भारतीयों को ब्रिटेन जाने पर नहीं रहना होगा क्वारंटीन, जवाबी कार्रवाई के बाद झुकी ब्रिटिश सरकार

Indians will not have to stay quarantine if they go to Britain, British government bowed after retaliation

Edited By: , October 8, 2021 / 09:00 AM IST

नई दिल्ली। भारत सरकार के सख्त रवैये के बाद बैकफुट पर आए ब्रिटेन ने बड़ा ऐलान किया है। ब्रिटिश सरकार ने बताया है कि 11 अक्टूबर से कोविशील्ड या यूके में मंजूरी पाए किसी अन्य वैक्सीन को लगवाने वाले भारतीय यात्रियों को क्वारंटीन नहीं किया जाएगा। अक्टूबर के शुरुआत में ही भारत ने भी जैसे को तैसा वाला नियम लागू करते हुए ब्रिटिश नागरिकों को भी अनिवार्य क्वारंटीन होने का फरमान सुनाया था।

पढ़ें- यहां सबसे सस्ता मिल रहा iPhone 12 Mini.. इस सेल में खरीदें सिर्फ इतने रुपए में

भारत से कोविशील्ड वैक्सीन लगवाकर ब्रिटेन जाने वाले यात्रियों को अब क्वारंटीन नहीं होना पड़ेगा। भारत में ब्रिटिश उच्चायुक्त एलेक्स एलिस ने ट्वीट कर कहा कि कोविशील्ड या यूके सरकार से अनुमोदित किसी अन्य वैक्सीन की पूरी डोज लिए भारतीय यात्रियों को क्वारंटीन नहीं किया जाएगा। यह आदेश 11 अक्टूबर से यूनाइटेड किंगडम जाने वाले भारतीय यात्रियों पर लागू होगा।

पढ़ें- टाइट जींस ने लड़की को पहुंचा दिया ICU, डॉक्टर्स को बार-बार पैंट उतार कर दिखाना पड़ रहा.. शेयर की अनुभव

भारत की सख्त चेतावनी के बाद सितंबर में ब्रिटेन ने कोविशील्ड को मान्यता तो दे दी थी, लेकिन इसमें एक पेंच फंसा दिया था। भारत अबतक ब्रिटेन के एंबर लिस्ट में था, ऐसे में वैक्सीन लगवाने के बाद भी ब्रिटेन जाने वाले भारतीय नागरिकों को क्वारंटीन रहना पड़ता था। भारत सरकार ने ब्रिटेन के इस रवैये को लेकर कई बार सार्वजनिक तौर पर नाराजगी जताई थी।

पढ़ें- क्रूज ड्रग्स पार्टी, नुपूर ने किसके कहने पर सैनेटरी पैड्स में छिपाया था ड्रग्स, क्या थी अगली तैयारी.. देखिए

भारत सरकार ने ब्रिटेन के अड़ियल रवैये को देखते हुए सख्‍त रुख अपनाया था। अक्टूबर की शुरूआत में भारत सरकार ने ब्रितानी नागरिकों को भारत आने पर 10 दिन अनिवार्य रूप से क्‍वारंटीन रहने का हुक्म सुनाया था। फिर चाहे उनके वैक्‍सीनेशन का स्‍टेटस कुछ भी हो।

पढ़ें- 7th Pay Commission,सरकारी कर्मचारियों की दिवाली से पहले बढ़ सकती है सैलरी, 31% हो सकता है DA.. देखिए क्या है नया अपडेट 

भारत के नए नियम चार अक्टूबर से लागू भी हो गए थे। ब्रिटिश नागरिकों के लिए यात्रा से पहले 72 घंटे के भीतर प्री-डिपार्चर कोविड-19 आरटी-पीआरसी टेस्‍ट जरूरी किया गया था। एयरपोर्ट आगमन पर उनका कोविड-19 आरटी-पीसीआर टेस्‍ट भी होगा। फिर आगमन के 8 दिन बाद दोबारा कोविड-19 आरटी-पीसीआर टेस्ट होगा।