तेज गेंदबाज नहीं होगा जो पहले दिन गेंदबाजी नहीं करना चाहेगा। ऐसी ही सोच स्पीनरों की भी वे आखिरी दिन गेंदबाजी करना पसंद करते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि पांच दिनों के टेस्ट मैच में पहले दिन तेज गेंदबाजों को जबकि आखिरी दिन स्पीनरों को मदद मिलती है।

Read More: पति के नामर्द होने से महिला पर ऐसा सितम, जेठ और स​सुर की बिगड़ी नीयत, मामला पहुंचा महिला आयोग फिर..

वहीं, आईसीसी के चार दिन का टेस्ट कराए जाने वाले प्रस्ताव को लेकर टीम इंडिया के मौजूदा कप्तान विराट कोहली का कहना है कि टेस्ट मैच के फार्मेट में कोई छेड़छाड़ नहीं किया जाना चाहिए। रोमांच पैदा करने के लिए डे—नाइट मैच कराया जाना अलग बात है, लेकिन छेड़छाड़ किए जाने से बहुत सारी परिस्थितियों में बदलाव आएगा। आप सिर्फ दर्शकों की संख्या, मनोरंजन और ऐसी ही कुछ दूसरी बातें कर रहे हो। मुझे लगता है कि फिर आपका इरादा सही नहीं होगा क्योंकि फिर आप तीन दिवसीय टेस्ट की बात करोगे। मेरा मतलब है कि यह सब कहां खत्म होगा। फिर आप कहोगे कि टेस्ट क्रिकेट खत्म हो रहा है।

Read More: कप्तान कोहली एक कदम दूर, शतक लगाते ही सचिन तेंदुलकर के इस रिकॉर्ड की कर लेंगे बराबरी