भाजपा से निष्कासन के बाद कांग्रेस में शामिल हुए पूर्व मंत्री हरक सिंह रावत, भाजपा के लिए बन सकते हैं चुनौती

भाजपा से निष्कासन के बाद कांग्रेस में शामिल हुए पूर्व मंत्री हरक सिंह रावत! Fomrer Minister Harak Singh Rawat joined Congress

: , January 21, 2022 / 05:21 PM IST

नयी दिल्ली: Harak Singh Rawat  उत्तराखंड विधानसभा चुनाव से कुछ दिनों पहले पूर्व मंत्री हरक सिंह रावत शुक्रवार को कांग्रेस में शामिल हो गए। इससे कुछ दिन पूर्व उन्हें भाजपा से निष्कासित किया गया था। कांग्रेस के सूत्रों ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, प्रदेश स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष अविनाश पांडे, प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गणेश गोदियाल, प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव, विधायक दल के नेता प्रीतम सिंह और कुछ अन्य नेताओं की मौजूदगी में हरक सिंह रावत पार्टी में शामिल हुए।

Read More: पूरे प्रदेश में हटाया गया वीकेंड लॉकडाउन, लेकिन जारी रहेगी ये पाबंदी, संक्रमितों के आंकड़ों में कमी आने के बाद इस राज्य की सरकार ने लिया फैसला

Harak Singh Rawat  सूत्रों के अनुसार हरक सिंह रावत के साथ उनकी पुत्रवधू अनुकृति भी कांग्रेस में शामिल हुईं। पिछले दिनों हरक सिंह रावत को उत्तराखंड सरकार से बर्खास्त और भाजपा से निष्कासित कर दिया गया था। कई दिनों की चर्चा और बैठकों के बाद कांग्रेस ने हरक सिंह रावत को विधानसभा चुनाव से पहले साथ लेने का फैसला किया। सूत्रों ने बताया, ‘‘कांग्रेस आलाकमान से हरी झंडी मिलने के बाद रावत पार्टी में शामिल हुए हैं। उन्हें या उनकी पुत्रवधू अथवा किसी समर्थक को टिकट देने के संदर्भ में कोई फैसला अभी नहीं हुआ है। लेकिन जल्द ही फैसला हो जाएगा।’’

Read More: पुलिसकर्मियों की छुट्टियों के आवेदन के लिए मोबाइल ऐप लांच, यहां अब नहीं लगाना पड़ेगा अधिकारियों के चक्कर

सूत्रों का कहना है कि हरीश रावत 2016 के राजनीतिक घटनाक्रम के चलते इस पक्ष में नहीं थे कि हरक सिंह रावत फिर से पार्टी में लिया जाए, लेकिन प्रदेश के कई अन्य वरिष्ठ नेताओं की पैरवी और आलाकमान की सहमति मिलने के बाद उन्होंने अपनी रजामंदी दी। पौड़ी गढ़वाल जिले की कोटद्वार विधानसभा सीट से विधायक हरक सिंह रावत पहले कई वर्षों तक कांग्रेस में थे। पिछले विधानसभा चुनाव से कुछ महीने पहले विजय बहुगुणा और हरक सिंह रावत समेत कई कांग्रेस नेताओं ने बगावत कर दी थी जिससे तत्कालीन हरीश रावत सरकार संकट में आ गई थी। फिर विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा।

Read More: जिनके दादा-दादी मोटे होते हैं, उन बच्चों में मोटापा का खतरा ज्यादा,  इन बीमरियों से हो सकतें हैं ग्रसित, शोध में हुआ खुलासा

इस घटनाक्रम को लेकर हरक सिंह रावत पिछले दिनों माफी मांगी थी और कहा था कि हरीश रावत उनके ‘‘बड़े भाई हैं और (वह)उनसे 100 बार माफी मांगने को तैयार हैं।’’ उत्तराखंड की सभी 70 विधानसभा सीटों के लिए 14 फरवरी को मतदान होगा। 10 मार्च को मतगणना होगी।

Read More: कौन होगा UP में कांग्रेस का सीएम फेस? प्रियंका गांधी ने दिए संकेत, जानिए किस नेता पर पार्टी खेलेगी दांव