अनिल अंबानी पर लगे 1.50 लाख करोड़ गबन करने के आरोप, की गई CBI जांच की मांग

अनिल धीरूभाई अंबानी सहित अन्य लोगों के खिलाफ बुलंदशहर के जहांगीराबाद थाने में 1.50 लाख करोड़ के घोटाले के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है

Edited By: , June 24, 2022 / 01:39 PM IST

प्रयागराज। इलाहाबाद हाईकोर्ट में आपराधिक याचिका दाखिल कर उद्योगपति अनिल धीरूभाई अंबानी और उनके ​परिवार एवं कंपनी सहित अन्य लोगों के खिलाफ बुलंदशहर के जहांगीराबाद थाने में 1.50 लाख करोड़ के घोटाले के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है, साथ ही सीबीआई से जांच कराने की मांग की गई। इस मामले को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट में आपराधिक याचिका दायर की गई। हालांकि एफआईआर 16 मई 2022 को दर्ज की गई थी। जिसकी सुनवाई  29 जून को तय की गई है।

यह भी पढ़ें :डेमोक्रेटिक सांसद इल्हान उमर ने प्रतिनिधि सभा में पेश किया भारत ​के खिलाफ प्रस्ताव, मुस्लिम समूह IAMS ने की सराहना

धीरूभाई अंबानी इस गंभीर धोखधड़ी में विजय माल्या से दस गुना तेज आगे निकल गए हैं। याचिका दायर के बाद इलाहाबाद हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति डॉ. कौशल जयेंद्र ठाकर तथा न्यायमूर्ति गौतम चौधरी की खंडपीठ के समक्ष स्वतंत्र पत्रकार पवन कुमार की याचिका की सुनवाई होनी थी, लेकिन समय की कमी के कारण नहीं हो सकी। सेबी ने जांच की और रिलायंस होम फाइनेंस कंपनी को फ्रॉड घोषित किया है साथ ही  इस पर 1514 करोड़ बैंक और 570 करोड़ लेनदारों के पैसे का भी घोटाला करने का आरोप लगाया गया है।

यह भी पढ़ें :फिर घनघनाएंगे सरकारी कर्मचारियों के मोबाइल, इस दिन जारी होगी बकाया DA एरियर की राशि

इलाहाबाद हाईकोर्ट में आपराधिक याचिका दाखिल कर उद्योगपति अनिल धीरूभाई अंबानी, उनकी पत्नी टीना अंबानी सहित परिवार व कंपनी के अन्य लोगों के खिलाफ सीबीआई जांच की मांग की गई है। अंबानी के खिलाफ बुलंदशहर के जहांगीराबाद थाने में एक लाख पचास हजार करोड़ रुपये के घपले के आरोप में एफआईआर दर्ज कराई गई है। 16 मई 2022 को दर्ज केस की सीबीआई से जांच कराने की मांग की गई है। मामले में 29 जून को सुनवाई होगी।