श्रीलंकाई नागरिक को बचाने की कोशिश करने वाले शख्स को मिलेगा तमगा-ए-शुजात पुरस्कार, PM इमरान ने की घोषणा

अपनी जान खतरे में डालकर उग्र भीड़ से कारखाना प्रबंधक एवं श्रीलंकाई नागरिक को बचाने की कोशिश की थी।

Edited By: , December 6, 2021 / 08:56 AM IST

(सज्जाद हुसैन) इस्लामाबाद। (भाषा) पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने उस व्यक्ति को वीरता पदक देने का रविवार को एलान किया जिसने सियालकोट में अपनी जान खतरे में डालकर उग्र भीड़ से कारखाना प्रबंधक एवं श्रीलंकाई नागरिक को बचाने की कोशिश की थी।

यह भी पढ़ें:  तालाब में मिला तीन मासूमों का शव, गांव में पसरा मातम, जांच में जुटी पुलिस

सीसीटीवी फुटेज में दिखायी दिया कि उत्पादन प्रबंधक मलिक अदनान नाम का एक शख्स गुस्साए लोगों के एक समूह का सामना कर रहा है और सियालकोट के एक कारखाने में भीड़ से श्रीलंकाई नागरिक प्रियंता कुमारा दियावदना को बचाने की कोशिश कर रहा है। बाद में भीड़ ने अदनान को काबू में कर लिया और श्रीलंकाई नागरिक को घसीटकर सड़क पर ले गयी और पीट-पीटकर उसकी हत्या कर दी। इसके बाद भीड़ ने ईशनिंदा के आरोपों को लेकर शव को आग लगा दी।

यह भी पढ़ें:  केंद्रीय उड्डयन मंत्री बनने के बाद पहली बार अशोकनगर पहुंचे ज्योतिरादित्य सिंधिया, कार्यकर्ताओं ने किया भव्य स्वागत

खान ने ट्वीट किया, ‘‘आवाम की ओर से मैं मलिक अदनान के नैतिक साहस और बहादुरी को सलाम करना चाहता हूं जिन्होंने सियालकोट में उग्र भीड़ से अपनी जान खतरे में डालकर प्रियंता दियावदना को बचाने का भरसक प्रयास किया। हम उन्हें तमगा-ए-शुजात से नवाजेंगे।’’

यह भी पढ़ें:  मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल में जरूरी दवाओं की कमी, सुई और कॉटन भी खुद के पैसे से खरीद रहे मरीजों के परिजन