चिल्लाकर पढ़ाती थी टीचर, प्रबंधन ने नौकरी से निकाला, तो कोर्ट ने सुनाया एक करोड़ मुआवजा देने फैसला

ब्रिटेन की एक यूनिवर्सिटी में पढ़ाने वाली महिला टीचर के खिलाफ प्रबंधन ने फैसला लेते हुए उसे नौकरी से निकाल दिया गया। उसे कारण बताया गया कि वह बहुत ही चिल्लाकर पढ़ाती है इसलिए उसे नौकरी से निकाल दिया गया है। इसके बाद महिला टीचर कोर्ट पहुंच गई।

: , January 24, 2022 / 11:26 AM IST

teach by shouting

लंदन। ब्रिटेन की एक यूनिवर्सिटी में पढ़ाने वाली महिला टीचर के खिलाफ प्रबंधन ने फैसला लेते हुए उसे नौकरी से निकाल दिया गया। उसे कारण बताया गया कि वह बहुत ही चिल्लाकर पढ़ाती है इसलिए उसे नौकरी से निकाल दिया गया है। इसके बाद महिला टीचर कोर्ट पहुंच गई।

रिपोर्ट के मुताबिक यह महिला न्यूयॉर्क और जर्मनी में भी पढ़ा चुकी है, लेकिन कभी ऐसी शिकायत उनके खिलाफ नहीं आई। महिला ने कहा कि हाल ही में वे तनाव से निपटने की दवाएं ले रही थीं क्योंकि उन्हें पहले भी दो बार सस्पेंड किया जा चुका था। उनका कहना है उन्हें इसकी वजह से तनाव और डिप्रेशन हुआ था। उसे हर हाल में अपनी नौकरी वापस चाहिए।

read more: शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 200 अंक से अधिक गिरा, निफ्टी 17,600 के नीचे

दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद कोर्ट ने फैसला दिया कि यूनिवर्सिटी प्रशासन द्वारा महिला को एक करोड़ रुपये का मुआवजा दिया जाए। कोर्ट ने इस मामले में यूनिवर्सिटी को फटकार भी लगाई है। फिलहाल महिला टीचर इन दिनों ब्रिटेन में चर्चा का विषय बनी हुई है। लोग इस मामले में प्रतिक्रिया भी दे रहे हैं, कुछ लोगों ने कोर्ट के फैसले का स्वागत भी किया है।

read more: काबू में नहीं आ रहा कोरोना, पिछले 24 घंटे में मिले 3 लाख 6 हजार से ज्यादा नए मरीज, 439 की मौत

दरअसल, यह घटना ब्रिटेन की एक्सेटर यूनिवर्सिटी की है। द मिरर की एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस महिला टीचर का नाम नाम एनेट प्लॉट है। 59 साल की यह टीचर पिछले 29 साल से फिजिक्स पढ़ाती थी। लेकिन अचानक ही उसे नौकरी से निकाल दिया गया और यह तर्क दिया गया कि उसकी आवाज काफी तेज है और नए छात्रों को यह महिला पसंद नहीं आ रही है।

read more: काबू में नहीं आ रहा कोरोना, पिछले 24 घंटे में मिले 3 लाख 6 हजार से ज्यादा नए मरीज, 439 की मौत