BJP may form government in Maharashtra on July 1

महाराष्ट्र में 1 जुलाई को सरकार बना सकती है भाजपा, जल्द ही राज्यपाल के पास पेश कर सकते हैं दावा

BJP may form government in Maharashtra on July 1

Edited By: , June 30, 2022 / 11:57 AM IST

BJP in Maharashtra – मुंबईः शिवसेना में बड़ी बगावत के बाद सीएम उद्धव ठाकरे ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उद्धव ठाकरे के इस्तीफे के बाद भाजपा विधायकों के खेमें में अब जश्न का माहौल है। राज्य बीजेपी के शीर्ष नेताओं ने मिठाई बांटकर खुशी जताई है। बताया जा रहा है कि जल्द ही फडणवीस राज्यपाल से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश कर सकते हैं। सूत्रों के मिली जानकारी के मुताबिक भाजपा एक जुलाई को सरकार का गठन कर सकती है। गौरतलब है कि राज्यपाल ने बुधवार को सरकार का फ्लोर टेस्ट करने का दिया था। जिसके बाद महा विकास आघाडी (एमवीए) सरकार ने फ्लोर टेस्ट पर रोक लगाने की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। सुप्रीम कोर्ट के रोक लगाने के इंकार के बाद सीएम उद्धव ठाकरे ने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया।>>*IBC24 News Channel के WhatsApp  ग्रुप से जुड़ने के लिए Click करें*<<

Read more :  3 मासूम बेटियों के साथ महिला ने कुएं लगाई छलांग, वजह जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान 

उधर, ठाकरे के इस्तीफे पर एकनाथ शिंदे गुट का रिएक्शन सामने आया है। शिंदे गुट के बागी विधायक दीपक केसरकर ने कहा कि उद्धव ठाकरे का इस्तीफा अच्छी बात नहीं है। हालांकि, वो इस्तीफा देना चाहते थे, लेकिन शरद पवार उन्हें ऐसा करने से रोक रहे थे। सुप्रीम कोर्ट ने फ्लोर टेस्ट की अनुमति दे दी तो उद्धव ठाकरे ने इस्तीफा दिया है। हम आगे की रणनीति तय करेंगे।

Read more : बागियों को मनाने में फेल हुई BJP और कांग्रेस, 6 निगमों में 7 बागी प्रत्याशी मैदान में, बढ़ी दोनों पार्टियों की टेंशन 

मुंबई पहुंचेंगे शिवसेना के बागी विधायक, अलर्ट पर पुलिस

एकनाथ शिंदे गुट के विधायक अभी गोवा में है। आज सुबह विधायकों के मुंबई आने का सिलसिला शुरू हो जाएगा। इसे लेकर मुंबई पुलिस अलर्ट पर है। पुलिस को आशंका है कि उद्धव ठाकरे के इस्तीफे के बाद शिव सैनिक बागी विधायकों के खिलाफ प्रदर्शन कर सकते हैं, ऐसे में किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए पुलिस को अलर्ट पर है।

Read more : भूलकर भी न लें उधार न लें ये पांच चीजें, बन सकती हैं बैड लक की वजह, करना पड़ता है मुसीबतों का सामना 

बगावत के बाद अल्पमत में आई थी सरकार!

इससे पहले शिवसेना के विधायकों के बगावत के बाद महाविकास अघाड़ी का सरकार का गिरना तय माना जा रहा था। क्योंकि एकनाथ शिंदे के साथ शिवसेना के करीब 40 विधायक अलग होकर जा चुके थे और करीब 10 निर्दलीय विधायकों का भी उनको समर्थन मिल रहा था। ऐसे में सरकार अल्पमत में आ ही जाती। इन सब के बीच जब फडणवीस ने राज्यपाल से मिलकर जब फ्लोरटेस्ट कि मांग की जिसकी सहमति भी मिल गई थी।

 

#HarGharTiranga