Bhanupratappur BJP candidate Brahmanand Netam in Police custody

Brahmanand Netam: ब्रम्हानंद नेताम की हिरासत को लेकर गरमाई छत्तीसगढ़ की सियासत, बृजमोहन ने भरी हुंकार, हाराडुला गांव पहुंचे

Edited By: , December 5, 2022 / 06:08 PM IST

कांकेर। Bhanupratappur BJP candidate Brahmanand Netam in Police custody: भानुप्रतापपुर बीजेपी प्रत्याशी ब्रम्हानंद नेताम को लेकर छत्तीसगढ़ की सियासत गरमाई हुई है। इस मामले में ने तूल पकड़ लिया है। आज भानुप्रतापुर उपचुनाव के लिए वोटिंग खत्म होने के तुरंत बाद झारखंड पुलिस मौके पर पहुंच गई। नेताम को हिरासत में लिया है। मौके पर मौजूद बीजेपी कार्यकर्ताओं ने हिरासत में लेने का भारी विरोध किया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने पुलिस का रास्ता रोका। पुलिस और कार्यकर्ताओं में बीच जमकर झूमाझटकी हुई।

पुलिस नेताम को कांकेर लेकर जा रही थी, लेकिन कार्यकर्ताओं ने नेताम को गाड़ी से उतार लिया। दूसरी तरफ नेताम के हिरासत की खबर फैलते ही बीजेपी के दिग्गज नेता बृजमोहन अग्रवाल हाराडुला गांव पहुंचे। बृजमोहन ने कहा कि झारखंड हाईकोर्ट ने नेताम की गिरफ्तारी पर रोक लगाई है। BJP ने HC की आदेश कापी पुलिस को सौंपी है।

Bhanupratappur  by poll 2022 : बता दें कि इसके पहले यह खबर आयी थी कि हाईकोर्ट से उन्हे राहत मिली है, रेप के मामले में झारखण्ड हाईकोर्ट ने उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। इसे भाजपा प्रत्याशी ब्रह्मानंद नेताम की जीत माना जा रहा था। उन्होंने अपने बयान में कहा है कि सत्य की हमेशा जीत होती है, जिस प्रकार से बेवजह का आरोप कांग्रेस ने उनपर लगाया था, उससे कोर्ट ने भी उन्हे राहत दी है।

भाजपा प्रत्याशी ब्रह्मानंद नेताम ने कहा कि वे कभी सपने में भी नहीं सोच सकते थे कि विरोधी पार्टी के लोग इस प्रकार का गंदा आरोप चुनाव जीतने के लिए लगाएंगे। बता दें कि आप भानुप्रतापुर में मतदान किया जा रहा है वहीं मतदान के दिन ही इस प्रकार की गुड न्यूज भाजपा प्रत्याशी ब्रह्मानंद नेताम को मिली है।

read more: Lalu Yadav Kidney Transplant : ICU में शिफ्ट किए पूर्व सीएम, ऑपरेशन के बाद ये वीडियो आया सामने

Bhanupratappur BJP candidate Brahmanand Netam in Police custody: भानुप्रतापपुर उपचुनाव में दोपहर 3 बजे तक 64.86 प्रतिशत मतदान हुआ है, इसके साथ ही आज का मतदान भी खत्म हो गया है, नए लोगों का प्रवेश मतदान केंद्रों में बंद कर दिया गया है, जो लोग लाइन में हैं अब वे ही वोट डाल पाएंगे। नए लोगों को मौका नहीं मिलेगा। जाहिर है ​कि मतदान का प्रतिशत अभी और बढ़ सकता है।