पिछली सरकारें सामाजिक न्याय के नाम पर अनुसूचित जाति, जनजाति को धोखा देती रहीं: प्रधानमंत्री मोदी |

पिछली सरकारें सामाजिक न्याय के नाम पर अनुसूचित जाति, जनजाति को धोखा देती रहीं: प्रधानमंत्री मोदी

पिछली सरकारें सामाजिक न्याय के नाम पर अनुसूचित जाति, जनजाति को धोखा देती रहीं: प्रधानमंत्री मोदी

:   Modified Date:  April 19, 2024 / 01:34 PM IST, Published Date : April 19, 2024/1:34 pm IST

अमरोहा (उप्र), 19 अप्रैल (भाषा) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि पिछली सरकारें सामाजिक न्याय के नाम पर अनुसूचित जाति, जनजाति और पिछड़े वर्ग को सिर्फ धोखा ही देती रही हैं जबकि वह ज्योतिबा फुले, बाबा साहब का सपना पूरा करने की दिशा में काम रहे हैं ।

प्रधानमंत्री ने अमरोहा से भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी कंवर सिंह तंवर के समर्थन में चुनावी सभा को संबोधित किया।

उन्होंने कहा,‘‘ हमारे देश में पहले की सरकारें सामाजिक न्याय के नाम पर अनुसूचित जाति, जनजाति और पिछड़े वर्ग को सिर्फ धोखा ही देती रहीं। जो सपना ज्योतिबा फुले जी का था, बाबा साहेब अंबेडकर का था, चौधरी चरण सिंह जी का था…सामाजिक न्याय का वो सपना अब मोदी पूरा कर रहा है।’’

प्रधानमंत्री मोदी ने अमरोहा से कांग्रेस उम्मीदवार दानिश अली पर भी निशाना साधा।

उन्होंने कहा , ‘‘ यहां से जो कांग्रेस के प्रत्याशी हैं, उन्हें भारत माता की जय बोलने में भी परेशानी होती है। जिसको भारत माता की जय मंजूर नहीं वह भारत की संसद में शोभा देता हैं क्या ? ऐसे व्यक्ति को भारत की संसद में प्रवेश मिलना चाहिये क्या ?’’

मोदी ने कांग्रेस और समाजवादी पार्टी (सपा) नेता क्रमश: राहुल गांधी और अखिलेश यादव पर तीखा निशाना साधते हुए कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश में एक बार फिर दो शहजादों की जोड़ी की फिल्म की शूटिंग चल रही है। इन दो शहजादों की फिल्म पहले ही नकारी जा चुकी है।’’

उन्होंने कहा,‘‘ हर बार ये लोग परिवारवाद, भ्रष्टाचार और तुष्टिकरण की टोकरी उठाकर उप्र की जनता से वोट मांगने निकल पड़ते हैं। अपने इस अभियान में ये लोग हमारी आस्था पर हमला करने का कोई मौका नहीं छोड़ते।’’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ‘‘अयोध्या में राम मंदिर बना, तो सपा-कांग्रेस दोनों पार्टियों ने प्राण प्रतिष्ठा का निमंत्रण ठुकरा दिया। आप कल्पना कर सकते हैं वोट बैंक के भूखे लोग प्रभु राम के प्राण प्रतिष्ठा के अवसर पर निमंत्रण ठुकरा दें । उसके बजाये आप उनकी तरफ देखिये जो जीवन भर बाबरी मस्जिद का केस लड़ते थे । वह हार गये लेकिन प्राण प्रतिष्ठा के कार्यक्रम में शामिल हो गये ।’’

प्रधनमंत्री ने कहा,‘‘ रामनवमी पर अयोध्या में प्रभु रामलला का भव्य सूर्य तिलक हुआ है। आज जब पूरा देश राममय है तब समाजवादी पार्टी के लोग वोट बैंक की खातिर रामभक्ति करने वालों को सार्वजनिक रूप से पाखंडी कहते हैं।’’

उन्होंने यादव और बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव पर निशाना साधते हुए कहा,‘‘ बिहार और उत्तर प्रदेश में अपने आप को यदुवंशी कहने वाले नेताओं से मैं पूछना चाहता हूं कि अगर आप सच्चे यदुवंशी हैं तो आप भगवान श्रीकृष्ण और द्वारका का अपमान करने वालों के साथ कैसे बैठ सकते हो। कैसे उनके साथ समझौता कर सकते हो ?”

उन्होंने कहा कि तुष्टिकरण के इसी खेल ने उत्तर प्रदेश को, खासकर हमारे पश्चिमी उत्तर प्रदेश को दंगो की आग में जलाया था।

मोदी ने कहा,‘‘ पश्चिमी उप्र के कितने मोहल्लों में सामूहिक तौर पर ‘मकान बिकाऊ हैं’ के पोस्टर लगाने पड़ते थे। हमारी बहन बेटियां सुरक्षित नहीं थीं। राज्य के मुख्यमंत्री ने ऐसे अपराधियों से मुक्ति दिलायी है। हमें दोबारा किसी भी कीमत पर उन ताकतों को मजबूत नहीं होने देना हैं ।’’

उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव देश के भविष्य का चुनाव है जिसमें जनता का एक-एक वोट भारत के भाग्य को सुनिश्चित करेगा।

उन्होंने कहा कि भाजपा गांव, गरीब के लिए बड़े दृष्टिकोण और बड़े लक्ष्यों के साथ आगे बढ़ रही है लेकिन विपक्षी गुट ‘इंडिया’ के लोगों की सारी शक्ति गांव, देहात को पिछड़ा बनाने में लगती है।

उन्होंने कहा कि इस मानसिकता का सबसे बड़ा नुकसान अमरोहा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश जैसे क्षेत्रों को उठाना पड़ा है।

लोकसभा चुनाव के पहले चरण पर मोदी ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि ‘‘मेरा सभी मतदाताओं से अनुरोध है कि संविधान से मिले इस अधिकार का उपयोग जरूर करें। विशेषकर मैं अपने युवाओं से आग्रह करूंगा, जो पहली बार वोट डालने जा रहे हैं कि वे ऐसा मौका जाने न दें, अवश्य वोट करें।’’

अमरोहा में दूसरे चरण में 26 अप्रैल को मतदान हैं ।

भाषा जफर मनीषा शोभना

शोभना

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers