On the lines of Special-26, he entered the company by telling himself to be

स्पेशल-26 की तर्ज पर खुद को पुलिस बताकर कंपनी में घुसे, फिर हुआ ऐसा….

Edited By: , August 15, 2022 / 04:44 PM IST

Looting conspiracy on the lines of Special-26 : नई दिल्ली- देश की राजधानी दिल्ली में चोरी करने का एक अनोखा मामला सामने आया है। जहां एक निलंबित इंजिनियर ने बदमाशों की गैंग बनाकर अपने एक परिचित की कंपनी का लूटने के लिए पहंचे। लूटपात की यह पूरी कहानी बॉलीवुड मूवी स्पेशल-26 की तर्ज पर रची गई थी। गैंग के सभी बदमाश छापेमारी के बहाने कंपनी के कर्मचारी को बंधक बनाकर लाखों रूपए, मोबाइल, लैपटॉप, और अन्य सामान लूटकर फरार हो गए। जिसके बाद पुलिस को सूचित किया गया और पूरी कहानी बताई। पूरी बात सुनने के बाद दिल्ली पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे की मदद से एक निलंबित इंजिनियर की पहचान की जिसके बाद पुलिस ने जाल बिछाते हुए सभी सातों बदमाशों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार बदमाश में 2 महिलाएं भी शामिल है।

read more : धार की दरार पर प्रदेश में गरमाई सियासत, कारम डैम का मुआयना करने जाएंगे पीसीसी चीफ कमलनाथ

पुलिस को बदमाशों के पास से मिला सामान

Looting conspiracy on the lines of Special-26 : स्पेशल-26 की तर्ज पर लूटपात की षड्यंत्र रचने वाले निलंबित अभियंता की पहचान कर ली गई है। इसके साथ ही अन्य सभी आरोपी की भी पहचान हो चुकी है। बदमाशों के कब्जे से पुलिस ने 4 लाख 5 हजार रूपए, बैंक खाते , 10 मोबाइल फोन, सिम कार्ड, मुंबई पुलिस के फर्जी पहचान पत्र और एटीएम कार्ड बरामद किए।

read more : ‘पिप्पा’ का धांसू टीजर OUT, आर्मी मैन की भूमिका में दिखे ईशान खट्टर, इस दिन रिलीज होगी फिल्म… 

भोपाल जेल में रची गई डकैती की साजिश

Looting conspiracy on the lines of Special-26 : जांच में पता चला कि प्रशांत कुमार केंद्र सरकार में कनिष्ठ अभियंता के पद पर कार्यरत था। फिलहाल वह निलंबित है। जनवरी 2022 में भोपाल पुलिस ने प्रशांत को लोगों को लोन दिलाने का झांसा देकर ठगी करने के आरोप में गिरफ्तार किया था। वह सुभाष प्लेस इलाके में फर्जी कॉल सेंटर चलाता था। जेल में उसकी मुलाकात ईरानी गैंग के बदमाश माजिद से हुई।

read more : कुछ इस तरह से ईरान ने भारत को दी स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं, देशभर में हो रही है चर्चा

Looting conspiracy on the lines of Special-26 : उत्तर पश्चिम जिला पुलिस उपायुक्त उषा रंगनानी ने बताया कि सुभाष प्लेस इलाके में वेलनेस कंपनी चलाने वाले विजय यादव ने 10 अगस्त को थाने पहुंचकर लूटपाट की शिकायत की। उन्होंने बताया कि वह अपने कर्मचारियों के साथ कार्यालय में मौजूद थे। दोपहर 12.30 बजे एक महिला समेत चार बदमाश कार्यालय में घुस गए और सभी कर्मचारियों के साथ मारपीट करने लगे। खुद को मुंबई पुलिसकर्मी और छापामारी की बात कहकर उन्हें पिस्टल के बल पर बंधक बना लिया और 20 लाख रुपये की मांग की। मालिक को गोली मारने की धमकी देकर पत्नी को फोन कर रुपये मंगवाने के लिए कहा। घर में रखे पांच लाख रुपये के अलावा कार्यालय में रखे 75 हजार रुपये और मौजूद कर्मचारियों के 45 हजार रुपये, 10 मोबाइल फोन, लैपटॉप लूटने के बाद बदमाश कमरे को बाहर से बंद कर फरार हो गए।

और भी लेटेस्ट और बड़ी खबरों के लिए यहां पर क्लिक करें