Big Breaking टटोला जा रहा छत्तीसगढ़ भाजपा के सक्रिय ओबीसी विधायकों का प्रदर्शन

Edited By: , May 8, 2022 / 12:19 AM IST

CG BJP in Vidhansabha

BJP Performance in Vidhansabha

बरुण सखाजी. रायपुर

OBC face in Vidhansbha छत्तीसगढ़ में भाजपा में साल 2023 की तैयारियों को लेकर आंतरिक उठापटक जारी है। बीते दिनों दिल्ली में हुई कोर ग्रुप की बैठक में प्रमुख बिंदुओं पर बात की गई थी। इसमें से एक अहम बिंदु विधानसभा में  पार्टी की ओर से प्रतिनिधित्व भी रहा। पार्टी सूत्रों के अनुसार भाजपा सदन में ओबीसी फेस ही रखना चाहती है, लेकिन चेहरा बदल सकती है। फिलहाल में पार्टी के 4 ओबीसी चेहरे हैं। इनमें सबसे ज्यादा सदन का अनुभव रखने वाले, सबसे ज्यादा सवाल पूछने वाले, सबसे ज्यादा सक्रिय रहने वाले, सबसे ज्यादा मुद्दों को उछालने वाले जैसे कई क्राइटेरिया हैं। इनके आधार पर सदन में नेतृत्व पर विचार किया जा रहा है।

13 सत्रों में सबसे ज्यादा सक्रिय ओबीसी विधायक अजय चंद्राकर

OBC face in Vidhansbha पीआरएस के मुताबिक सदन में ओबीसी चेहरों की बात करें तो सबसे ज्यादा सवाल पूछने वाले ओबीसी नेता अजय चंद्राकर हैं। इन्होंने 195 सवाल सदन में दागे हैं। वहीं दूसरे नंबर धरमलाल कौशिक हैं। कौशिक ने 180 सवाल पूछे हैं, जबकि तीसरे ओबीसी नेता नारायण चंदेल ने 168 और चौथी ओबीसी फेस रंजना डिपेंद्र साहू ने 155 सवाल पूछे हैं। ओबीसी फेस में सदन में सबसे ज्यादा सवाल पूछने वाले सक्रिय विधायकों में अजय चंद्राकर हैं।

सबसे ज्यादा सवाल पूछने वाले सौरभ सिंह

PRS के आंकड़ों के मुताबिक छत्तीसगढ़ की 5वीं विधानसभा में 2019 में पहला सत्र हुआ था। 2022 अप्रैल तक यहां कुल 13 सत्र हुए हैं। इनमें मौजूदा नेताप्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने 180 सवाल पूछे हैं, जबकि भाजपा की ओर से सबसे ज्यादा सवाल पूछने वालों में अकलतरा के विधायक सौरभ सिंह शामिल हैं, जिन्होंने 206 सवाल पूछे हैं।

Read More: आजादी के 75 साल बाद भी बिजली और सड़क की बाट जोह रहे गरियाबंद जिले के कई गांव, नहीं पहुंच पाती एम्बुलेंस

विद्यारतन ने पूछे सिर्फ 32 सवाल

भाजपा के बाकी विधायकों ने भी सदन में सवालों की बौछार की है, लेकिन विद्यारतन भसीन ऐसे नेता हैं, जिन्होंने सिर्फ 32 ही सवाल किए हैं। भाजपा विधायकों की ओर से सबसे ज्यादा सवाल पूछने वालों में सौरभ सिंह 206 हैं, दूसरे नंबर अजय चंद्राकर 195, तीसरे नंबर धरमलाल कौशिक 180, चौथे नंबर ब्रजमोहन अग्रवाल, पांचवें नंबर पर 168 सवालों के साथ शिवरतन शर्मा और नारायण चंदेल एक साथ हैं। सवाल पूछने के मामले में छठे नंबर पर रंजना साहू 155, सातवें नंबर पुन्नूलाल मोहले हैं, जिन्होंने 114 सवाल पूछे हैं। आठवें नंबर बेलतरा के विधायक रजनीश सिंह 104 हैं, नवें पर पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह हैं, जिन्होंने सदन में 97 सवाल पूछे हैं। 10वें नंबर पर 84 सवालों के साथ कृष्णमूर्ति बांधी, 11वें नंबर पर 50 सवाल पूछने वाले ननकीराम कंवर, 12वें नबंर 37 सवाल पूछकर डमरूधर पुजारी हैं। जबकि 13वें नंबर पर सबसे कम सवाल पूछने वाले वैशाली से भाजपा विधायक विद्यारतन भसीन हैं, जिन्होंने सिर्फ 32 सवाल ही सदन में पूछे हैं।

सदन में सक्रियता पर गहन चर्चा

विधायकों के प्रदर्शन और बतौर नेता प्रतिपक्ष पार्टी की सदन में सक्रियता जैसे बिंदुओं को आधार बनाकर कोर ग्रुप में चर्चा की गई है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक पार्टी 2023 के चुनावों को हल्के से नहीं लेना चाहती। इस कमेटी में पार्टी संगठन, सदन में नेतृत्व, मोदी ही चेहरा, टिकट कटिंग और एक ही हाथ में सारी कमांड पर चर्चा की गई है।

Read More: महाराज की किलेबंदी…कामयाब होगी कांग्रेस? सिंधिया के प्रभाव को कम करने कांग्रेस ने दिग्विजय सिंह को दी चंबल अंचल की जिम्मेदारी