थमने लगी तीसरी लहर की रफ्तार.. 24 घंटे में 2.55 लाख केस.. 614 ने तोड़ा दम

देश में कोविड-19 के 2,55,874 नए मामले; उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटी

: , January 25, 2022 / 10:21 AM IST

नई दिल्ली, 25 जनवरी (भाषा) भारत में एक दिन में कोविड-19 के 2,55,874 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,97,99,202 हो गई। देश में लगातार पिछले पांच दिन से कोविड-19 के दैनिक मामले तीन लाख से अधिक सामने आ रहे थे।

पढ़ें- 7th pay commission: नए साल में कर्मचारियों का बढ़ा 3% DA, अंशदान में भी इजाफा, इस दिन बढ़कर आएगी सैलरी 

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से मंगलवार सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, देश में 614 और लोगों की संक्रमण से मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 4,90,462 हो गई। देश में अभी 22,36,842 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है, जो कुल मामलों का 5.62 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 12,493 कमी दर्ज की गयी। देश में मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 93.15 प्रतिशत है।

पढ़ें- स्कूल, आईटीआई, पॉलिटेक्निक कॉलेज, कोचिंग क्लासेस सहित 31 तक बंद रहेंगे सारे शैक्षणिक संस्थान..यूपी, उत्तराखंड के बाद इस राज्य ने लिया अहम फैसला

अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, संक्रमण की दैनिक दर 15.52 प्रतिशत और साप्ताहिक दर 17.17 प्रतिशत दर्ज की गई। देश में अभी तक कुल 3,70,71,898 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं और कोविड-19 से मृत्यु दर 1.23 प्रतिशत है। राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत अभी तक कोविड-19 रोधी टीकों की 162.92 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं।

पढ़ें- आजादी के 75 साल बाद पहली बार घोड़ी पर बैठा दलित दूल्हा.. एसपी ने किया बारात का स्वागत

देश में सात अगस्त 2020 को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त 2020 को 30 लाख और पांच सितंबर 2020 को 40 लाख से अधिक हो गई थी। संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर 2020 को 50 लाख, 28 सितंबर 2020 को 60 लाख, 11 अक्टूबर 2020 को 70 लाख, 29 अक्टूबर 2020 को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख के पार चले गए थे।

पढ़ें- ऐसे बने टीम इंडिया की ‘दीवार’.. बचपन में पिता ने गली क्रिकेट तक नहीं खेलने दिया था

देश में 19 दिसंबर 2020 को ये मामले एक करोड़ के पार हो गए थे। पिछले साल चार मई को संक्रमितों की संख्या दो करोड़ के पार और 23 जून 2021 को तीन करोड़ के पार पहुंच गई थी।