Pakistani Muslim is Your Brother or Not? Young Man Ask to MP Asaduddin Owaisi

आप पाकिस्तानी मुसलमान को भाई समझते हैं या नहीं? सवाल सुनने से पहले ही असदुद्दीन ओवैसी बोल पड़े- पूछिए बड़ा बे-गैरत हूं मैं

सवाल सुनने से पहले ही असदुद्दीन ओवैसी बोल पड़े- पूछिए बड़ा बे-गैरत हूं मैं! Man Ask to MP Asaduddin Owaisi

Edited By :   June 14, 2023 / 11:55 AM IST

नई दिल्ली: Man Ask to MP Asaduddin Owaisi  AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी अक्सर अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में बने रहते हैं। लेकिन कई बार वो ऐसा बयान दे देतें जो मीडिया की सुर्खियां बन जाती है। हाल ही में उन्होंने भोपाल में हुए लव जिहाद के मामले को लेकर भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि सांसद ने युवती को द केरला स्टोरी दिखाई और दूसरे दिन युवती मुस्लिम आशिक के साथ फरार हो गई। वहीं, अब सांसद ओवैसी का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में एक लड़के ने असदुद्दीन ओवैसी से पूछ ​लिया कि आप पाकिस्तानी मुसलमान को भाई समझते हैं या नहीं? आइए जानते हैं ओवैसी ने क्या जवाब दिया।

Read More: 27 जून को पीएम मोदी का मध्य प्रदेश दौरा, देंगे कई बड़ी सौगात, यहां देखें पूरा कार्यक्रम 

Man Ask to MP Asaduddin Owaisi  दरअसल, असदुद्दीन ओवैसी एक सभा को संबोधित कर रहे थे। इसी दौरान गैलरी में बैठे एक लड़के ने औवैसी से पूछा कि आप पाकिस्तानी मुसलमान को भाई समझते हैं या नहीं? इस सवाल को पूछने से पहले लड़के ने कहा कि शायद मेरे सवाल से कुछ लोगों को बुरा लग सकता है, सांसद महोदय को भी। इतना सुनते ही ओवैसे ने लड़के से कहा कि आप पूछ सकते हैं मैं बड़ा बेगैरत इंसान हूं।

Read More: 40 घंटे बाद भी सुलग रहा सतपुड़ा भवन, चौथे और 6वें फ्लोर से निकल रहा धुंआ, मौके पर पहुंची दमकल विभाग की टीम

वहीं, लड़के के सवाल को जवाब देते हुए असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि देखिए पाकिस्तान जब बना तो हमारे बुजुर्गो ने एक अलग देश बनाने की मांग की थी। कुछ लोक पाकिस्तान चले गए, लेकिन हम लोग नहीं गए। हमारा मानना ये था कि जिस जमीन पर हमारे बुजुर्गोंं ने अंग्रेजों से लड़ाई लड़कर आजादी दिलाई है। हमने अपने इस मुल्क को माना है और अब जो लोग गए हैं वो गए हैं और जो नहीं गए वो नहीं गए। जो रजाकार थे वो चले गए और जो वफादार थे वो रह गए।

Read More: 4 साल पुराने ब्लाइंड मर्डर का हुआ खुलासा, बेटे ने अपने ही पिता के साथ किया था ऐसा काम, जानकर कांप जाएगी रूह

उन्होंने आगे कहा कि भारत के एतराफ में जितने मुबालिक हैं उन सबसे हमारे तालुकात अच्छे होने चाहिए। लेकिन मुंबई में जो 26/11 को आतंकवादी हमले हुए थे, उसे कोई नकार नहीं सकता। मैं खुद निजामाबाद के परिवार को जानता हूं, जिसके यहां की बेटी की शादी को मात्र चार या पांच दिन हुए थे। शादी के बाद वो लोग मुंबई गए थे, दुल्हन के हाथों की मेंहदी भी नहीं उतरी थी और वीटी स्टेशन पर गोली लगकर मौत हो गई।

 

 

 

देश दुनिया की बड़ी खबरों के लिए यहां करें क्लिक