BJP से हटाए जाने पर फूट-फूटकर रोने लगे हरक सिंह रावत, बदला लेने की कसम भी खाई

Uttarakhand Election: BJP से हटाए जाने के बाद जब हरक सिंह रावत से इस पर सवाल पूछा गया तो वो फूट-फूट कर रोने लगे।

: , January 17, 2022 / 01:29 PM IST

देहरादून: Uttarakhand Election: BJP से हटाए जाने के बाद जब हरक सिंह रावत से इस पर सवाल पूछा गया तो वो फूट-फूट कर रोने लगे। इस दौरान बीजेपी के पूर्व नेता ने कहा कि वो इसका बदला लेंगे। न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए हरक सिंह रावत ने कहा कि कांग्रेस पार्टी उत्तराखंड में सरकार बनाएगी और वो कांग्रेस पार्टी के लिए काम करेंगे। इधर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि भाजपा से निकाले गए और राज्य मंत्रिमंडल से हटाए गए हरक सिंह रावत अपने परिवार के सदस्यों के लिए टिकट के लिए पार्टी पर दबाव बना रहे थे, हमारी नीति है, एक परिवार के केवल एक सदस्य को चुनाव के लिए पार्टी का टिकट देना।

ये भी पढ़ें: केएल राहुल को सौंपी जानी चाहिए भारत की टेस्ट कप्तानी की कमान : जगदाले

कांग्रेस में जाने के सवाल पर हरक सिंह रावत ने कहा, ”अभी मेरी कोई मुलाकात नहीं हुई है, लेकिन मैंने कहा ना… प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आ रही है। उसे कोई दुनिया की ताकत रोक नहीं सकती है। केदार बाबा के भक्‍त हैं मोदीजी, मैं भी कोई कम भक्‍त नहीं हूं। मोदी जी बाद में केदारनाथ गए हैं। मैंने केदार बाबा की सेवा की है, पूरी केदार घाटी की जनता जानती है मैंने कितनी सेवा की है। मैंने दिल से सेवा की है, मैं कोई दिखावे के लिए काम नहीं करता हूं। केदार बाबा का आशीर्वाद है। मैं शायद माध्‍यम बन रहा हूं। केदार बाबा मुझसे… बद्रीनाथ मुझसे… ईश्‍वर मुझको माध्‍यम बनाना चाहता है, इसलिए अच्‍छा होगा और कांग्रेस की सरकार प्रदेश में आ रही है और ये सुनिश्चित है।”

ये भी पढ़ें: चीन ने बीजिंग में संक्रमण का मामला आने के बाद वायररस रोधी कदमों को सख्त किया

हरक सिंह रावत ने कहा, ” इन्‍होंने मनगढ़ंत खबरों के आधार पर निर्णय ले लिया। अब क्‍या बोलेंगे, क्‍या ये बोलेंगे कि हमने हरक सिंह को काम नहीं करने दिया। हमने मेडिकल कॉलेज नहीं बनाने दिया। हमने रोजगार नहीं दिया लोगों को, हमने महंगाई कर दी, हममें कमियां ही कमियां है, ऐसा तो ये बोलेंगे ना। अरे जिनके घर शीशे के होते हैं, उनको पत्‍थर नहीं मारना चाहिए। मैं इन सबको समझता हूं, ऊपर से लेकर नीचे, सबको जानता हूं मैं । ऐसा है ना… हमाम में सब नंगे हैं। मैं बस इतना कहना चाहता हूं।

ये भी पढ़ें: जोकोविच की रवानगी के बाद फोकस आस्ट्रेलिया ओपन पर, नडाल और ओसाका जीते

बता दें कि हरक सिंह रावत पिछले दिनों से बगावती तेवर अपना रखे थे। वो अपने क्षेत्र में एक मेडिकल कॉलेज की मांग कर रहे थे, जिसके लिए सरकार से टकराव चल रहा था, इसी मुद्दे पर कुछ दिनों पहले खबर आई कि रावत ने इस्तीफा दे दिया है, हालांकि बाद में बीजेपी हाईकमान ने उन्हें मना लिया था। जिसके बाद रविवार को अचानक से भाजपा ने उन्हें पहले पार्टी से बाहर निकाल दिया, फिर उनसे मंंत्री पद भी छिन लिया गया।