अफजल गुरु के बेटे गालिब को मेडिकल पढ़ाई के लिए चाहिए पासपोर्ट ,सेना के जवानों ने दिया भरपूर सहयोग

अफजल गुरु के बेटे गालिब को मेडिकल पढ़ाई के लिए चाहिए पासपोर्ट ,सेना के जवानों ने दिया भरपूर सहयोग

Edited By: , March 9, 2021 / 10:18 PM IST

दिल्ली। आतंकी अफजल गुरु का बेटा गालिब गुरु अब 18 साल का हो चूका है। और उसे भारत सरकार की तरफ से बनने वाला आधार कार्ड भी प्रदान किया जा चूका है। इसके बाद गालिब गुरु भारत सरकार से पासपोर्ट की डिमांड कर रहा है। उसका कहना है कि अगर मुझे पासपोर्ट मिल जाता है, तो मैं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पढ़ाई पूरी कर सकूंगा। और मेडिकल छात्रवृत्ति भी ले पाऊंगा।

<blockquote class=”twitter-tweet”><p lang=”hi” dir=”ltr”>संसद हमले के दोषी अफजल गुरु के बेटे ने कहा, मैं अपील करता हूं कि मुझे पासपोर्ट दिया जाए… मेरे पास आधार कार्ड भी है। अगर मुझे पासपोर्ट मिल जाता है, तो मैं अंतरराष्ट्रीय मेडिकल स्पॉन्सरशिप हासिल कर सकता हूं। <a href=”https://t.co/R9aDHfQeNv”>pic.twitter.com/R9aDHfQeNv</a></p>&mdash; IBC24 (@IBC24News) <a href=”https://twitter.com/IBC24News/status/1102846113487380482?ref_src=twsrc%5Etfw”>March 5, 2019</a></blockquote> <script async src=”https://platform.twitter.com/widgets.js” charset=”utf-8″></script>

ये भी पढ़ें-दिग्गी के बयान से एक बार फिर गरमाई सियासत, पूर्व मुख्यमंत्री 

संसद में हुए हमले के मास्टरमाइंड अफजल गुरू के बेटे गालिब आधार कार्ड मिलने पर गर्व महसूस कर रहे हैं। ग़ालिब का कहना है कि अब कम से कम मेरे पास दिखाने के लिए एक कार्ड तो है। मैं बहुत खुश हूं।

<blockquote class=”twitter-tweet”><p lang=”en” dir=”ltr”><a href=”https://twitter.com/hashtag/WATCH?src=hash&amp;ref_src=twsrc%5Etfw”>#WATCH</a> Afzal Guru&#39;s (who was executed in 2013 for his role in 2001 Parliament attack) son Ghalib Guru says, &quot;I appeal that I should get a passport. I also have an Aadhaar card. If I get a passport, I can avail international medical scholarship.&quot; <a href=”https://t.co/jJZSVht8k8″>pic.twitter.com/jJZSVht8k8</a></p>&mdash; ANI (@ANI) <a href=”https://twitter.com/ANI/status/1102837221802037248?ref_src=twsrc%5Etfw”>March 5, 2019</a></blockquote> <script async src=”https://platform.twitter.com/widgets.js” charset=”utf-8″></script>

बता दें कि गुलशनाबाद की पहाड़ियों में ग़ालिब अपने नाना नानी के साथ रहते हैं। और इस वक्त वे मई माह में होने वाली मेडिकल की नीट परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं। वह भारत के मेडिकल कॉलेज में पढ़ाई करना चाहते हैं लेकिन यदि ऐसा नहीं होता है तो उन्होंने विदेश में पढ़ने की इच्छा जाहिर की। इस दौरान ग़ालिब गुरु ने यह भी कहा कि मैं पिता का सपना पूरा करना चाहता हूं।मेरे पिता अपना मेडिकल कैरियर पूरा नहीं कर पाए थे वे शेर-ए-कश्मीर मेडिकल इंस्टीट्यूट के स्टूडेंट थे लेकिन उनकी किस्मत उन्हें कहीं और ले गई। हम अतीत की गलतियों से सीखते हैं। इसी वजह से सुरक्षा बल के लोग भी मुझे आगे पढ़ने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।

ये भी पढ़ें –एटीएम से पैसे नहीं निकलने से नाराज जवान ने तोड़ा स्क्रीन, आरोपी हिरासत में