NCP चीफ शरद पवार को मिली जान से मारने की धमकी, आरोपी ने कहा- बारामती के ‘गांधी’ के लिए ‘गोडसे’ तैयार करने का समय आ गया

आरोपी ने कहा- बारामती के ‘गांधी’ के लिए 'गोडसे' तैयार करने का समय आ गया! NCP chief Sharad Pawar received death threats

Edited By: , May 13, 2022 / 06:47 PM IST

मुंबई: Sharad Pawar received death threats महाराष्ट्र के सियासी गलियारों से एक बड़ी खबर सामने आई है। दरअसल दिग्गज नेता और एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार को जान से मारने की धमकी मिली है। बताया जा रहा है कि आरोपी ने सोशल मीडिया के जरिए धमकी दी है। शरद पवार को धमकी मिलने के बाद महाराष्ट्र की महा विकास अघाड़ी सरकार में हड़कंप मच गया हे।

Read More: दुनिया की पहली ग्रीन फ्लाइट ने भरी उड़ान, एक दिन में 10 हजार किलो कार्बन उत्सर्जन रोकने में मिलेगी मदद 

शरद पवार को मिली जान से मारने की धमकी

Sharad Pawar received death threats एनसीपी सुप्रीमो का जिक्र करते हुए मराठी में 11 मई की धमकी में कहा गया, “बारामती के ‘गांधी’ और बारामती के लिए नाथूराम गोडसे तैयार करने का समय आ गया है।” ट्वीट निखिल भामरे द्वारा पोस्ट किया गया था, जिसमें यह भी लिखा था, “बारामती अंकल, क्षमा करें।” हालांकि जिस संदर्भ में धमकियां जारी की गई, वह स्पष्ट नहीं है, लेकिन पिछले कुछ दिनों में इसे लाइक किया गया और कई लोगों द्वारा ट्वीट किया गया।

Read More: बाबा केदारनाथ धाम में अब नहीं होंगे VIP दर्शन, इस वजह से राज्य सरकार ने लिया फैसला 

नाथूराम तैयार करने का वक्त आ गया

राकांपा के आवास मंत्री जितेंद्र आव्हाड ने गंभीरता से संज्ञान लेते हुए इस बात पर खेद व्यक्त किया और पुलिस को धमकी देने वाले विक्षिप्त व्यक्ति के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने को कहा। उन्होंने महाराष्ट्र के पुलिस महानिदेशक और मुंबई, ठाणे और पुणे के पुलिस आयुक्तों का भी ध्यान आकर्षित किया।

Read More: विक्रमसिंघे 6वीं बार बने श्रीलंका के प्रधानमंत्री, पदभार संभालते ही विपक्ष ने किया सहयोग नहीं करने का ऐलान 

हर कोई जानता है कि गोडसे की पूजा कौन करता है’

शिवसेना की प्रवक्ता मनीषा कायंडे ने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि यह अनुमान लगाने की कोई जरूरत नहीं है कि पवार को मारने की धमकियों के पीछे कौन सी टीम है क्योंकि ‘हर कोई जानता है कि गोडसे की पूजा कौन करता है’, और गृह मंत्री दिलीप वालसे-पाटिल से गंभीरता से ध्यान देने का आग्रह किया।

Read More: तमिलनाडु के उच्च शिक्षा मंत्री बोले- ‘पानी-पुरी बेचते हैं हिंदी बोलने वाले…कहीं ज्यादा मूल्यवान भाषा है अंग्रेजी’