1 crore compensation to farmer who lost his life during movement

Farmers Protest: आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसान को 1 करोड़ मुआवजा, बहन को सरकारी नौकरी, सीएम मान ने किया बड़ा ऐलान

Farmers Protest: खनौरी सीमा पर मारे गए किसान शुभकरण सिंह के परिवार के लिए पंजाब के सीएम भगवंत मान ने बड़ा ऐलान किया है।

Edited By :   Modified Date:  February 23, 2024 / 11:31 AM IST, Published Date : February 23, 2024/11:31 am IST

चंडीगढ़: Farmers Protest: खनौरी सीमा पर मारे गए किसान शुभकरण सिंह के परिवार के लिए पंजाब के सीएम भगवंत मान ने बड़ा ऐलान किया है। मुख्यमंत्री भगवंत मानखनौरी सीमा पर मारे गए किसान शुभकरण सिंह के परिवार को मुआवजे के तौर पर एक करोड़ रुपये और उसकी बहन को सरकारी नौकरी देने की घोषणा की है।

बता दें कि, पंजाब-हरियाणा सीमा पर खनौरी में बुधवार को झड़प में बठिंडा निवासी किसान शुभकरण सिंह की मौत हो गई थी और 12 पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। यह घटना तब हुई जब प्रदर्शन कर रहे कुछ किसानों ने अवरोधकों की ओर बढ़ने की कोशिश की थी।

यह भी पढ़ें : IPS Transfer 2024: इस राज्य में 24 IPS अफसरों का तबादला.. प्रदेश के 500 से ज्यादा अधिकारी-कर्मचारी भी इधर से उधर..

सीएम मान ने पोस्ट में कही ये बात

Farmers Protest:  सीएम मान ने एक पोस्ट में कहा, ‘‘खनौरी बॉर्डर पर किसान आंदोलन के दौरान शहीद हुए शुभकरण सिंह के परिवार को पंजाब सरकार की ओर से एक करोड़ रुपए की आर्थिक सहायता और उनकी छोटी बहन को सरकारी नौकरी दी जाएगी। दोषियों के खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई की जाएगी। फर्ज निभा रहे हैं।”

सीएम मान ने कहा कि शुभकरण सिंह की मौत के लिए जो भी पुलिसकर्मी जिम्मेदार होगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। शुभकरण यहां प्रचार के लिए नहीं आए थे, वह अपनी खेती की उपज का सही दाम मांगने आए थे। पंजाब सरकार किसानों के साथ खड़ी है। वे हमें राष्ट्रपति शासन की धमकी देने की कोशिश कर रहे हैं। मैं इन धमकियों से डरने वाला नहीं हूं, मैं और शुभकरण को मरने नहीं दूंगा। मेरी पोस्ट मेरे लिए कोई मायने नहीं रखती इसलिए धमकी देना बंद करें।

यह भी पढ़ें : Saraipali News: खेती किसानी के साथ ग्रामीण करते हैं संबलपुरी साड़ी बनाने का कार्य, साड़ी बनाने की कला से समाज में बनाई अलग पहचान 

कौन था किसान शुभकरण सिंह

Farmers Protest:  शुभकरण सिंह की उम्र 21 साल थी। वह दो बहनों का एकलौता भाई थे, जिनके पिता चरणजीत सिंह स्कूल वैन ड्राइवर हैं और मां की पहले ही मौत हो चुकी है। शुभकरण सिंह 2 साल जब दिल्ली में किसान आंदोलन हुआ तो उसमें भी किसान यूनियन की तरफ से शामिल हुआ थे। भारतीय किसान एकता सिद्धपुर यूनियन से ताल्लुक रखने वाला शुभकरण सिंह बीती 13 फरवरी को दिल्ली की तरफ किसानों के साथ कूच करते हुए खनौरी बॉर्डर पर पहुंचे थे। शुभकरण सिंह के पास खुद की साढे 3 एकड़ जमीन है। इसके अलावा उन्होंने कुछ जानवर भी पाले हुए थे। शुभकरण के पीछे अब उसके पिता , दादी और दो बहनें हैं।

IBC24 की अन्य बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Follow the IBC24 News channel on WhatsApp

 
Flowers