Muslims not to sacrifice cow on Bakrid: Islamic organisation

‘बकरीद पर न करें गाय की कुर्बानी…सनातन धर्म के लोग मानते हैं मां के समान’ इस्लामी संगठन ने किया आग्रह

असम में प्रमुख इस्लामी संगठन ने मुसलमानों से बकरीद पर गाय की कुर्बानी नहीं देने का आग्रह किया

Edited By: , July 4, 2022 / 01:47 PM IST

गुवाहाटी:  sacrifice cow on Bakrid प्रमुख इस्लामी संगठन जमीयत उलेमा की असम इकाई ने मुसलमानों से ईद-उज-अजहा या बकरीद पर गायों की कुर्बानी नहीं देने का आग्रह किया है, ताकि हिंदुओं की धार्मिक भावनाएं आहत न हों। संगठन की राज्य इकाई के प्रमुख बदरुद्दीन अजमल ने कहा कि कुर्बानी इस त्योहार का महत्वपूर्ण हिस्सा है, ऐसे में गायों के अलावा अन्य जानवरों की बलि दी जा सकती है।

Read More: Paracetamol का इससे ज्यादा कीमत नहीं ले सकेगा कोई भी मेडिकल वाला, NPPA तय किए 84 दवाइयों के दाम

sacrifice cow on Bakrid राजनीतिक दल ‘ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट’ (एआईयूडीएफ) के अध्यक्ष अजमल ने एक बयान में कहा, ‘‘हिंदुओं का सनातन धर्म गाय को मां मानता है और उसकी पूजा करता है। हमें उनकी धार्मिक भावनाओं को आहत नहीं करना चाहिए।’’ उन्होंने कहा कि इस्लामी मदरसे ‘दारुल उलूम देवबंद’ ने 2008 में एक सार्वजनिक अपील की थी कि बकरीद पर गाय की कुर्बानी न दी जाए और उसने यह बताया था कि इस बात का कोई उल्लेख या अनिवार्यता नहीं है कि गाय की ही बलि देनी होगी।

Read More: मध्य प्रदेश के निकाय चुनाव में हनुमान जी की एंट्री, बीजेपी ने क्यों जताई आपत्ती 

धुबरी के सांसद ने कहा, ‘‘मैं फिर से वही अपील दोहराता हूं और अपने साथियों से गाय के बजाय किसी अन्य जानवर की बलि देने का आग्रह करता हूं, ताकि देश की बहुसंख्यक आबादी की धार्मिक भावना को ठेस न पहुंचे।’’ अजमल ने कहा कि ईद-उज-अजहा के दौरान ऊंट, बकरी, गाय, भैंस और भेड़ जैसे अन्य जानवरों की बलि दी जा सकती है।

Rea dMore: आज से इतने दिनों तक बंद रहेंगी शराब दुकानें, कलेक्टर ने जारी किया निर्देश

उन्होंने कहा, ‘‘चूंकि अधिकतर लोग गाय को पवित्र मानते हैं, तो मैं लोगों से गाय की कुर्बानी नहीं देने और किसी अन्य जानवर की बलि देने का विनम्र आग्रह करता हूं।’’ बकरीद 10 जुलाई को मनाए जाने की संभावना है।

Read More: सीएम भूपेश ने दिए वन धन केंद्र डेवलप करने के निर्देश, कहा – आम लोगों के आय में वृद्धि करना हमारा उद्देश्य

 

#HarGharTiranga