मुसलमानों का वोट चाहने वालों को ‘अब्बा जान’ शब्द से परहेज क्यों, बयान पर जमकर सियासत

Why are those who want Muslim votes to avoid the word 'Abba Jaan', politics fiercely on the statement मुसलमानों का वोट चाहने वालों को ‘अब्बा जान’ शब्द से परहेज क्यों : योगी

Edited By: , September 16, 2021 / 06:41 AM IST

लखनऊ, 15 सितंबर (भाषा) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि ‘अब्बा जान’ कोई असंसदीय शब्द नहीं है और मुस्लिम वोट की चाहत रखने वाले लोगों को आखिर इस शब्द से परहेज क्यों है।

पढ़ें- केंद्र, राज्य और स्वायत्तशासी निकायों कर्मचारियों के लिए जरुरी जानकारी, इस तारीख से अनिवार्य होगा eNPS.. जानिए क्या पड़ेगा असर 

मुख्यमंत्री ने एक निजी समाचार चैनल के कार्यक्रम में ‘अब्बा जान’ शब्द के इस्तेमाल पर समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव की आपत्ति के बारे में पूछे जाने पर कहा ,‘‘मैंने किसी का नाम नहीं लिया। उन्हें मुस्लिम वोट तो चाहिए पर इस शब्द से परहेज क्यों है। क्या यह असंसदीय शब्द है? नहीं ऐसा बिल्कुल नहीं है और किसी को भी इससे कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए।’’’

पढ़ें- थर्ड वेव को लेकर बड़ा अपडेट, दुनियाभर में कोरोना के नए केस और मौतों में आई बड़ी कमी

इस सवाल पर कि आखिर अब्बा जान कहकर वह क्या संदेश देना चाहते हैं, योगी ने कहा,‘‘संदेश बहुत स्पष्ट है और लोग समझ रहे हैं।’’

पढ़ें- ‘मैं नहीं पढ़ता नमाज, यहां लोग कुरान पढ़ते जरूर हैं लेकिन समझते कम’, नसीरुद्दीन शाह ने तीनों खान पर भी कह दी बड़ी बात 

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘जब अखिलेश सत्ता में थे तब उनके पास समय नहीं था। वह पूर्वान्ह 11 बजे सोकर उठते थे और दो घंटे बाद नहाते थे। दोपहर का भोजन करने के बाद 10 मिनट के लिए दफ्तर जाते थे और अपने दोस्तों के साथ व्यस्त रहते थे। ऐसी हालत में वह उत्तर प्रदेश के 22-24 करोड़ लोगों की अगुवाई नहीं कर सकते थे।’’

पढ़ें- ये फसलें भी शामिल हुई राजीव गांधी किसान न्याय योजना में, फल-फूल, सब्जी और मसाले की खेती करने वालों को मिलेगी इनपुट सब्सिडी 

अयोध्या में विकास के नाम पर गरीबों के घरों पर बुलडोजर चलवाने के अखिलेश के आरोपों का जवाब देते हुए योगी ने कहा कि उनकी सरकार ने किसी भी गरीब के घर पर बुलडोजर नहीं चलवाया है, दरअसल जिन लोगों ने भ्रष्टाचार और अतिक्रमण करके धन कमाया, उनके खिलाफ यह सरकार कार्रवाई कर रही है ऐसे में, दर्द उन्हीं को हो रहा है जिनके राज में गुंडे और माफिया शासन करते थे।

पढ़ें- बिकिनी के बाद अब नए अवतार में नजर आईं दिशा पटानी.. फैंस के उड़ गए होश

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के बारे में पूछे जाने पर मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘ इसके निर्माण की लागत 11800 करोड रुपए थी जबकि अखिलेश की सरकार में इसकी लागत 15200 रुपये बताई गई थी। आखिर यह बढ़ा हुआ पैसा किसकी जेब में जा रहा था। ’’