TMC ने बांग्लादेशी महिला अलो रानी सरकार को भारतीय बताकर उतारा था चुनावी मैदान में, अब हाई कोर्ट ने सुनाया ये फैसला

TMC ने बांग्लादेशी महिला अलो रानी सरकार को भारतीय बताकर उतारा था चुनावी मैदान में! High Court declares TMC Candidate as Bangladeshi national

Edited By: , May 22, 2022 / 12:00 AM IST

कोलकाता: TMC Candidate as Bangladeshi  कलकत्ता उच्च न्यायालय ने अपने फैसले में कहा है कि बोगांव दक्षिण सीट से तृणमूल कांग्रेस की उम्मीदवार अलो रानी सरकार वर्ष 2021 के पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान बांग्लादेशी नागरिक थीं। वह भाजपा उम्मीदवार से चुनाव हार गई थीं। न्यायमूर्ति विवेक चौधरी ने 20 मई के अपने आदेश में कहा कि भाजपा उम्मीदवार स्वप्न मजूमदार की जीत को चुनौती देने वाली अलो रानी सरकार की चुनाव याचिका खारिज करने योग्य है क्योंकि याचिकाकर्ता भारतीय नागरिक नहीं है।

Read More: ‘कमलनाथ और दिग्विजय सिंह की वजह से ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस छोड़ा’ कैलाश विजयवर्गीय का बड़ा बयान

TMC Candidate as Bangladeshi  न्यायाधीश ने कहा कि अलो रानी सरकार ने उनके नाम पर जारी मतदाता कार्ड, पैन कार्ड, आधार कार्ड और पासपोर्ट प्राधिकरण द्वारा जारी पासपोर्ट के आधार पर भारत का नागरिक होने का दावा किया था। हालांकि, ये भारत की नागरिकता के दस्तावेज नहीं हैं और उन्होंने इसे नागरिकता अधिनियम, 1955 के प्रावधानों के अनुसार हासिल नहीं किया।

Read More: OBC आरक्षण को लेकर नहीं थम रही सियासत, एक ओर सीएम शिवराज का सम्मान तो दूसरी ओार प्रदेशव्यापी बंद

न्यायमूर्ति चौधरी ने कहा कि सरकार का यह दावा कि वह जन्म से भारत की नागरिक थीं, झूठा साबित हुआ है। उन्होंने कहा कि मौजूदा तारीख को भी यह स्पष्ट नहीं है कि बांग्लादेश की मतदाता सूची से उनका नाम हटा दिया गया है या नहीं। अलो रानी सरकार द्वारा जून, 2021 में चुनाव याचिका दायर करने के बाद मजूमदार ने एक आवेदन दायर किया था जिसमें कहा गया था कि याचिकाकर्ता एक विदेशी नागरिक है और उसके द्वारा दायर की गई अपील कानूनी रूप से सुनवाई योग्य नहीं है।

Read More: किसानों के खेत में हो रही तेल की खोज, ONGC का कर्मचारी बताकर किसानों को ठग रहे लोग