देश में 23 जनवरी को पीक पर होगा कोरोना? 7 लाख से ज्यादा मामले आ सकते हैं सामने.. IIT प्रोफेसर का बड़ा दावा

देश में 23 जनवरी को पीक पर होगा कोरोना? 7 लाख से ज्यादा मामले आ सकते हैं सामने.. IIT प्रोफेसर का बड़ा दावा

: , January 18, 2022 / 12:21 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना  के बढ़ते मामलों को लेकर एक सवाल सामने आ रहा है कि जनवरी के अंत में कोरोना के चरम पर पहुंचने की जो बात जो विशेषज्ञ कर रहे थे, क्या उनका अनुमान गलत था? नए आंकलनों की मानें, तो भारत में कोविड-19 का चरम अब आगामी 23 जनवरी को आ सकता है। कहा जा रहा है कि इस दौरान देश में 7 लाख से अधिक मामले आने की संभावना है।

पढ़ें- ये क्या.. बलि के दौरान काट दी बकरे को पकड़ने वाले की गर्दन, धड़ से अलग कर दिया सिर

भारत में एक दिन में कोविड-19 के 2,58,089 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,73,80,253 हो गई. संक्रमण के कुल मामलों में कोरोना वायरस के ‘ओमिक्रॉन’ स्वरूप के 8,209 मामले भी शामिल हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सोमवार को सुबह आठ बजे जारी किए गए अपडेट आंकड़ों के अनुसार, देश में 29 राज्यों तथा केन्द्र शासित प्रदेशों में अभी तक कोरोना वायरस के ‘ओमिक्रॉन’ स्वरूप के 8,209 मामले सामने आए हैं. इनमें से 3,109 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं या अन्य स्थानों पर चले गए हैं।

पढ़ें- 2500 से ज्यादा आईटीआई इंस्ट्रक्टर की भर्ती.. 35,400- 1,12,400 रुपए प्रति माह सैलरी.. आवेदन आज से शुरू.. ऐसे करें रजिस्ट्रेशन 

आंकड़ों के अनुसार, संक्रमण की दैनिक दर 19.65 प्रतिशत और साप्ताहिक दर 14.41 प्रतिशत दर्ज की गई। देश में अभी तक कुल 3,52,37,461 लोग संक्रमणमुक्त हो चुके हैं और कोविड-19 से मृत्यु दर 1.30 प्रतिशत है, जबकि मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 94.27 प्रतिशत है।

पढ़ें- मेस्सी, सालाह को पछाड़कर लेवांडोवस्की ने जीता फीफा के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी का पुरस्कार

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि ‘ओमिक्रॉन’ के महाराष्ट्र में सबसे अधिक 1,738 मामले सामने आए, इसके बाद पश्चिम बंगाल में 1,672, राजस्थान में 1,276, दिल्ली में 549, कर्नाटक में 548 और केरल में 536 मामले सामने आए हैं। विशेषज्ञों के अनुसार, हरेक संक्रमित के नमूनों का जीनोम अनुक्रमण मुमकिन नहीं है, लेकिन इस मौजूदा लहर में अधिकतर मामले ‘ओमिक्रॉन’ के ही हैं।

पढ़ें- नए शैक्षणिक सत्र में सरकारी स्कूलों में अंग्रेजी में भी होगी पढ़ाई.. यहां के लिए आदेश

IIT कानपुर ने कोरोना के चरम को लेकर किया दावा
आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर मणीन्द्र अग्रवाल ने बताया कि फरवरी के अंत तक भारत में कोविड-19 की मौजूदा लहर लगभग खत्म हो जाएगी।आईआईटी कानपुर के ‘सूत्र’ मॉडल की मानें तो जनवरी के आखिरी हफ्ते में देश में कोरोना संक्रमण का अपने चरम पर होगी।