देश में भीषण गर्मी का कहर, 37 शहरों में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से अधिक रहा |

देश में भीषण गर्मी का कहर, 37 शहरों में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से अधिक रहा

देश में भीषण गर्मी का कहर, 37 शहरों में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से अधिक रहा

:   Modified Date:  May 26, 2024 / 11:38 PM IST, Published Date : May 26, 2024/11:38 pm IST

(तस्वीरों के साथ)

नयी दिल्ली, 26 मई (भाषा) देश के बड़े हिस्से में रविवार को भीषण गर्मी का कहर देखने को मिला और 37 शहरों में तापमान 45 डिग्री सेल्सियस से अधिक दर्ज किया गया।

महाराष्ट्र के अकोला में लू की आशंका को देखते हुए जिलाधिकारी अजीत कुंभार ने 31 मई तक दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 लागू कर दी।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) द्वारा राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पश्चिम उत्तर प्रदेश और गुजरात के लिए ‘रेड अलर्ट’ जारी किया गया।

राजस्थान का फलौदी लगातार दूसरे दिन देश का सबसे गर्म स्थान रहा जहां अधिकतम तापमान 49.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। एक दिन पहले शहर का तापमान 50 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था।

आधिकारिक आंकड़ों से पता चला है कि पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में कम से कम 37 स्थानों पर रविवार को अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस या उससे अधिक दर्ज किया गया।

यहां तक कि हिमाचल प्रदेश की पहाड़ियां भी तेज तापमान की चपेट में है। शिमला में 30.6 डिग्री सेल्सियस के साथ इस मौसम का सबसे गर्म दिन रहा, जबकि ऊना में 44.4 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया।

दिल्ली में कम से कम आठ स्थानों पर अधिकतम तापमान 46 डिग्री सेल्सियस से ऊपर दर्ज किया गया जिसमें मुंगेशपुर और नजफगढ़ में क्रमशः 48.3 डिग्री सेल्सियस और 48.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हरियाणा के नारनौल में तापमान 47 डिग्री सेल्सियस और पंजाब के फरीदकोट में 47.4 डिग्री सेल्सियस रहा।

चिलचिलाती गर्मी के कारण महाराष्ट्र के अकोला में प्रशासन ने सार्वजनिक समारोहों पर रोक लगाते हुए 31 मई तक दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 (निषेधाज्ञा) लागू कर दी।

जिलाधिकारी ने प्रतिष्ठानों को श्रमिकों के लिए पीने के पानी और पंखों की पर्याप्त व्यवस्था करने का आदेश दिया। उन्होंने निजी कोचिंग कक्षाओं के समय में बदलाव करने और उन्हें दोपहर के दौरान आयोजित नहीं किए जाने का निर्देश दिया।

केंद्रीय जल आयोग के अनुसार भारत के 150 प्रमुख जलाशयों में पानी का भंडारण पिछले सप्ताह उनके कुल भंडारण का केवल 24 प्रतिशत रह गया जिससे कई राज्यों में पानी की कमी बढ़ गई और जलविद्युत उत्पादन पर काफी असर पड़ा।

भीषण गर्मी ने पहले ही भारत की बिजली की मांग को 239.96 गीगावाट तक पहुंचा दिया है, जो इस सीजन में अब तक की सबसे अधिक है। घरों और कार्यालयों में एयर कंडीशनर और कूलर पूरी क्षमता से चल रहे हैं।

विशेषज्ञों का अनुमान है कि आने वाले दिनों में कोई राहत मिलने की उम्मीद नहीं है तथा बिजली की मांग और भी बढ़ सकती है।

राजस्थान के बाड़मेर में तापमान 49 डिग्री सेल्सियस, बीकानेर में 48.6 डिग्री सेल्सियस और जैसलमेर में 48.5 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया।

स्थानीय लोगों के साथ बातचीत में राजस्थान के मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने कहा कि बिजली और पानी की निरंतर आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए चौबीसों घंटे निगरानी की जा रही है। बिजली, लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण और चिकित्सा विभाग के अधिकारियों तथा कर्मियों की छुट्टियां रद्द कर दी गयी हैं।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि राजस्थान और दिल्ली के कुछ हिस्सों में भीषण गर्मी पड़ी जबकि पंजाब, हरियाणा, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में लू का कहर रहा।

महाराष्ट्र के अकोला और यवतमाल में अधिकतम तापमान क्रमश: 45.2 डिग्री सेल्सियस और 46.6 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया जबकि मध्य प्रदेश के सागर में पारा 46.2 डिग्री सेल्सियस, गुना में 46.2 डिग्री सेल्सियस और खजुराहो में 46 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

हरियाणा और पंजाब भीषण गर्मी झेल रहे हैं जहां रविवार को अधिकतम तापमान सामान्य सीमा से ऊपर रहा।

हरियाणा के महेंद्रगढ़ में अधिकतम तापमान 47 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। रोहतक और हिसार में अधिकतम तापमान क्रमश: 46.7 डिग्री और 46 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

मौसम विभाग के अनुसार अंबाला में अधिकतम तापमान 44.8 डिग्री, करनाल में 43.7 डिग्री, सिरसा में 46.8 डिग्री दर्ज किया गया जबकि गुरुग्राम में तापमान 45.8 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया।

दोनों राज्यों की साझा राजधानी चंडीगढ़ में भी भीषण गर्मी रही, यहां अधिकतम तापमान 44.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

पंजाब में अमृतसर में अधिकतम तापमान 45.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

लुधियाना में अधिकतम तापमान 44.8 डिग्री दर्ज किया गया जबकि पटियाला में 45.7, पठानकोट में 44.5, बठिंडा में 45.2, फरीदकोट में 44 और गुरदासपुर में 44.5 डिग्री तापमान रहा।

मौसम कार्यालय ने कहा कि दिल्ली, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में 29 मई तक गर्मी का कहर जारी रहेगा।

आईएमडी के अनुसार अगले चार दिनों में उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और राजस्थान में रात में भी गर्मी लोगों को परेशान करती रहेगी।

भाषा

योगेश प्रशांत

प्रशांत

 

(इस खबर को IBC24 टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Flowers