‘स्पिक मैके अनुभव-4’ की सात दिवसीय कार्यशाला 29 मई से, देश भर से 2500 छात्र होंगे सहभागी

कार्यशाला में सभी प्रतिभागियों के लिए सात्विक भोजन व ठहरने का प्रबंध विद्यालय प्रांगण में किया गया है। इस कार्यशाला में विद्यार्थियों को देश के महान कलाकारों एवं कला गुरुओं का सानिध्य मिलेगा।

Edited By: , May 28, 2022 / 11:06 PM IST

Seven-day residential workshop of 'Spic Mackay Anubhav 4

रायपुर। आधार​शिला विद्या मंदिर में 29 मई से ‘स्पिक मैके’ की सात दिवसीय आवासीय कार्यशाला अनुभव 4 का आयोजन किया जाएगा। यह कार्यशाला गुरु शिष्य परंपरा पर आधारित है इस कार्यशाला को हाइब्रिड मोड पर आयोजित किया जा रहा है। कार्यशाला में सभी प्रतिभागियों के लिए सात्विक भोजन व ठहरने का प्रबंध विद्यालय प्रांगण में किया गया है। इस कार्यशाला में विद्यार्थियों को देश के महान कलाकारों एवं कला गुरुओं का सानिध्य मिलेगा। वहीं छात्रों को उनकी साधना को सीखने समझने व व्यक्तिगत संवाद करने के अवसर प्राप्त होंगे।

read more:  वेलॉसिटी ने टॉस जीतकर सुपरनोवाज को बल्लेबाजी का न्योता दिया

इस अवसर पर बोलते हुए, मीडिया निदेशक, स्पिक मैके, सुमन डूंगा ने कहा, “इस वर्ष, हम अपने प्रमुख ऑनलाइन कन्वेंशन अनुभव के चौथे संस्करण का आयोजन कर रहे हैं। हम आजादी का अमृत महोत्सव- भारत की आजादी के 75 वर्ष भी मन रहे हैं और इस श्रृंखला को संतूर वादक, स्वर्गीय पंडित शिवकुमार शर्मा की याद में समर्पित कर रहे हैं, जिनका हाल ही में निधन हो गया।

अनुभव में 25 से अधिक ऑनलाइन कार्यशालाओं आयोजित की जाएगी जहां भारत के कोने-कोने से 2500 से अधिक छात्र भाग लेंगे। इनमें से कुछ कार्यशाला स्पिक मैके के यू ट्यूब चौनल पर उपलब्ध होंगे। दोपहर के सत्र में वार्ता, फिल्म स्क्रीनिंग, विशेषज्ञों के साथ चर्चा और लोक प्रदर्शन शामिल होंगे। शाम को भारतीय शास्त्रीय संगीत और नृत्य के क्षेत्र के महान उस्तादों को देखने को मिलेगा।

प्रसिद्ध कलाकार जो स्पिक मैके अनुभव 4.0 का हिस्सा होंगे, वे हैंरू बेगम परवीन सुल्ताना, उस्ताद वसीफुद्दीन डागर, गुरु घनकांत बोरा, पं तेजेंद्र नारायण मजूमदार, विदवान उमयालपुरम के शिवरामन, विदवान सिक्कल गुरुचरण, विदुषी कन्याकुमारी, पं उल्हास कशालकर, पं. राजेंद्र गंगानी, पं. नित्यानंद हल्दीपुर, विदुषी कपिला वेणु, पं. वेंकटेश कुमार, विदुषी सुगुना वरदाचारी, विदुषी श्रुति सदोलीकर और विदुषी एस सौम्या।

read more: महाराष्ट्र में पहली बार ओमीक्रोन के उप स्वरूप बी.ए. 4 के चार जबकि बी.ए.5 के तीन मामले सामने आए

इस दौरान स्कूलों और कॉलेजों के प्रतिभागी व्यक्तिगत रूप से महान गुरुओं से भारत के विभिन्न कला रूपों को सीखेंगे और एक हॉल में बड़ी स्क्रीन पर कुछ सुंदर संगीत कार्यक्रम भी देखेंगे। प्रतिभागियों को शास्त्रीय संगीत और नृत्य संगीत, व्याख्यान प्रदर्शन, कार्यशालाएं, वार्ता, नाद योग, हठ योग, ध्यान, सिनेमा क्लासिक्स, लोक कला और शिल्प, सांस्कृतिक विरासत जैसी विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से कुछ महान गुरुओं से जुड़ने का अवसर मिलेगा। अनुभव 4 वरिष्ठ योग गुरुओं के साथ योग सत्र और ब्रह्मकुमारियों के एक युवा शिक्षक द्वारा ध्यान सत्र के साथ शुरू होगा, इसके बाद विभिन्न शास्त्रीय कला रूपों, लोक रूपों, शिल्प और चित्रकला के गुरुओं के साथ कार्यशालाएं होंगी।

read more:  Jaundice Spread in Raipur : रायपुर के जागृति नगर में फैला पीलिया | 5 मरीजों में पीलिया की पुष्टि

पूरा विवरण यहां पढ़ें —

Seven-day residential workshop of 'Spik Mackay Anubhav 4