अंबेडकर का संविधान बचाने के लिये इंडिया गठबंधन का साथ दे बहुजन समाज : अखिलेश |

अंबेडकर का संविधान बचाने के लिये इंडिया गठबंधन का साथ दे बहुजन समाज : अखिलेश

अंबेडकर का संविधान बचाने के लिये इंडिया गठबंधन का साथ दे बहुजन समाज : अखिलेश

:   Modified Date:  May 27, 2024 / 04:51 PM IST, Published Date : May 27, 2024/4:51 pm IST

गाजीपुर (उप्र), 27 मई (भाषा) समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) पर साठगांठ का आरोप लगाते हुए सोमवार को बहुजन समाज का आह्वान किया कि बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के बनाये संविधान की रक्षा के लिये लोकसभा चुनाव में वह इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इंक्लूसिव अलायंस (इंडिया) का साथ दे।

यादव ने गाजीपुर में आयोजित एक चुनावी रैली में कहा, ”यह चुनाव जहां हमारे आपके भविष्य को बचाने का है। वहीं, यह चुनाव संविधान को बचाने का भी है। यह संविधान ही है जो हमें सम्मान दिलाता है, जो हमारे अधिकारों की रक्षा करता है। इधर देखने को मिल रहा है कि भाजपा और बसपा ने अंदर ही अंदर हाथ मिला रखे हैं, इसलिए हम बहुजन समाज के लोगों से भी अपील करना चाहते हैं कि यह चुनाव बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के संविधान को बचाने का भी है इसलिए हमारे इंडिया गठबंधन का साथ दीजिए।”

उन्होंने कहा, ”अगर यह लोग (भाजपा) सत्ता में आ गए तो वह कुछ भी कर सकते हैं। यह वही लोग हैं जिन्होंने कई मौकों पर जो लोकसभा में सांसद अपनी बात रखना चाहते थे उन्हें रखना नहीं दिया। ऐसा भी समय आया जब इन्होंने 150 से ज्यादा सांसदों को सदन से बाहर निकालने का काम किया था, इसलिए आप लोग सावधान रहें।”

यादव ने कहा, ”यह चुनाव बहुत बड़ी लड़ाई है। यह लड़ाई आर—पार की है। लड़ाई ऐसी है कि उत्तर प्रदेश ही देश को बचा सकता है। जब भाजपा हटेगी तभी देश का संविधान बचेगा।”

उन्होंने भाजपा के 400 पार के नारे पर तंज करते हुए कहा, ”जो लोग 400 पार की बात कर रहे थे, वह 400 सीटें हारने जा रहे हैं। जो बहुत बड़ी-बड़ी बातें कहते थे, इधर उनका आत्मविश्वास लड़खड़ाया है। उससे उनकी जबान भी लड़खड़ा रही है। अब कोई भी आदमी उनकी पुरानी कहानी, पुराने घिसे-पिटे डायलॉग सुनना नहीं चाहता।”

यादव ने कहा कि पिछले 10 साल से शासन कर रही भाजपा की हर बात और हर वादा झूठा निकला है।

उन्होंने भाजपा पर तंज करते हुए कहा, ”जो लोग इस वक्त सत्ता में हैं, वे जान गए हैं कि चार जून के बाद उनकी सरकार बनने वाली नहीं है। वे यह स्वीकार भी कर चुके हैं कि चार जून के बाद उनकी सरकार नहीं बनने जा रही है इसीलिए उनकी भाषा बदल गई है, उनका व्यवहार बदल गया है।”

सपा प्रमुख ने कहा कि जहां किसान और गरीब पूरी ईमानदारी के साथ भाजपा के खिलाफ खड़ा है, वहीं नौजवानों ने भी इस बार मन बना रखा है कि जिन्होंने पेपर लीक करवाकर उनके जीवन का सबसे ज्यादा समय बर्बाद किया है उनको सबक सिखाएंगे।

यादव ने कहा, ”यह पहला चुनाव देखने को मिल रहा है जहां चुनाव जनता ने अपने आप हाथ में ले लिया है और जैसे चुनाव आगे बढ़ता जा रहा है जनता हमारे साथ-साथ आगे बढ़ती चली जा रही है।”

भाषा सलीम रंजन

रंजन

रंजन

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers