खाली बोतलों को शरीर पर बांधकर किशोर ने पार कर दिया समंदर, कहानी सुनकर सैनिकों की भर आई आंखें

खाली बोतलों को शरीर पर बांधकर किशोर ने पार कर दिया समंदर, कहानी सुनकर सैनिकों की भर आई आंखें

Edited By: , May 22, 2021 / 09:03 AM IST

स्पेन के सेउटा और मेलिला एन्क्लेव से बड़ी संख्या में लोग यूरोप पहुंचने का प्रयास कर रहे हैं। इस अफराततफरी के माहौल में एक दृश्य नेसभी की आंखे नम कर दी है। दरअसल एक किशोर प्लास्टिक की खाली बोतलों को अपने शरीर पर बांधकर समंदर में लंबी दूरी पारकर स्पेन के उत्तरी अफ्रीका क्षेत्र सेउटा पहुंचा है। .जैसे ही ये किशोर स्पेने की सीमा में पहुंचता है, स्पेनिश सैनिक उसे पकड़ लेते हैं। इस दौरान किशोर जोर-जोर से रो रहा है, वो चिल्ला रहा है और अपनी तकलीफ सैनिकों को बताने की कोशिश कर रहा है।

Read More News: अबकी बार…आंकड़ों पर आर-पार! क्या वाकई छिपाए जा रहे हैं कोरोना से मौत के आंकड़े?

ये किशोर स्पेन-मोरक्को सीमा में तैरते हुए स्पेन के उत्तरी अफ्रीका क्षेत्र सेउटा पहुंचा है। किसी तरह जब ये किशोर स्पेन की समुद्री सीमा को पारकर यहां पहुंचा और दीवार को फांदकर शहर की ओर भागने लगा तो सैनिकों ने उसे रोक लिया।

किशोर ने सैनिकों से कहा कि – ‘मैं वापस नहीं जाना चाहता, मेरा मोरक्को में कोई नहीं है। मैं वापस जाने के बजाय ठंड से मरना पसंद करूंगा.’। भरे गले से जवान ने कहा, ‘मैंने कभी इतने नौजवान युवक को ऐसा कहते नहीं सुना’।

Read More News: किसानों को ‘न्याय’….भूपेश सरकार ने एक बार फिर ‘जो कहा वो किया

बता दें कि मोरक्को से सेउटा के उत्तरी अफ्रीकी एन्क्लेव में बड़ी संख्या में प्रवासी लोग, स्पेन में एंट्री कर रहे हैं। इसे भीड़ रोकने के लिए स्पेन ने अब आर्मी को बॉर्डर पर तैनात कर दिया है। स्पेन के आर्मी अधिकारियों की मानें तो बीते दो दिनों में करीब 8,000 लोग मोरक्को से एन्क्लेव में पहुंचे हैं।
Read More News: इस पेड़ पर फलते हैं ‘गुलाब जामुन’, शुगर कंट्रोल करने के लिए माना जाता है उपयोगी, जानिए पूरी डिटेल

स्पेन सरकार के आधिकारिक बयान के मुताबिक, प्रवासियों में सबसे अधिक किशोरों की संख्या है। स्पेन आने वाले कुल लोगों में किशोरों की संख्या 75 प्रतिशत है। न का दावा है कि इनमें से आधे प्रवासियों को वापस मोरक्को भेज दिया गया है । एक रिपोर्ट में कहा गया कि समुद्र के रास्ते प्रवेश करने की कोशिश कर रहे लोगों की संख्या में कमी आई है। कुछ प्रवासी स्वेच्छा से मोरक्को लौट रहे हैं जबकि अन्य को सैनिकों द्वारा ले जाते हुए देखा जा सकता है।