छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण थमा है, खत्म नहीं हुआ, बचाव के लिए सावधानी और टीका ही एकमात्र हथियार: सीएम बघेल | Corona infection has stopped in Chhattisgarh, is not over, caution and vaccine are the only weapons for rescue: CM Baghel

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण थमा है, खत्म नहीं हुआ, बचाव के लिए सावधानी और टीका ही एकमात्र हथियार: सीएम बघेल

छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण थमा है, खत्म नहीं हुआ, बचाव के लिए सावधानी और टीका ही एकमात्र हथियार: सीएम बघेल

: , May 25, 2021 / 03:53 PM IST

रायपुर: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य में कोरोना संक्रमण की वर्तमान स्थिति के संबंध में प्रदेशवासियों को संबोधित करते हुए कहा है कि इससे बचाव के लिए अभी भी हमें सतर्क रहने और सावधानी बरतने की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर का प्रकोप अभी कम हुआ है। संक्रमण की रफ्तार में कमी आई है, परंतु यह पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है। इस बात का हम सबको भलीभांति ध्यान रखना है और कोरोना एप्रोप्रियेट बिहेवियर को छोड़ना नहीं है बल्कि इसको उस वक्त तक अपने दैनिक जीवन में अपनाएं रखना है, जब तक यह पूरी तरह खत्म न हो जाए।

Read More: छत्तीसगढ़ में सप्लाई हुई वैक्सीन बदली, पैसा लेने के बाद कंपनी ने वापस मांगी वैक्सीन, स्वास्थ्य मंत्री ने केंद्र सरकार का कु-प्रबंधन बताया

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि कोरोना से बचाव के लिए फिलहाल सावधानी बरतना और टीका ही एकमात्र हथियार है। टीका लगवाने में कोई खतरा नहीं है, बल्कि यह हमें भविष्य में होने वाले खतरे से बचायेगा। उन्होंने प्रदेश के नागरिकों को संबोधित करते हुए कहा कि यह समय सबसे अधिक सावधानी रखने का है। उन्होंने सभी पात्र लोगों से कोरोना से बचाव का टीका लगवाने की अपील की। बघेल ने कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण में सहयोग के लिए नागरिकों, जनप्रतिनिधियों, अधिकारियों-कर्मचारियों, सामाजिक संगठनों, स्वयं सेवी संस्थाओं और मीडिया को धन्यवाद दिया।

Read More: 24 मई को प्रदेश में कोरोना जांच का नया रिकॉर्ड, एक दिन में 74,584 सैंपलों की जांच, बीते सप्ताह प्रतिदिन औसत 66,272 सैंपलों की जांच

मुख्यमंत्री बघेल ने अपने संदेश में कहा कि- पिछले डेढ़ माह से हम सब कोरोना की दूसरी लहर की चुनौती का सामना कर रहे हैं। कोविड संक्रमण के खिलाफ यह लड़ाई कठिन थी, लेकिन हम सबने पूरी जिम्मेदारी से यह लड़ाई लड़ी। इस लड़ाई का कठिन समय अब गुजर चुका है और कोविड संक्रमण की स्थिति हमारे राज्य में अब काफी नियंत्रण में है। उन्होंने कहा कि एक समय हमारे राज्य में संक्रमण का आंकड़ा 17 हजार तक पहुंच गया था जो अब घटकर चार हजार के लगभग हो गया है। पॉजिटिविटी की दर भी अब घटकर 5 प्रतिशत के लगभग आ गयी है। कोरोना की किसी भी चुनौती से निपटने के लिए राज्य सरकार पूर्ण रूप से तैयार है। हमने इससे निपटने के लिए सभी आवश्यक संसाधन जुटा लिए हैं।

Read More: छत्तीसगढ़ के इस जिले में भी दुकानों को सशर्त खोलने की छूट, सुबह 7 से शाम 6 बजे तक खुलेंगी दुकानें

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड संक्रमण को नियंत्रण में लाने में बहुत सारे लोगों का कठिन परिश्रम और दिन-रात की मेहनत शामिल है। हमारे चिकित्सक, हमारे स्वास्थ्य कार्यकर्ता, हमारी नर्स, मितानिन बहनें, जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन और महिला बाल विकास विभाग के अधिकारी-कर्मचारी, नगरीय निकायों और पंचायती राज संस्थाओं के अधिकारी-कर्मचारी, सभी जनप्रतिनिधिगण, सफाईकर्मी भाई-बहन, स्वयंसेवी संस्थायें और आमजन तक सही जानकारी पहुंचाने में सहयोगी बने जनसंपर्क विभाग के अधिकारी और मीडिया के मित्रों का योगदान सराहनीय है।

Read More: रद्द होगी CBSE 12th Board Exams 2021? 300 छात्रों ने सुप्रीम कोर्ट को लिखकर की ये मांग

बघेल ने प्रदेश के नागरिकों से अपील की है कि यह समय सतर्क रहकर अपनी जिम्मेदारियां वहन करने का है। हम धीरे-धीरे लॉकडाउन की स्थिति से बाहर निकल कर पहले की भांति सामान्य कामकाज की और लौट रहे हैं। यह समय सबसे अधिक सावधानी रखने का है। इस समय हमें बिल्कुल भी लापरवाही नहीं करना है। हमें अपनी, अपने परिवार की और अपने राज्य के निवासियों की सुरक्षा का पूरा ध्यान रखना है। उन्होंने कहा कि आवश्यक होने पर ही घर से बाहर निकलें, घर से बाहर निकलते समय, ऑफिस, बाजार, फैक्ट्री, खेत, खलिहान की ओर जाते समय पूरी सुरक्षा और सावधानी रखें। घर से बाहर निकलते समय हमेशा मास्क पहनें और लोगों से एक निश्चित दूरी बनाये रखें। हाथों को बार-बार साबुन से या सैनिटाईजर के उपयोग से साफ करते रहें।

Read More: 5 जून तक बढ़ाया गया लॉकडाउन, कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस राज्य की सरकार ने लिया फैसला

मुख्यमंत्री ने लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करते हुए कहा कि कोरोना से सुरक्षित रहने और खुद को, और अपने परिवार को भविष्य की मुश्किलों से बचाने के लिए वैक्सीनेशन या टीकाकरण एकमात्र सहारा है। हम सबको इसे लगवाना है। हमारे शहरों और गांवों के लोग बड़े उत्साह के साथ टीका लगवा रहे हैं। जितनी जल्दी हम टीका लगवायेंगे उतनी जल्दी हम अपना भविष्य सुरक्षित करते जायेंगे। कुछ गांवो में टीके को लेकर लोगो के मन में डर या आशंका है। उन्होंने कहा कि मैं आपका मुख्यमंत्री आपको भरोसा दिलाता हूं कि टीका लगवाने से कोई खतरा नहीं है बल्कि यह आपको भविष्य में होने वाले खतरे से बचायेगा। इस समय कोरोना से बचाव के लिए हमारे पास टीका ही एकमात्र हथियार है। मैंने खुद जाकर टीका लगवाया है और अब मैं अपने आपको ज्यादा सुरक्षित महसूस कर रहा हूं। आप शीघ्र ही अपने निकट के टीकाकरण केन्द्र जायें और टीका लगवायें। मुख्यमंत्री ने लोगों को भरोसा दिलाया कि सभी लोगों के सहयोग से हम यह लड़ाई अवश्य जीतेंगे।

Read More: प्रदेश को अनलॉक करने के लिए आम जनता भी दे सकती है सुझाव, शासन ने जारी किया WhatsApp नम्बर और E-mail ID …देखें