‘मासिक धर्म’ उत्सव को लेकर युवतियों में जबरदस्त उत्साह, कोविड-19 महामारी के बीच किया जा रहा आयोजित

'मासिक धर्म' उत्सव को लेकर युवतियों में जबरदस्त उत्साह, कोविड-19 महामारी के बीच किया जा रहा आयोजित

Edited By: , May 22, 2021 / 12:43 PM IST

ठाणे, 22 मई (भाषा) । मासिक धर्म से संबंधित वर्जनाओं को तोड़ने पर केंद्रित ‘मासिक महोत्सव’ कोविड-19 महामारी के चलते भारत और नेपाल में जहां ‘ऑनलाइन’ माध्यम से मनाया जा रहा है, वहीं छह अफ्रीकी देशों में यह ‘ऑफलाइन’ तरीके से मनाया जा रहा है।

Read More News: अबकी बार…आंकड़ों पर आर-पार! क्या वाकई छिपाए जा रहे हैं कोरोना से मौत के आंकड़े?

शुक्रवार से शुरू हुए महोत्सव में भारत और नेपाल में जहां वर्चुअल कार्यक्रम हो रहे हैं, वहीं कीनिया, नांबिया, रवांडा, दक्षिण सूडान, युगांडा और जांबिया में भौतिक रूप से कार्यक्रम आयोजित हो रहे हैं। इसको लेकर महिलाओं में उत्साह भी है।

Read More News: राजधानी में बढ़ाया गया कोरोना कर्फ्यू, कलेक्टर ने जारी किया आदेश, स्वास्थ्य

ठाणे आधारित गैर सरकारी संगठन म्यूज फाउंडेशन ने एक विज्ञप्ति में कहा कि कोविड-19 महामारी के चलते और विस्तारित हुई आर्थिक विषमता ने एशिया एवं अफ्रीका में महिलाओं के लिए मासिक धर्म के दौरान इस्तेमाल किए जाने वाले सुरक्षित उत्पादों तक पहुंच को प्रभावित किया है।

Read More News: CGBSE : 12वीं बोर्ड की परीक्षाओं को लेकर बड़ी खबर, स्कूल शिक्षा मंत्री ने कहा विश्वविद्यालय के पैटर्न पर

इसने कहा कि लॉकडाउन की वजह से हुए ‘उलट-प्रवास’ के चलते भारत के गांवों में और अधिक महिलाएं पीछे छूट गई हैं जिनकी मासिक धर्म उत्पादों तक थोड़ी-बहुत या बहुत कम पहुंच है, या फिर बिलकुल पहुंच नहीं है।

विज्ञप्ति में कहा गया कि महोत्सव में मासिक धर्म संबंधी सुरक्षित एवं टिकाऊ उत्पाद तरीकों पर प्रकाश डाला जाएगा जो महिलाओं के स्वास्थ्य और पर्यावरण के लिए अनुकूल हों।