अदालत ने ‘यूनाइट द राइट’ रैली में हिंसा के लिए 2.6 करोड़ डॉलर का जुर्माना लगाया

अदालत ने ‘यूनाइट द राइट’ रैली में हिंसा के लिए 2.6 करोड़ डॉलर का जुर्माना लगाया

Edited By: , November 24, 2021 / 04:08 PM IST

शार्लोट्सविले (अमेरिका), 24 नवंबर (एपी) अमेरिका की एक अदालत ने 2017 में शार्लोट्सविले में ‘यूनाइट द राइट’ रैली के दौरान भड़की हिंसा के लिए 17 श्वेत राष्ट्रवादी नेताओं और संगठनों पर मंगलवार को 2.6 करोड़ अमेरिकी डॉलर से अधिक का जुर्माना लगाया।

करीब एक महीने तक चली सुनवाई के बाद, यूएस डिस्ट्रिक्ट कोर्ट की एक ज्यूरी ने यह सजा सुनायी। अदालत ने उन नौ लोगों द्वारा दायर मुकदमे में श्वेत राष्ट्रवादियों को जवाबदेह ठहराया जिन्हें दो दिनों के प्रदर्शनों के दौरान शारीरिक या भावनात्मक आघात का सामना करना पड़ा था। अदालत ने चार दावों में फैसला किया है जबकि दो दावों में अब भी गतिरोध कायम है।

अटॉर्नी रोबर्टा कापलान ने कहा कि वादी के वकीलों की योजना फिर से याचिका दायर करने की है ताकि मुकदमे की सुनवाई किसी अन्य ज्यूरी द्वारा की जाए तथा गतिरोध वाले दो दावों पर भी फैसला हो सके। उन्होंने हर्जाने की राशि को ‘आंखें खोलने वाला’ बताया और कहा कि ‘यह एक व्यापक संदेश देता है।’

यह फैसला श्वेत राष्ट्रवादी आंदोलन के लिए फटकार है, खासकर उन दो दर्जन व्यक्तियों और संगठनों के लिए, जिन पर एक संघीय मुकदमे में अफ्रीकी अमेरिकियों, यहूदियों और अन्य लोगों के खिलाफ एक सुनियोजित तरीके से हिंसा करने का आरोप लगाया गया है।

श्वेत राष्ट्रवादी नेता रिचर्ड स्पेंसर ने फैसले के खिलाफ अपील करने का संकल्प जताते हुए कहा कि ‘उस फैसले का पूरा सिद्धांत ही मौलिक रूप से त्रुटिपूर्ण है।’ उन्होंने कहा कि वादी के वकीलों ने मुकदमे से पहले ही यह स्पष्ट कर दिया था कि वे मुकदमे का उपयोग उन्हें और अन्य प्रतिवादियों को दिवालिया बनाने के लिए करना चाहते हैं।

एपी

अविनाश अनूप

अनूप